GLIBS
23-06-2021
मंत्री टीएस सिंहदेव ने जशपुर वासियों को 5 डायलिसिस मशीन की दी सौगात

जशपुरनगर/रायपुर। ग्रामीण विकास, लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री टीएस सिंहदेव ने वर्चुअल माध्यम से जशपुर जिले वासियों को लगभग 35 लाख की लागत से 5 डायलिसिस मशीन की सौगात दी। वर्चुअल से कलेक्टर महादेव कावरे, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  के.एस.मण्डावी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी पी.सुथार, सिविल सर्जन एफ खाखा, जीवन दीप समिति के सदस्य अजय गुप्ता और सूरज चौरसिया उपस्थित थे। स्वास्थ्य मंत्री ने बधाई और शुभकामनाए देते हुए कहा कि अब जशपुर जिले के मरीजों को डायलिसिस करवाने केे लिए बहार नहीं जाना पड़ेगा। अब उन्हें जशपुर में ही सुविधा मिलेगी। कलेक्टर महादेव कावरे ने शुभकामनाएं देते हुए कहा कि जिला चिकित्सालय अस्पताल में 5 मशीन लगाई गई है। एक मशीन की किमत लगभग 6-7 लाख है। उन्होंने बताया कि अब तक 5 मरीजों ने पंजीयन कराया है, जिसमें से 2 का इलाज किया जा रहा है। अधिकतम 10 मरीजों को एक दिन में डायलिसिस की सुविधा दी जा सकती है। जरूरत पड़ने पर क्षमता बढ़ाकर 15 मरीजों का भी इलाज कर सकते हैं। एक मरीज को एक घण्ट में 130-140 पानी की आवश्यकता होती है। डायलिसिस के दौरान लगने वाली सभी औषधियां निशुल्क मुहैया कराई जाएगी। एक मरीज को 4 घण्टे का डायलिसिस में समय लगता है।

21-06-2021
टीएस सिंहदेव ने ली समीक्षा बैठक, स्वास्थ्य मंत्री की नाराजगी के बाद नर्सिंग परीक्षाओं की तिथि घोषित

रायपुर। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण व चिकित्सा शिक्षा मंत्री टीएस सिंहदेव ने सोमवार को वरिष्ठ विभागीय अधिकारियों और शासकीय मेडिकल कॉलेजों के डीन एवं अधीक्षकों के साथ सभी मेडिकल कॉलेजों की व्यवस्थाओं की समीक्षा की। उन्होंने नर्सिंग के विभिन्न पाठ्यक्रमों की परीक्षाओं में हो रही देरी पर नाराजगी जताते हुए इनकी परीक्षाएं जल्द से जल्द संपन्न कराने के निर्देश दिए। उनके निर्देश पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति स्वास्थ्य विज्ञान एवं आयुष विश्वविद्यालय ने नर्सिंग के सभी पाठ्यक्रमों की परीक्षा तिथि सोमवार शाम ही घोषित कर दी है। विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला और सचिव शहला निगार भी समीक्षा बैठक में मौजूद थीं।


मंत्री सिंहदेव ने मंत्रालय में हुई बैठक में सभी मेडिकल कॉलेजों की अधोसंरचना, भवन की स्थिति, प्राध्यापकों एवं अन्य स्टॉफ की उपलब्धता, अध्यापन एवं इलाज की व्यवस्था, मेडिकल उपकरणों, दवाइयों एवं कन्ज्युमेबल्स की आपूर्ति की समीक्षा की। बैठक में इस बात पर सहमति जताई गई कि रायपुर मेडिकल कॉलेज से संबद्ध डॉ. भीमराव अंबेडकर स्मृति चिकित्सालय में एंडवास्ड कार्डिएक इंस्टीट्यूट (एसीआई), रेडियोलॉजी और आँकोलॉजी विभाग की सुपरस्पेशियालिटी सेवाओं में दवाइयों एवं कन्ज्युमेबल्स की उपलब्धता में दिक्कत को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग की ओर से सीएमडीएफ से छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेस कॉपोर्रेशन (सीजीएमएससी) को इनकी आपूर्ति के लिए 37 करोड़ रुपए दिए जाएंगे। स्वास्थ्य मंत्री ने सभी मेडिकल कॉलेजों में इलाज के लिए आने वाले ऐसे मरीज जिनके पास आयुष्मान कॉर्ड नहीं हैं, उनके तत्काल आयुष्मान कॉर्ड बनवाने के निर्देश दिए। उन्होंने डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना और आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत निर्धारित पैकेज बुक कर मरीजों का उपचार करने कहा।


