GLIBS
23-06-2021
पुलिस ने दिया मानवता का परिचय, बीमार बेटी से मिलने आए बुजुर्ग को कराया भोजन, गांव भेजने का किया प्रबंध

कांकेर। पुलिस और यातायात विभाग ने मानवता का परिचय दिया। पुलिस ने एक बुजुर्ग की सहायता करते हुए उसके भोजन व उनके निवास तक जाने का प्रबंध किया। बता दें कि बुधवार को एक बुजुर्ग मानकुराम बघेल निवासी कोंडागांव जिनकी बीमार बेटी जगदलपुर के जिला अस्पताल में भर्ती है। बुजुर्ग मानकु बघेल मदद की गुहार लगाते हुए पुलिस मुख्यालय कांकेर पहुंचे। यहां उन्होंने उप पुलिस अधीक्षक आकाश मरकाम को अपनी आपबीती सुनाई। इस पर डीएसपी मरकाम ने यातायात प्रभारी निरीक्षक रोशन कौशिक और वरिष्ठ अधिकारियों को बुजुर्ग के संबंध में अवगत कराया। इस पर आरक्षक ताम्रध्वज सिंग्रामे को बुजुर्ग को भोजन कराया। साथ ही आर्थिक सहायता कर एवं किसी प्रकार की समस्या आने पर मोबाइल नंबर देकर बात करने को कहा। यातायात पुलिस ने बुजुर्ग को यात्री बस में बैठाकर उनके गृह ग्राम भेजा। 

 

20-06-2021
Video: महापौर ने तेल की जगह पानी से बनाया भोजन, महंगाई के खिलाफ दिया धरना

राजनांदगांव। महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष फूलोदेवी नेताम के निर्देश पर बढ़ती हुई महंगाई के विरोध में महापौर हेमा देशमुख ने अपनी सहयोगियों के साथ धरना दिया। प्रदर्शन में उन्होंने महंगाई की अर्थी बनाई। तेल की जगह पानी में प्रतीकात्मक रूप से सब्जी भी बनाई। उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल के भाव तो आसमान छू रहे हैं साथ ही खाने का तेल, गैस सिलेंडर व अन्य दैनिक जीवन में उपयोग होने वस्तुओँ के भाव भी आम आदमी की पहुंच से बाहर होते जा रही हैं। महापौर ने कहा कि भाजपा नेता राज्य सरकार से पेट्रोल-डीजल पर टैक्स कम करने की बात करते हैं लेकिन केंद्र में मोदी की सरकार को कुछ भी बोलने की हिम्मत वे नही जुटा पाते। महापौर ने यह भी कहा कि राज्य की भूपेश बघेल सरकार अपने संसाधनों से प्रदेश की जनता को जितनी राहत दे सकती वह दे रही है लेकिन केंद्र सरकार जिनके कई सांसद प्रदेश में बैठे हैं वे सिर्फ बयानबाजी के अलावा कुछ नहीं करते।

 

24-05-2021
खांडवी, सुबह के नाश्ते के साथ साथ भोजन में भी साइड डिश के रूप में परोसा जाने वाला स्वादिष्ट गुजराती पकवान

रायपुर। खांडवी एक स्वादिष्ट गुजराती पकवान है जो स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पौष्टिक भी है। इसे पकाने के लिए बहुत कम तेल लगता है। तो आइए बताते हैं खांडवी बनाने की आसान विधि :-
खांडवी बनाने के लिए पहले बेसन और छाछ का घोल तैयार किया जाता है। फिर उसे भाप में पका लिया जाता है। फिर इससे रोल बनाए जाते हैं। रोल के ऊपर तेल करी पत्ता जीरा और राई का तड़का डाला जाता है। खांडवी के रोल बनाने के लिए थोड़ा खाना बनाने का अनुभव भी जरूरी है। और अगर आपको अनुभव है तो आप खांडवी रोल्स के साथ-साथ खांडवी के नूडल्स भी बना सकती हैं। खांडवी सुबह के नाश्ते के साथ तो परोसा जाता ही है चाहे तो भोजन के साथ भी साइड डिश के रूप में परोसा जा सकता है। खांडवी स्वादिष्ट तो है ही साथ ही साथ पौष्टिक भी है और अब यह सिर्फ गुजरात ही नही सारे देश में बनाई और खाई जाती है।

23-05-2021
शहर कांग्रेस जरुरतमंदों का रख रही ध्यान, सेवा अभियान के तीसरे दिन कराया भोजन

