GLIBS
05-06-2021
अजीत जोगी की स्मृति में राज्यभर में जनता कांग्रेसियों ने किया पौधरोपण,अमित ने कहा...

रायपुर। विश्व पर्यावरण दिवस पर शनिवार  पार्टी सुप्रीमो डॉ.रेणु जोगी एवं प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी के निर्देशानुसार पार्टी कार्यकर्ताओं के ने राज्य भर में छत्तीसगढ़ राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री स्व. अजीत जोगी की स्मृति में पौधरोपण किया। साथ ही डॉ. रेणु जोगी के स्वास्थ्य लाभांवित होने पर  पौधरोपण किया गया है। पार्टी अध्यक्ष अमित जोगी जी ने कार्यकर्ताओं के साथ सिविल लाइन स्थित जोगी  निवास "अनुग्रह" में पौधरोपण किया।  इस दौरान अमित जोगी ने कहा कि  स्व.जोगी पर्यावरण के पुजारी और  पेड़ पौधों  से बेहद प्रेम थे,  उन्हें हरियाली बेहद पसंद थी। गार्डनिंग के शौकीन थे,इसलिए सुबह सुबह बगीचे में जाकर खुद माली के साथ पौधों को पानी को सींचने के साथ ही पौधों का देखरेख का विशेष ध्यान रखते थे। उन्हें आम  का फल विशेष रूप से पसंद था इसलिए जनता इसलिए उनकी पसंद अनुसार आज आम का पौधा रोपण किया हैं। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से पार्टी अध्यक्ष अमित जोगी, महामंत्री महेश देवांगन, मुख्य प्रवक्ता भगवानू नायक,पार्टी नेता खूबचंद देवांगन, युवा मोर्चा के संभागीय अध्यक्ष संदीप यदु, जोगी छात्र संगठन के महासचिव अजय पाल, अजीत जोगी अनुसूचित जाति युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अनिल भारती, विवेक बंजारे, विनोद बंजारा, घनश्याम कुमार, तुलाराम साहू, रवि तिवारी,  जतिन बंजारे, मंजित चेलक, राहुल बंजारे, हरीश कोठारी, हरेंद्र पांडेय, रितेश रात्रे, शिव कुमार यादव, रोशन , दीपक आदि उपस्थित थे।

04-05-2021
अजीत जोगी की स्मृति में स्कूल को अस्पताल बनाना चाहती है जेसीसीजे,अनुमति देने की मांग

रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री स्व.अजीत जोगी की स्मृति में स्कूल को अस्पताल बनाना चाहती है। जेसीसीजे रायपुर के जिलाध्यक्ष डॉ.ओमप्रकाश देवांगन ने कहा है कि बीरगांव में अपने स्वयं के निजी पब्लिक स्कूल पर निशुल्क कोविड सेंटर चालू करना चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने बाकायदा सीएमएओ रायपुर को पत्र लिखकर अनुमति चाही है। अभी तक इस संबंध में कोई भी जवाब नहीं आया है। डॉ.ओमप्रकाश देवांगन ने कहा है कि राजधानी के बीरगांव में एक बड़ी घनी आबादी निवास करती है। अधिकांशत: गरीब मजदूर वर्ग के बहुसंख्य लोग रहते हैं। यहां पर लगातार कोरोना महामारी खतरा बना हुआ है। बेड, वेंटीलेटर,ऑक्सीजन और होमआइसोलशन एक बड़ी चुनौती है। इस कारण हम स्कूल को अस्पताल बनाना चाहते हैं और लोगों के जीवन को बचाना चाहते हैं। महामारी में राजनीति नहीं होनी चाहिए बल्कि दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सरकार को तत्काल इसकी अनुमति देना चाहिए। इससे कि वहां पर शीघ्र अति शीघ्र 100 बिस्तर वाला अस्पताल तैयार किया जा सके और कोरोना संक्रमितों को बचाया जा सके। डॉ.देवांगन ने कहा है कि बीरगांव क्षेत्र में एक-एक कमरे के किराए के मकान में चार पांच सदस्य रहते हैं। ऐसे में परिवार के किसी सदस्य को संक्रमण होने पर होम आइसोलेशन के अभाव में तेजी से संक्रमण को फैलने से इनकार नहीं किया जा सकता है। स्थिति को भांपते हुए और लोगों के जीवन को बचाने के उद्देश्य जनता कांग्रेस सामने आई है। संकट की घड़ी में स्कूल को अस्पताल बनाना चाहती है। इस निर्णय का बीरगांव की जनता ने भी स्वागत किया है। डॉ. वेदप्रकाश देवांगन व देवप्रकाश देवांगन ने निशुल्क सेवा देने का भी आश्वासन दिया है।