मंत्री सिंहदेव ने सभी अस्पतालों में समय पर दवाइयों एवं कन्ज्युमेबल्स की उपलब्धता तय  करने सीजीएमएससी को दवा निर्माता और आपूर्तिकर्ता कंपनियों के साथ जल्द से जल्द दर अनुबंध करने कहा। उन्होंने इसके लिए यथाशीघ्र निविदा जारी कर सभी जरूरी दवाइयों के लिए दर अनुबंध करने के निर्देश दिए। बैठक में इस बात पर सहमति जताई गई कि अब मेडिकल कॉलेजों के डीन दवाओं की आपूर्ति के लिए सीधे सीजीएमएससी को इन्डेंट  भेज सकेंगे। स्वास्थ्य मंत्री ने राजनांदगांव, रायगढ़ और बिलासपुर मेडिकल कॉलेजों से संबद्ध अस्पतालों में भवन निर्माण की पूर्णता को देखते हुए चिकित्सीय सेवाओं को नई जगहों पर स्थानांतरित करने के निर्देश दिए। उन्होंने अनिवार्य ग्रामीण सेवा बॉंड के तहत पदभार ग्रहण नहीं करने वाले डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए।


स्वास्थ्य मंत्री को बैठक में एसीआई रायपुर के विशेषज्ञों डॉ. स्मित श्रीवास्तव और डॉ. केके साहू ने मानव संसाधन और उपकरणों की जरुरत के बारे में अवगत कराया। सिंहदेव ने सभी मेडिकल कॉलेजों में स्टॉफ और मेडिकल उपकरणों की उपलब्धता की जानकारी ली। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग और चिकित्सा शिक्षा विभाग के अधीन सभी अस्पतालों में रिक्त पदों की भर्ती के लिए वित्त विभाग से अनुमति लेने की कार्यवाही में तेजी लाने के निर्देश दिए। स्वास्थ्य विभाग के आयुक्त डॉ. सीआर प्रसन्ना, संचालक स्वास्थ्य सेवाएं नीरज बंसोड़, चिकित्सा शिक्षा विभाग के संचालक डॉ. आरके सिंह, सीजीएमएससी के प्रबंध संचालक कार्तिकेय गोयल तथा सभी शासकीय मेडिकल कॉलेजों के डीन और अधीक्षक भी समीक्षा बैठक में उपस्थित थे।

 

14-06-2021
धोबी समाज के विकास के लिए सरकार संकल्पित : टीएस सिंहदेव

अंबिकापुर। बालिकाओं के उत्थान के लिए विकास कार्यों का सोमवार को ​स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने भूमिपूजन किया। इस वर्चुअल भूमिपूजन को मुख्यअतिथि के रूप में संबोधित करते हुए स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि धोबी समाज भी अन्य विकसित समाज की श्रेणी में अपना स्थान बनाने की पुरजोर कोशिश लंबे समय से कर रहा है। इसमें समाज को सफलता भी मिल रही है। सिंहदेव ने कहा कि धोबी समाज के विकास के लिए सरकार संकल्पित है। जिला अध्यक्ष रोशन कनौजिया ने कहा कि छत्तीसगढ़ में सामाजिक क्रांति की लहर चल रही है। उन्होंने राज्यभर से आए पदाधिकारियों से कहा युवा अगर सक्रियता से समाज के काम करने लगेंगे तो खाप पंचायत भी बंद होगा और हर जिले के मुख्यालय में समाज का भवन बनेगा। उन्होंने अंबिकापुर में भी सामाजिक भवन बनाने की मांग रखी। इस पर समाज के प्रदेश अध्यक्ष सूरज निर्मलकर ने कहा कि इस गरीब मेहनतकश समाज में मुख्य अतिथि के रूप में टीएस बाबा वर्चुअल भूमिपूजन किए हैं। अंबिकापुर सरगुजा उनके जन्मभूमि कर्मभूमि है। वहां का भवन ऐतिहासिक ही होगा।

12-06-2021
टीएस सिंहदेव रेडियो पर कोविड प्रबंधन के बारे में देंगे जानकारी,13 जून को हमर ग्रामसभा का प्रसारण 