रायपुर। शहर जिला कांग्रेस कमेटी ने रविवार को सेवा अभियान के तीसरे दिन जरुरतमंदों को भोजन वितरित किया। शहर कांग्रेस अध्यक्ष गिरीश दुबे के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने मेकाहरा में आए मरीज़ों के परिजनों को भोजन प्रदान किया।
चंगोराभांठा बाजार चौक में निगम सभापति प्रमोद दुबे,ब्लॉक अध्यक्ष प्रशांत ठेंगड़ी ने एम्बुलेंस चालकों को आवश्यकता अनुसार भोजन उपलब्ध कराया। ब्लॉक अध्यक्ष अशोक ठाकुर और माधो साहू ने टीकाकरण केंद्र में कार्यरत कर्मचारियों को जूस वितरित किया।पार्षद कामरान अंसारी,ब्लॉक अध्यक्ष दीपा बग्गा ने  कुष्ठ बस्तियों में भोजन वितरित किया। ब्लॉक अध्यक्ष सुमित दास, अरुण जंघेल, सुनील भुआल, देवकुमार साहू , दाऊलाल साहू ,सहदेव व्यवहार, सचिन शर्मा, नवीन चंद्राकर ने झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले लोगों को भोजन कराया। इस दौरान मुन्ना मिश्रा, जी. श्रीनिवास, दिलशाद हुसैन, पुष्पराज वैध, शब्बिर खान, महावीर देवांगन, कमलेश नथवानी, कमल धृतलहरे उपास्थि थे।

15-05-2021
जज्बे को सलाम : सिलाई के काम से एकत्रित पैसे से जरूरतमंदों को भोजन करा रहीं तेलीबांधा की कमला ठाकुर

रायपुर। कोरोना संक्रमणकाल और लॉकडाउन के बीच राजधानी की कमला ठाकुर ने भूखों को भोजन कराने का संकल्प लिया है। वे रोजाना ढ़ाई सौ से ज्यादा जरूरतमंदों को घर में ही भोजन बनाकर पैक कर बांट रहीं है।
हौसले बुलंद हो तो हालात मायने नहीं रखते यह कहावत कमला पर फिट बैठती है। दरअसल लॉकडाउन में कमला के पति पिछले दो माह से ओडिशा में फंसे हुए है। वहीं सिलाई का काम भी बंद है। बावजूद इसके कमला ने हार नहीं मानी और सिलाई से कमाएं हुए पैसों से जरूरतमंदों को खाना बांट रहीं है। उनके इस जज्बे को राजधानीवासी सलाम कर रहे हैं।

08-05-2021
लॉकडाउन में कोई भूखा न रहे, समाजसेवी बांट रहे गरीबों को भोजन

दुर्ग। लॉकडाउन में कोई भी भूखा न रहे इस उद्देश्य से समाजसेवी नविता शर्मा ने गरीब,असहाय व अन्य जरूरतमंद लोगों तक भोजन पैकेट का वितरण विगत दो माह से कर रहीं है। इसी कड़ी में शनिवार को भोजन पैकेट का वितरण कुंदरापारा में किया गया। इसमें पूर्व सभापति एव पार्षद राजकुमार नारायणी ने भी सहयोग दिया। भोजन पैकेट वितरण करते हुए गरीब दो बच्चे , जिनके माता - पिता की मृत्यु हो चुकी है,जिन्हें नविता शर्मा ने किराना सामग्री प्रदान दी। वहीं अग्रवाल समाज के प्रमुख बंशीलाल अग्रवाल की ओर से भी रोज भोजन पैकेट जरूरतमंदों को बांटे जा रहे हैं। कुछ ऐसे परिवार हैं जो होम आइसोलेशन के दौरान भोजन तैयार करने में सक्षम नहीं है। ऐसे घरों में भी नविता शर्मा भोजन पैकेट बांट रहीं है।

 

04-05-2021
शहर में कोई भूखा ना रहे, इस सोच के साथ युवा बांटा रहे भोजन के साथ अन्य जरूरी सामान