 

04-05-2021
स्व.किशनचंद लखनपाल की स्मृति में परिजनों ने रेडक्रॉस सोसाइटी को दिया 1 लाख रुपए का चेक

 

जगदलपुर। नगर के व्यवसासी,वरिष्ठ कांग्रेसी नेता व जगदलपुर नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष सतपाल लखनपाल शर्मा ने अपने पिता स्व.किशनचंद लखनपाल की स्मृति में संसदीय सचिव व जगदलपुर विधायक रेखचंद जैन की उपस्थिति में भारतीय रेडक्रॉस सोसाइटी को कोरोना महामारी से लड़ने एक लाख रुपए का चेक बस्तर कलेक्टर रजत बंसल को सौंपा। बस्तर कलेक्टर रजत बंसल ने कोरोना से लड़ने के लिए लखनपाल परिवार के सहयोग के लिए उनका धन्यवाद दिया।

12-03-2021
स्व. कश्यप की स्मृति में संचालित मेकॉज का नाम बदलने का इरादा ओछेपन का शर्मनाक प्रदर्शन : भाजपा

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने जगदलपुर के स्व. बलीराम कश्यप स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय सह अस्पताल का नाम बदलने के प्रदेश सरकार के इरादों को उसके राजनीतिक ओछेपन का शर्मनाक प्रदर्शन बताया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि प्रदेश सरकार अपने पूरे कार्यकाल में केवल राजनीतिक प्रतिशोध की लपटों में ही झुलसती नज़र आ रही है। कांग्रेस की प्रदेश सरकार ने अपने दम पर एक भी ऐसा काम नहीं किया है, जो प्रदेश के लोककल्याण की दृष्टि से मिसाल के तौर पर गिनाया जा सके। साय ने कहा कि भाजपा बस्तर के शहीद कांग्रेस नेता स्व. महेंद्र कर्मा के प्रति अपनी पूरी श्रद्धा व्यक्त करते हुए चाहती है कि स्व. कर्मा की स्मृति को चिरस्थायी बनाए रखने के लिए प्रदेश सरकार लोककल्याण की कोई और सार्थक योजना उनके नाम पर शुरू करें, हम और हमारी पार्टी इसका स्वागत और समर्थन करेंगे।

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि प्रदेश की इस कांग्रेस सरकार को जगदलपुर के चिकित्सा महाविद्यालय सह अस्पताल का नाम बदलने की बड़ी राजनीतिक क़ीमत चुकानी पड़ेगी। प्रदेश सरकार का समूचा राजनीतिक चरित्र 'बदलापुर की राजनीति' से दाग़दार है और इस बार नाम बदलने की बात कहकर प्रदेश सरकार ने अपने आदिवासी विरोधी होने का प्रमाण दे दिया है। डॉ.सिंह ने सवाल किया कि यह प्रदेश सरकार आख़िर अपने दम पर कोई ठोस काम करने के बजाय कब तक भाजपा शासनकाल की योजनाओं के नाम बदलकर उसे अपनी उपलब्धि बता-बताकर उधार की राजनीतिक साँसों पर चलेगी? स्व. बलीराम कश्यप बस्तर के जननायक थे और उनके नाम पर संचालित चिकित्सा महाविद्यालय सह अस्पताल का नाम बदलना स्व. कश्यप के राजनीतिक योगदान आदिवासियों की भावनाओं का घोर अपमान है, जिसे क़तई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। प्रदेश सरकार जगदलपुर के चिकित्सा महाविद्यालय सह अस्पताल का नाम बदलकर न केवल स्व. कश्यप और स्व. कर्मा के साहसिक राजनीतिक व्यक्तित्व का अनादर कर रही है, अपितु बस्तर समेर प्रदेशभर के आदिवासी समुदाय की भावनाओं का मखौल उड़ा रही है।

 