रायपुर। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग और ठाकुर प्यारेलाल राज्य पंचायत एवं ग्रामीण विकास संस्थान निमोरा की ओर से तैयार रेडियो कार्यक्रम 'हमर ग्रामसभा' की 13 जून को 46वीं कड़ी प्रसारित की जाएगी। पंचायत एवं ग्रामीण विकास व स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव आकाशवाणी रायपुर से हर रविवार शाम साढ़े 7 बजे से 8 बजे तक प्रसारित होने वाले इस विशेष कार्यक्रम में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के नियंत्रण और रोकथाम के लिए शासन की ओर से की गई व्यवस्थाओं की जानकारी देंगे। वे कार्यक्रम में कोविड-19 से बचने के उपायों और आवश्यक सावधानियों के बारे में भी बताएंगे। कार्यक्रम को मीडियम वेब 981 किलो हर्ट्ज पर सुना जा सकता है। प्रदेश में स्थित आकाशवाणी के सभी केन्द्र एक साथ इस कार्यक्रम को रिले करेंगे।

09-06-2021
टीएस सिंहदेव ने ली बैठक, सुदृढ़ स्वास्थ्य सेवाओं के लिए अस्पतालों में मानव संसाधन बढ़ाने पर जोर

रायपुर। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण व चिकित्सा शिक्षा मंत्री टीएस सिंहदेव ने बुधवार को वरिष्ठ विभागीय अधिकारियों के साथ स्वास्थ्य सेवाएं, चिकित्सा शिक्षा और आयुष विभाग के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने मंत्रालय (महानदी भवन) में हुई बैठक में स्वास्थ्य सेवाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए मजबूत अधोसंरचना के साथ ही मानव संसाधन बढ़ाने पर जोर दिया।  स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने कांकेर, महासमुंद और कोरबा में शुरू हो रहे नए मेडिकल कॉलेजों में पर्याप्त संख्या में फैकल्टी एवं अन्य स्टॉफ का सेट-अप स्वीकृत कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इससे इन कॉलेजों के सुचारू संचालन के साथ ही नेशनल मेडिकल कमीशन की मान्यता हासिल करने में सहायता मिलेगी। स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला और सचिव शहला निगार भी समीक्षा बैठक में मौजूद थीं।


स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने तीनों विभागों स्वास्थ्य सेवाएं, चिकित्सा शिक्षा और आयुष विभाग के अधीन सभी संस्थानों में पात्र अधिकारियों-कर्मचारियों की पदोन्नति की प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने इन विभागों में संविदा या अनुबंध वाले स्टॉफ के स्थान पर नियमित अधिकारियों-कर्मचारियों की नियुक्ति को प्राथमिकता देने कहा। उन्होंने डॉक्टरों को अपने पदस्थापना वाले स्थानों में मौजूद रहकर सेवाएं देने कहा है। उन्होंने प्रदेश के सभी जिला अस्पतालों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में पदस्थ डॉक्टरों की जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। स्वास्थ्य मंत्री ने नर्सिंग होम एक्ट और पीसीपीएनडीटी एक्ट के क्रियान्वयन की भी जानकारी ली। उन्होंने दूसरे राज्यों के नर्सिंग होम एक्ट का अध्ययन कर प्रदेश में इसकी कमियों और खामियों को दुरूस्त करने कहा।


संचालक, स्वास्थ्य सेवाएं नीरज बंसोड़ ने समीक्षा बैठक में बताया कि प्रदेश में अभी 113 उप स्वास्थ्य केंद्रों, 60 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और 13 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के लिए नए भवन के निर्माण का काम प्रगति पर है। छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेस कॉपोर्रेशन (सीजीएमएससी) की ओर से इनका निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि राज्य में 58 लाख 27 हजार 384 परिवारों के एक करोड़ 32 लाख 95 हजार 235 सदस्यों के आयुष्मान कॉर्ड बनाए जा चुके हैं।
स्वास्थ्य विभाग के आयुक्त डॉ. सीआर प्रसन्ना, चिकित्सा शिक्षा विभाग के संचालक डॉ. आरके सिंह, आयुष विभाग के संचालक डॉ. जीएस बदेशा, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला, संचालक महामारी डॉ. सुभाष मिश्रा और सीजीएमएससी के प्रबंध संचालक कार्तिकेय गोयल भी बैठक में उपस्थित थे।

08-06-2021
बंद होगा सीजी टीका पोर्टल,टीएस सिंहदेव ने कहा-केन्द्र सरकार के टीके कोविन पर ही होंगे रजिस्टर