दुर्ग। हमारा शहर हमारे लोग भूखे ना रहे के उद्देश्य को लेकर बिना किसी राजनीतिक सोच या बैनर के शहर के युवाओं ने जरूरतमंदों को भोजन,साबुन,मास्क और छाछ का पैकेट वितरण किया। अभिषेक शर्मा ने बताया कि दुर्ग श्हर के ऐसे कई क्षेत्र है, जहाँ बच्चे,बुजुर्ग और महिलाएं भोजन के तलाश में रहती है। लॉक डाउन में उन्हें भोजन नहीं मिल पाता। इस पर हम युवाओं ने नेहरू नगर,पॉवर हाउस और रिसाली में भोजन और अन्य सामग्री पहुंचाने का निर्णय लिया। इस कार्य में मीठी सिंघ,प्रशांत साहू,अर्चना मौर्य,दुष्यन्त देवांगन,प्रिंस परवेज,रवि पटनायक एवं अन्य लोग मदद कर रहे हैं।

 

03-05-2021
नर्सो ने कराया हाथ से भोजन, 75 साल की द्रौपदी वर्मा ने जीती कोविड से जंग, माना चिकित्सकों का आभार

रायपुर । दुर्ग जिले के शंकराचार्य कोविड हास्पिटल में चिकित्सकों और हेल्थ स्टाफ की संकल्पित टीम अपने सेवाभाव और कोविड के उपचार करने के अनुभवों के चलते कई परिवारों को संजीवनी प्रदान कर रही है। हर बार क्रिटिकल मरीजों के ठीक होने पर हास्पिटल प्रबंधन को गहरी खुशी होती है। ऐसा ही क्षण था जब दस दिनों से भर्ती दो गंभीर मरीज पूरी तरह स्वस्थ होकर घर गए। इनमें से एक 75 बुजुर्ग महिला जिनका सीटी स्कोर 16 था और आक्सीजन लेवल 80 तक पहुँच गया था, स्वस्थ होकर घर लौटीं। एक अन्य 45 वर्ष की महिला ने भी कोविड की जंग जीती, उनका आक्सीजन लेवल 60 तक गिर चुका था और सीटी स्कोर 22 था। द्रौपदी वर्मा के पुत्र एडवोकेट एलबी वर्मा ने बताया कि माँ मोरिद में रहती हैं वहाँ संक्रमण का शिकार हुईं तो पहले निकट के प्राइवेट हास्पिटल में लेकर गए। यहाँ पर सीटी स्कैन कराया और सीटी स्कोर 16 आया। यहाँ आक्सीजन लेवल 80 था, पाँच दिन रहने के बाद भी यहां गिरती स्वास्थ्य की स्थिति को देखते हुए शंकराचार्य कोविड केयर हास्पिटल में एडमिट कराया गया। यहाँ पर माताजी का पूरा ख्याल रखा गया। चिकित्सकों ने माताजी की स्थिति की जानकारी दी।

हाथ से खाना खिलाया स्टाफ ने
वर्मा ने बताया कि जब मैंने अपनी माताजी से पूछा कि अस्पताल में आपका कैसे ख्याल रखा गया तो उन्होंने बताया कि बिल्कुल घर की तरह ही।अस्पताल में डाक्टर और नर्स हौसला बढ़ाती रहीं। खाना भी नर्सों ने ही खिलाया। वर्मा ने बताया कि शंकराचार्य हास्पिटल में माताजी को स्वास्थ्य लाभ प्राप्त हुआ,वो पूरी तरह रिकवर हुईं। इसके लिए हम लोग हास्पिटल स्टाफ के बहुत आभारी हैं।

महिला का संघर्ष जज्बा जीत गया
सीटी स्कोर में संक्रमण की गंभीरता का स्तर 0 से 25 तक होता है। दुर्ग शहर की एक 45 वर्षीय महिला जब शंकराचार्य हास्पिटल में भर्ती हुईं तो उनका सीटी स्कोर 22 था, आक्सीजन लेवल 60 तक गिर चुका था। अपने संकल्प शक्ति से वो कोविड से जूझीं। उन्होंने बताया कि हर पल मुझे यह लगा कि हिम्मत नहीं हारनी है। मुझे हास्पिटल स्टाफ ने मेरे जैसे ही क्रिटिकल मरीजों के किस्से बताए जो ठीक हुए। इससे हौसला मिला और अंततः मैं कोविड से बाहर आई।

अच्छा लगता है कि जब ऐसे क्रिटिकल मामलों में सफलता मिलती है
इस संबंध में जानकारी देते हुए डाॅ.सुगम सावंत ने बताया कि कोविड के प्रोटोकाल के मुताबिक आक्सीजन लेवल 94 से गिरते ही हास्पिटल में एडमिट होने की सलाह दी जाती है। हास्पिटल में आक्सीजन के साथ ही मेडिसीन भी प्लान किये जाते हैं। हम मरीजों के हौसले को बढाने पर भी काम करते हैं। संकल्पशक्ति दृढ़ रखने से और उचित इलाज से रिकवरी की राह आसान हो जाती है।