28-02-2021
दिव्यांग चित्रकार बसंत साहू हुए सम्मानित, नवाजा गया बहुमत सम्मान से

कुरूद। चित्रकार बसंत साहू को कला, साहित्य और संस्कृति की पत्रिका "बहुमत" की ओर से एक संक्षिप्त आत्मीय आयोजन में 19वें "बहुमत सम्मान" से सम्मानित किया गया। छत्तीसगढ़ के संस्कृति कर्मी दाउ रामचंद्र देशमुख की स्मृति में स्थापित यह सम्मान पहली बार किसी लोक चित्रकार को दिया गया। बहुमत के संपादक विनोद मिश्र, आयोजन समिति के अध्यक्ष अरुण श्रीवास्तव और निर्णायक समिति के सदस्य रवि कुमार ने बसंत साहू को शाल श्रीफल, प्रशस्ति पत्र एवं सम्मान निधि से सम्मानित किया। छत्तीसगढ़ दिव्यांग क्रिकेट एसोसिएशन की तरफ से उपाध्यक्ष साजिद भाई ने ड्राइंग में उपयोग आने वाली सामग्रियों का सेट भेंट कर सम्मानित किया। ज्ञातव्य है कि लगभग 25 वर्ष पूर्व एक दुर्घटना में विकलांग हो चुके बसंत साहू व्हील चेयर पर बैठकर या बिस्तर पर लेटकर चित्र बनाते हैं, उन्हें राष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्धि हासिल हुई है। छत्तीसगढ़ के लोकजीवन को अपने चित्रों के माध्यम से राष्ट्रीय पहचान प्रदान करने वाले बसंत साहू को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रुचिर गर्ग, संसदीय सचिव कुंवर निषाद, विधायक देवेन्द्र यादव, पद्मश्री एवं पूर्व में बहुमत सम्मान से सम्मानित लोक गायिका ममता चंद्राकर तथा लोकगायक मदन चौहान ने इस वर्ष के बहुमत सम्मान के लिए शुभकामनाएं दी।

सम्मान ग्रहण करते हुए बसंत साहू ने कहा कि "बहुमत सम्मान" मेरी उस तूलिका का सम्मान है, जिसने विपरीत परिस्थितियों में भी मुझे जीने का हौसला दिया। उन्होंने कहा कि एक मध्यवर्गीय किसान परिवार में जन्म लेने के कारण ग्राम्य जीवन और लोकजीवन ही मेरी कला साधना का आधार है। अरुण श्रीवास्तव ने कहा कि बसंत साहू की कला प्रतिभा के साथ साथ उनका जीवन संघर्ष भी हम सबके लिए प्रेरणास्पद है। विनोद मिश्र ने कहा कि बसंत साहू ने कला और व्यक्तिगत जीवन के मोर्चे पर जो कड़ी परिश्रम की है, उसका कोई दूसरा उदाहरण मेरे अनुभव में नहीं है। बसंत साहू को बहुमत सम्मान लोक चित्रकला के प्रति अदम्य समर्पण एवं जीविषा के लिए प्रदान किया जा रहा है।  यह सम्मान संस्कृति विभाग छत्तीसगढ़ शासन चतुर्भुज मेमोरियल फाउंडेशन, छत्तीसगढ़ दिव्यांग क्रिकेट एसोसिएशन के सहयोग से कला, साहित्य और संस्कृति की पत्रिका "बहुमत" के तत्वावधान में  हुआ। विधायक अजय चंद्राकर ने बसंत साहू को इस अवसर पर शुभकामनाएं दी। इस दौरान सुरेश अग्रवाल, बसंत साहू के छोटे भाई कृष्णकांत साहू, पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष रविकांत चंद्राकर, चिरायु सिन्हा, कमलेश चंद्राकर एवं कमल शर्मा  उपस्थित थे। 

दीपक साहू की रिपोर्ट

12-02-2021
शिक्षा के साथ खेल जरूरी कहा- डॉ. चरणदास महंत ने,स्व बलराम सिंह ठाकुर स्मृति क्रिकेट स्पर्धा के समापन समारोह में