रायपुर। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा है कि सीजी टीका पोर्टल बंद होगा। जब तक राज्य सरकार की ओर से टीकाकरण होगा,तब तक सीजी टीका पोर्टल रहेगा,उसके बाद बंद हो जाएगा। उन्होंने कहा है कि 21 जून  से 18 प्लस आयु वर्ग का वैक्सीनेशन केंद्र सरकार करेगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यह घोषणा कर दी है, लेकिन अभी स्थिति स्पष्ट  नहीं है। अब तक 18 से 44 आयु वर्ग के लिए प्रदेश सरकार वैक्सीन खरीद रही थी। हमने टीकाकरण के लिए अलग पोर्टल बनाया था। अब राज्य सरकार की खरीदी के बाहर के टीके कोविन पोर्टल पर ही रजिस्टर होंगे। बुधवार को विभागीय बैठक होने वाली है,इसके बाद सरकार बताएगी कि आगे टीकाकरण किस तरह से होगा। प्रदेश में वैक्सीन की उपलब्धता के हिसाब से राज्य सरकार को फिर वैक्सीन खरीदनी पड़ेगी। इस पर भी बुधवार को बैठक में निर्णय लिया जाएगा।

01-06-2021
केंद्र सरकार के कुप्रबंधन का नतीजा है वैक्सीनेशन बंद होना : टीएस सिंहदेव

रायपुर। प्रदेश में टीका समाप्त होने के कारण 24 जिलों में वैक्सीनेशन बंद हो गया है। सवा करोड़ लोगों का टीकाकरण होना है, जिसमें अभी केवल करीब 8 लाख लोगों को ही टीका लगा है। यह बात प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कही है। इसके अलावा टीएस सिंहदेव ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह केंद्र सरकार के कुप्रबंधन का नतीजा है, अब प्रदेश में 7 जून के बाद ही वैक्सीन आने की संभावना है।

30-05-2021
Breaking:  भूपेश बघेल ने टीएस सिंहदेव से पूछा कुशलक्षेम,हेलीकॉप्टर का शीशा टूटने की जांच के निर्देश

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन ने रविवार को सूरजपुर जिले के भैयाथान में लैंडिग के दौरान हेलीकॉप्टर का शीशा टूटने की घटना की जांच के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस घटना की जानकारी मिलते ही हेलीकॉप्टर से भैयाथान पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से दूरभाष पर चर्चा कर उनका कुशलक्षेम पूछा।  राज्य शासन के निर्देश पर हेलीकॉप्टर के चीफ पायलट और विमानन विभाग के अतिरिक्त संचालक इस पूरी घटना के विभिन्न पहलुओं की जांच कर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे।

29-05-2021
टीएस सिंहदेव 30 मई को जाएंगे अंबिकापुर, स्थानीय कार्यक्रमों में होंगे शामिल 

रायपुर/अंबिकापुर।  छत्तीसगढ़ शासन के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव 30 मई को सुबह 9 बजे पुलिस लाइन से हैलीकॉप्टर से रवाना होंगे। वे लुण्ड्रा विकासखंड के धौरपुर 10 बजे पहुंचेंगे। स्थानीय कार्यक्रमों में शामिल होंगे। मंत्री सिंहदेव 10:30 बजे धौरपुर से हैलीकॉप्टर से रवाना होकर 11 बजे पीजी कॉलेज ग्राउंड अंबिकापुर पहुंचेंगे। स्थानीय कार्यक्रमों में शामिल होंगे। इसके बाद शाम 4:30 बजे पीजी कॉलेज ग्राउंड अंबिकापुर से हैलीकॉप्टर से रायपुर के लिए रवाना होंगे।

28-05-2021
जीएसटी परिषद की बैठक में टीएस सिंहदेव ने कहा,कोरोना इलाज से संबंधित उत्पादों पर शून्य प्रतिशत लगे जीएसटी