 

 

03-05-2021
गर्भवती महिला ने 9 महीने तक किया 3 लोगों का भोजन,ओवर वेट पैदा हुआ नवजात

नई दिल्ली। ब्रिटेन के ऑक्सफोर्डशायर से एक चौंका देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक महिला को शक था कि उसके गर्भ में जुड़वा बच्चा पल रहा है। इसी शक के कारण उसने 9 महीने तक तीन लोगों का खाना खाया। इसी बीच जब महिला की डिलीवरी हुई तो सभी के होश उड़ गए। दरअसल उसके गर्भ में जुड़वा बच्चे नहीं थे, बल्कि एक ही बच्चा था जो कि काफी मोटा था। जानकारी के अनुसार 21 साल की एम्बर कंबरलैंड नाम की महिला अपनी प्रेग्नेंसी को लेकर काफी खुश थी। प्रेग्नेंसी के दौरान उसका पेट बहुत अधिक फूला था और उसे भूख भी खूब लगती थी। यह देखकर उसके घर के लोगों को लगता था कि उसके पेट में जुड़वा बच्चे है। केवल इतना ही नहीं बल्कि महिला से लेकर डॉक्टर तक भी यही सोच रहे थे। ऐसे में महिला तकरीबन हर दिन नौ लोगों का खाना खाने लगी थी। लेकिन, जब डिलवरी का समय आया तो सब हक्के-बक्के रह गए। एम्बर को नौ महीने तक यही लगा कि उसके गर्भ में जुड़वा बच्चे हैं लेकिन, जब बच्चे का जन्म हुआ तो सबके होश उड़ गए। जी दरअसल एम्बर ने केवल एक ही बच्चे को जन्म दिया। अब बताया जा रहा है कि बच्चे का वजन 5 किलो 800 ग्राम था। यह देखकर डॉक्टर भी सकते में पड़ गए। केवल यही नहीं बल्कि बच्ची को यूके की दूसरी सबसे भारी बच्ची का भी खिताब मिला है।

28-04-2021
सांसद सुनील सोनी पहुंचे जैन दादाबाड़ी, नेक कार्य के लिए व्यक्त किया आभार

रायपुर। कोरोना संकट के इस भीषण दौर में लोग मदद के आगे आ रहे हैं। भोजन से लेकर चिकित्सकीय उपकरण सहित अतिआवश्यक सामान उपलब्ध करा रहे हैं। इसी क्रम में जैन समाज के लोग भी सराहनीय कार्य कर रहे हैं। बुधवार को सांसद सुनील सोनी जैन दादाबाड़ी पहुंचे। उन्होंने जैन समाज के लोगों की सेवा की सराहना की। जैन समाज भोजन, सिलेंडर, ऑक्सीजन मशीन सभी को उपलब्ध करा रहे है । सांसद सोनी ने सभी का आभार व्यक्त किया। इस नेक कार्य के लिए सभी को धन्यवाद दिया।

18-04-2021
भोजन, बेड, ऑक्सीजन सिलेंडर, ब्लड और प्लाज्मा दिला कर आमजनों की मदद कर रहें हैंः बीवी श्रीनिवास

रायपुर। कोरोना महामारी के इस आपातकालीन क्षण में कई समाजसेवी जरूरतमंद लोगों के मदद के लिए हांथ बढ़ा रहे हैं। इसी कड़ी में युवा कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष बीवी श्रीनिवास भी मैदान में डटें हुए है। युवा कांग्रेस नेता लक्ष्मीकांत ने बताया कि बीवी श्रीनिवास द्वारा कोने-कोने तक लोगों को मदद पहुंचाई जा रही हैं। लक्ष्मीकांत ने बताया कि लोग श्रीनिवास को ट्वीट कर मदद मांग रहे हैं और वे अपनी पूरी टीम के साथ जरूरतमंदों तक मदद पहुंचाने का पूरा प्रयास कर रहें हैं। इस महामारी में निडरता के साथ बीबी श्रीनिवास और युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता धरातल पर उतर कर लोगों के लिए भोजन, बेड, ऑक्सीजन सिलेंडर, ब्लड और प्लाज्मा दिला कर आमजनों की मदद कर रहे हैं।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804