रायपुर। बिलासपुर जिले के तखतपुर में स्वर्गीय ठाकुर बलराम सिंह की स्मृति में जेएमपी महाविद्यालय खेल परिसर में आयोजित क्रिकेट प्रतियोगिता के समापन में शामिल हुए विधानसभा के अध्यक्ष डा.चरणदास महंत। कार्यक्रम में महंत ने कहा है कि शिक्षा के साथ-साथ खेल गतिविधियों को बढ़ावा देना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि गांवों में छिपी प्रतिभाओं को सामने लाने का बढ़िया माध्यम है, स्थानीय स्तर पर आयोजित होने वाले खेल प्रतियोगिताएं। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के खिलाड़ी भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर राज्य को गौरान्वित करने की क्षमता रखते हैं। क्रिकेट स्पर्धा के समापन अवसर पर सम्बोधित करते हुए छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व व आपदा प्रबंधन मंत्री जय सिंह अग्रवाल ने कहा कि स्थानीय स्तर के खिलाड़ियों को प्रोत्साहन देना आवश्यक है। निश्चित रूप से इस आयोजन से खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ा है व भविष्य में ये खिलाड़ी इससे भी अच्छा प्रदर्शन करेंगे। गौरतलब है कि पंचायत स्तरीय यह स्पर्धा 15 जनवरी से प्रारंभ हुई थी। इसमें 128 टीमों ने भाग लिया जिनमें से 122 पंचायत की एवं 6 नगरीय क्षेत्रों की टीमें शामिल थी।

 

10-02-2021
भूमकाल के शहीदों की स्मृति में बनाया जाएगा भव्य स्मारक: अनुसुईया उइके

रायपुर। शहीद गुंडाधुर आज हमारे बीच नहीं है, लेकिन उन्होंने आदिवासियों को तत्कालीन दमनकारी और शोषणकारी सत्ता के खिलाफ संगठित किया और वे अमर हो गए। उन्होंने समाज में अपनी कार्यों से जागरूकता लाई। अदम्य साहस के प्रतीक शहीद गुंडाधुर समाज को प्रगति की ओर प्रशस्त रहने की प्रेरणा देते रहेंगे। आज से लगभग 111 वर्ष पूर्व बस्तर की इस भूमि पर आदिवासियों ने भूमकाल आंदोलन की हुंकार भरी थी। आज हम इस अवसर पर इस आंदोलन के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। यह बात राज्यपाल अनुसुईया उइके ने बुधवार को भूमकाल दिवस के अवसर पर जगदलपुर में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही। राज्यपाल ने भूमकाल के शहीदों की स्मृति में जगदलपुर के हृदय स्थल गोलबाजार में भव्य स्मारक बनाने की घोषणा की। राज्यपाल ने कहा कि इस आंदोलन में कई आदिवासियों एवं ग्रामीणों ने जल, जंगल और जमीन तथा अपने हक और अधिकार के लिए अंग्रेजी हुकुमत एवं दमनकारी सत्ता के खिलाफ जंग छेड़ी। उनका विद्रोह इतना प्रबल था कि उनके खिलाफ ब्रिटिश सरकार ने बड़ी संख्या में सैनिकों को भेजा जिनका हमारे आदिवासियों ने अपने पारंपरिक हथियारों से साहस के साथ सामना किया। गुंडाधुरजी ने इस आंदोलन ने समाज में एक जागृति पैदा कर दी और कहीं न कहीं इसका असर राष्ट्रीय स्तर पर हुआ। भूमकाल आंदोलन सहित अन्य आंदोलनों के फलस्वरूप हमारे देश को ब्रिटिश शासन से आजादी मिली। राज्यपाल ने कहा कि शासन-प्रशासन के कार्यों से समाज में जागृति आई है और निरंतर  प्रगति भी हो रही है। बस्तर क्षेत्र में तेजी से विकास भी हो रहे हैं, कनेक्टिविटी अच्छी हुई है।