रायपुर। कोरोना नियंत्रण और इसके इलाज में उपयोग होने वाले दवाइयों, मेडिकल समानों और उपकरणों पर शून्य प्रतिशत जीएसटी लगाने का सुझाव जीएसटी परिषद की ऑनलाइन बैठक में वाणिज्यककर मंत्री टीएस सिंहदेव ने दिया। शुक्रवार को केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन की अध्यक्षता में  जीएसटी परिषद की 43वीं ऑनलाइन बैठक हुई। इसमें टीएस सिंहदेव ने केंद्रीय वित्तमंत्री से राज्यों को अपना राजस्व बढ़ाने जीएसटी पर एक प्रतिशत सेस लगाने की अनुमति प्रदान करने की मांग रखी। उन्होंने व्यवसाइयों के लिए तिमाही रिटर्न और मासिक भुगतान व्यवस्था को ही आगे भी जारी रखने कहा। वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित बैठक में वाणिज्यिक कर विभाग के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी और आयुक्त रानू साहू भी मौजूद थीं। वहीं नई दिल्ली में केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री और राजस्व मंत्रालय के सचिव तरूण बजाज भी शामिल हुए। वाणिज्यिक कर मंत्री सिंहदेव ने परिषद की बैठक में जीएसटी परिषद की अध्यक्ष निर्मला सीतारमन से कहा कि यह महामारी का कठिन समय है। राज्य सरकारों और नागरिकों को राहत देने के लिए कोविड-19 के नियंत्रण और इसके इलाज में उपयोग होने वाले दवाईयों, मेडिकल समानों और उपकरणों पर शून्य प्रतिशत जीएसटी लगाया जाना चाहिए। वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए इसे सीमित समय के लिए लागू करने पर केंद्र सरकार को विचार करना चाहिए। उन्होंने जीएसटी के नियमों का उल्लेख करते हुए कहा कि जीएसटी कानून में ही उत्पादों पर शून्य प्रतिशत जीएसटी लगाए जाने के प्रावधान हैं। सिंहदेव ने बैठक में राज्यों को अपना राजस्व बढ़ाने के लिए जीएसटी पर एक प्रतिशत सेस लगाने की अनुमति प्रदान करने की मांग रखी। उन्होंने सुझाव दिया कि इसकी अधिकतम सीमा पांच प्रतिशत तक रखी जा सकती है। सिंहदेव ने व्यवसाईयों के लिए तिमाही रिटर्न और तिमाही भुगतान व्यवस्था के प्रस्ताव पर असहमति जताते हुए कहा कि वर्तमान व्यवस्था को ही जारी रखना चाहिए। अभी जारी व्यवस्था के अनुसार पूर्ववत तिमाही रिटर्न और मासिक भुगतान का प्रावधान है।

28-05-2021
आईसीआईसीआई बैंक ने दी 25 एचएफएनसी मशीन,टीएस सिंहदेव ने दिया धन्यवाद

रायपुर। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव को आईसीआईसीआई बैंक ने शुक्रवार को 25 हाई फ्लो नेजल कैनुला मशीन सौंपी। स्वास्थ्य मंत्री के सिविल लाइन स्थित निवास कार्यालय में बैंक के अधिकारियों ने मुलाकात कर ये मशीनें प्रदान की। मंत्री सिंहदेव ने कहा कि ये मशीनें प्रदेश के सभी 6 शासकीय मेडिकल कॉलेजों में भेजी जाएंगी। उन्होंने इस मदद के लिए आईसीआईसीआई बैंक को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी के संकट के समय बैंक ने सरकार और प्रदेश के लोगों की बहुत सहायता की है। यह कोरोना से पीड़ित लोगों के जीवन की रक्षा और मानवता की सेवा का समय है। ऐसे दौर में बैंक ने करीब साढ़े 3 करोड़ रुपए लागत के मेडिकल संसाधन उपलब्ध कराकर अपनी सामाजिक जिम्मेदारियों का निर्वहन किया है। संचालक, स्वास्थ्य सेवाएं नीरज बंसोड़ भी इस दौरान मौजूद थे। प्रदेश में कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण और रोकथाम में सहायता के लिए आईसीआईसीआई बैंक की ओर से प्रदेश के आदिवासी बाहुल्य तहसीलों में 150 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनों के साथ ही रायपुर जिले में 50, मुंगेली में 20 और कोरबा और जांजगीर-चांपा जिले में पांच-पांच मशीनें उपलब्ध कराई गई हैं। बैंक ने प्रदेश भर में 150 सैनिटाइजर डिस्पेंसर प्रदान किया है। गरियाबंद में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने में भी बैंक सहायता कर रहा है। इसके साथ ही बैंक की ओर से कबीरधाम में तीन ट्रूनाट मशीन व बॉडी फ्रीजर, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में चार फोटोथेरेपी मशीन, डिजिटल एक्स-रे मशीन व ईसीजी मशीन और गरियाबंद में दस मल्टी-पैरा मॉनिटर भी प्रदान किया जाएगा।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804