GLIBS
09-05-2021
इंसानियत हुई शर्मसार, आईसीयू बेड के लिए नर्स ने कोविड मरीज से मांगी 1.30 लाख की रिश्वत, एसीबी ने पकड़ा

जयपुर। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण लोगों को अस्पताल में बेड, ऑक्सीजन और दवाईयों की किल्लत हो रही है। इन चीजों की कालाबाजारी भी देश में धड़ल्ले से हो रही है। लोग मुनाफा कमाने के लिए इंसानियत तक को बेच दे रहे हैं। मामला जयपुर के एक निजी अस्पताल का है । राजस्थान के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने  एक पुरुष नर्स को कोविड मरीज के लिए आईसीयू बेड की व्यवस्था करने के लिए रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान अशोक कुमार गुर्जर के रूप में हुई है। अशोक जयपुर के मेट्रो मास अस्पताल में एक नर्स के रूप में काम करता है। एसीबी के डीजीपी बीएल सोनी के अनुसार,आरोपी ने राजस्थान यूनिवर्सिटा ऑफ हेल्थ साइंसेज में आईसीयू बेड और अन्य सुविधाओं के लिए  कोविड मरीज के परिवार से 1.30 लाख रुपए की मांग की थी। डीजीपी ने कहा कि गुर्जर ने शिकायतकर्ता से 95,000 रुपए पहले ही ले चुका था।

पुलिस ने कहा कि हमने मामले में की गई शिकायत की जांच की और गुर्जर को 23,000  रुपए रिश्वत की किस्त लेते हुए गिरफ्तार किया गया। आरोपी पर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है और मामले की जांच की जा रही है। एक अन्य मामले में 1 मई को दिल्ली के नजफगढ़ के एक निजी अस्पताल में काम करने वाली 25 वर्षीय नर्स को रेमेडीसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी के आरोप में गिरफ्तार किया था । वह अपने एक अन्य साथी के साथ मिलकर इस काम को अंजाम देती थी । 

 

08-05-2021
मड़वा पावर प्लांट के सांस्कृतिक भवन में बन रहा ऑक्सीजन युक्त 100 बेड का कोविड हॉस्पिटल

जांजगीर चांपा। ज़िले के कोरोना संक्रमित मरीजों को शीघ्र गुणवत्ता पूर्ण इलाज की सुविधा मिलेगी। कलेक्टर यशवंत कुमार के निर्देश पर मड़वा पावर प्लांट के सांस्कृतिक भवन में 100 बेड का सौ फीसदी मेडिकल आक्सीजन युक्त बेड का कोविड केयर सेंटर बनाया जा रहा है। कलेक्टर ने इस केयर सेंटर की तैयारी यथाशीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं।
कलेक्टर यशवंत कुमार के मार्ग निर्देशन में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के  गुणवत्ता पूर्ण उपचार के लिए चिकित्सा सुविधा का विस्तार किया जा रहा है। इस कड़ी में मड़वा पावर प्लांट के सांस्कृतिक भवन में शत प्रतिशत ऑक्सीजन युक्त 100 बेड वाले हॉस्पिटल तैयार किया जा रहा है। कलेक्टर ने निर्माणाधीन कोविड केयर हॉस्पिटल का निरीक्षण कर आवश्यक तैयारियों के संबंध में दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने केयर सेंटर में पेयजल व्यवस्था, मरीजों के भोजन व्यवस्था, प्रवेश द्वार, पार्किंग, ऑक्सीजन व्यवस्था, भण्डार कक्ष,  चिकित्सकों एवं चिकित्सा कर्मियों के स्टाफ रूम, विद्युत व्यवस्था आदि के संबंध में मड़वा पावर प्लांट के अधिकारियों को निर्देशित किया। कलेक्टर ने कहा कि 5 दिनों के भीतर हॉस्पिटल पूर्ण रूप से तैयार कर लें ताकि मरीजों को इसका लाभ शीघ्र मिल सके। कलेक्टर ने निर्माण कार्य की सतत निगरानी  एवं आवश्यक सहयोग के लिए उपसंचालक योजना एवं साख्यिकी पायल पांडे को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। उन्होंने कहा हॉस्पिटल निर्माण में सभी जरूरी संसाधन उपलब्ध कराने में प्लांट के प्रबंधकों का सहयोग करें। ताकि नियत समय में निर्माण कार्य पूरा हो सके। 

 

 

06-05-2021
एनआरआई बेटी पिता की जान बचाने ढूंढती रही अस्पताल, न मिला बेड और न ही ऑक्सीजन, एंबुलेंस में तोड़ा दम 

लखनऊ/रायपुर। देश में कोरोना वायरस के संक्रमण ने कोहराम मचा कर ​रखा है। इसी बीच एनआरआई और राजाजीपुरम निवासी अमिता श्रीवास्तव के 80 वर्षीय पिता को बुखार के बाद ऑक्सीजन लेवल कम हो गया। वह रातभर एंबुलेंस में एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल में चक्कर लगाते रही। बावजूद इसके न उन्हें बेड मिला और न ऑक्सीजन की व्यवस्था हो सकी। इसके बाद बुजुर्ग की सुबह मौत हो गई। राजाजीपुरम निवासी अमिता श्रीवास्तव अमेरिका में रहती है। पिछले महीने वह अमेरिका से भारत आई थी। इसी दौरान उनके पिता अयोध्या प्रसाद श्रीवास्तव और भाई नवीन व हैप्पी श्रीवास्तव सहित पूरा परिवार बुखार और सीने की जकड़न से परेशान थे। इससे उनके बुजुर्ग माता-पिता की हालत गंभीर हो गई। अमिता ने लखनऊ के सभी अस्पताल में पता किया, लेकिन न कहीं बेड उपलब्ध था और न कहीं पर ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था थी। किसी तरह उन्होंने 45 हजार रुपए में ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदा।