अब जगदलपुर एयरपोर्ट से रायपुर और हैदराबाद की विमान सेवा भी प्रारंभ हो गई है। राज्यपाल उइके ने कहा कि बस्तर में माता दंतेश्वरी का आशीर्वाद रहा है। इसी कारण बस्तर में मातृ शक्ति का विशेष प्रभाव देखने को मिल रहा है। यहां की महिलाओं में जो जागरूकता देखने को मिल रही है, वह सराहनीय है। दक्षिण बस्तर के दंतेवाड़ा जिले की महिलाओं के द्वारा सिले हुए कपड़े देश-विदेश में बेचे जाएंगे। यह कपड़े डैनेक्स ब्रांड के नाम से उपलब्ध होंगे, जैसे बड़ी-बड़ी कंपनियों का ब्रांड होता है। राज्यपाल ने खुशी जताते हुए इस कार्य से जुड़े महिलाओं को शुभकामनाएं दी। राज्यपाल ने कहा कि बस्तर क्षेत्र पांचवी अनुसूची के अन्तर्गत आता है। इस क्षेत्र में राज्यपाल के अनुमोदन से ही कानून का निर्माण होता है। उन्होंने कहा कि मैं आपकी संरक्षक हूं और राजभवन के माध्यम से आपकी समस्याओं के समाधान के लिए मैं हरसंभव प्रयास करूंगी। इसके लिए जिला और विकास खण्ड स्तर पर पहुंच कर आदिवासियों की समस्याओं को जानने और और उनके समाधान करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यहां युवाओं के रोजगार के लिए भी बेहतर प्रयास किया जा रहा है। इसी कड़ी में वनोपज के प्रसंस्करण के लिए बड़ी इकाई भी ट्राइफेड के माध्यम से स्थापित की जा रही है। उन्होंने कहा कि जनजातीय समाज को जागरूक होना चाहिए है और संविधान ने जो अधिकार दिए हैं, उन्हें उनकी जानकारी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज में कुछ विघटनकारी तत्व लोगों को दिग्भ्रमित करने का प्रयास कर रहे हैं, उनसे सचेत रहने की आवश्यकता है। इस अवसर पर भूमकाल के शहीद गुंडाधुर तथा अन्य शहीदों के परिजनों को राज्यपाल द्वारा सम्मानित भी किया गया। राज्यपाल को धुरवा समाज के द्वारा पारम्परिक साड़ी भी भेंट की गई। इस अवसर पर धुरवा समाज के पदाधिकारी सहित नागरिक उपस्थित थे।

02-11-2020
Video: 'पुलिस झंडा दिवस' पर विजयी प्रतिभागियों को पुलिस अधीक्षक ने किया गया सम्मानित

धमतरी। पुलिस अधीक्षक बीपी राजभानू ने वीर जवानों के शहादत की स्मृति में "पुलिस झंडा दिवस" 21 अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक आयोजित किए गए। 10 दिवसीय कार्यक्रम में इकाई के पुलिस जवानों के मनोबल को बढ़ाने एवं उनके स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए जिला स्तरीय विभिन्न प्रतियोगिताएं- चित्र प्रदर्शनी, सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं खेलकूद आदि का आयोजन पुलिस खेल मैदान में किया गया। आयोजन में पुलिस अधिकारी —कर्मचारी एवं उनके परिवार के लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। पुलिस अधीक्षक ने पुलिस झंडा दिवस पर कार्यक्रम की शुरुआत वालीबॉल प्रतियोगिता एवं चित्रकला प्रतियोगिता से की। उसके विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम व खेलकूद प्रतियोगिताएं हुई, जिसमें इकाई के सभी अनुभाग के पुलिस अधिकारी व कर्मचारी तथा उनके परिवार के लोग भी सम्मिलित हुए। पुलिस कम्पोजिट बिल्डिंग में रविवार की रात कार्यक्रम का समापन किया गया। पुलिस अधीक्षक ने विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लेने वाले पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों की सराहना करते हुए प्रतियोगिता में विजयी प्रतिभागियों को शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम के मध्य में नन्हे बाल कलाकार मैथली रावटे, गुणज्ञ वैद्य, योगिता वर्मा, समीक्षा वर्मा, मुस्कान सोनी, पल्लवी मरकाम एवं दिपाली राजपूत ने देशभक्ति से ओत-प्रोत, रोंगटे खड़ी कर देने वाली मनमोहक प्रस्तुति दी गई। साथ ही कार्यक्रम के अंतिम चरण में विभिन्न प्रतियोगिताओं में विजयी प्रतिभागियों को पुलिस अधीक्षक ने पुरस्कृत किया। कार्यक्रम में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे, उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय अरुण जोशी, उप पुलिस अधीक्षक अजाक सारिका वैद्य, थाना प्रभारी कोतवाली, अर्जुनी, रूद्री, सूबेदार, पुलिस कार्यालय के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804