26-04-2021
निजी नर्सिंग होम में बेड उपलब्ध रहते मरीजों को मना करने पर होगी एस्मा के तहत कार्यवाही: कलेक्टर

जांजगी-चांपा। कलेक्टर यशवंत कुमार ने कोविड कोर कमेटी की बैठक में कहा कि निजी नर्सिंग होम को कोविड उपचार की अनुमति दी गई है। बेड उपलब्ध रहते मरीजों को मना करने पर संबंधित के खिलाफ एस्मा के तहत कार्रवाई की जाएगी। साथ ही  उन्होंने ऐसे निजी अस्पताल के विरुद्ध नर्सिंग होम एक्ट के तहत सील करने के भी निर्देश सीएमएचओ को दिए। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना संक्रमित मरीजों के उपचार में निजी स्वास्थ्य केंद्रों की भी जिम्मेदारी महत्वपूर्ण है। इन स्वास्थ्य केंद्रों के उपलब्ध बेड को ऑक्सीजन युक्त बेड बनाने के लिए उनको बैंक के माध्यम से भी मदद उपलब्ध कराई जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि अधिक से अधिक वेंटिलेटर और ऑक्सीजन सुविधा युक्त बेड बनाने के लिए  कार्य योजना तैयार की जा रही है। इसके लिए समाज सेवी संस्थाओं की  मदद मिल रही है।  कलेक्टर ने कहा कि कोविड केयर सेंटर्स में उपलब्ध बेड को ऑक्सीजन युक्त बेड बनाई जाएगी। उन्होंने बताया कि 10 वेंटिलेटर, 16 आईसीयू बेड और 30 कंसंट्रेटर विभिन्न माध्यमों से उपलब्ध कराए गए हैं। कलेक्टर इन उपकरणों का उपयोग सुनिश्चित करने के लिए सीएमएचओ और सिविल सर्जन डॉ अनिल जगत को आवश्यक ब्यवस्था के निर्देश दिए। बैठक में जिला पंचायत सीईओ  गजेंद्र सिंह ठाकुर, एएसपी  संजय महादेवा  सहित कोर कमेटी के सदस्य उपस्थित थे।

 

18-04-2021
भोजन, बेड, ऑक्सीजन सिलेंडर, ब्लड और प्लाज्मा दिला कर आमजनों की मदद कर रहें हैंः बीवी श्रीनिवास

रायपुर। कोरोना महामारी के इस आपातकालीन क्षण में कई समाजसेवी जरूरतमंद लोगों के मदद के लिए हांथ बढ़ा रहे हैं। इसी कड़ी में युवा कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष बीवी श्रीनिवास भी मैदान में डटें हुए है। युवा कांग्रेस नेता लक्ष्मीकांत ने बताया कि बीवी श्रीनिवास द्वारा कोने-कोने तक लोगों को मदद पहुंचाई जा रही हैं। लक्ष्मीकांत ने बताया कि लोग श्रीनिवास को ट्वीट कर मदद मांग रहे हैं और वे अपनी पूरी टीम के साथ जरूरतमंदों तक मदद पहुंचाने का पूरा प्रयास कर रहें हैं। इस महामारी में निडरता के साथ बीबी श्रीनिवास और युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता धरातल पर उतर कर लोगों के लिए भोजन, बेड, ऑक्सीजन सिलेंडर, ब्लड और प्लाज्मा दिला कर आमजनों की मदद कर रहे हैं।

 

14-04-2021
मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी के कारण 10 बेड और बढ़ेंगे जिला अस्पताल में

दुर्ग। जिला अस्पताल में 10 अतिरिक्त बेड की व्यवस्था की जाएगी। साथ ही बढ़ते मरीजों को देखते हुए जितनी अतिरिक्त इंफ्रास्ट्रक्चर एवं मानव संसाधन की जरूरत है वो जिला अस्पताल को मुहैया कराए जाएंगे। यह बात कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने जिला अस्पताल के औचक निरीक्षण के दौरान कही। कोरोना के रोकथाम व संक्रमण को रोकने जिला प्रशासन पूरी मुस्तैदी से कार्य कर रहा है। कलेक्टर डॉ.सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे कोरोना संक्रमण के रोकथाम की नियमित मॉनिटरिंग कर रहे हैं। जिले में कोरोना के उपचार के लिए तय किए गए शासकीय एवं निजी चिकित्सालयों की लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं। संचालकों से वस्तुस्थिति की जानकारी व फीडबैक लेकर स्थिति पर नजर रख रहे हैं। कलेक्टर स्वयं अस्पताल पहुंचकर व्यवस्था देख  रहे हैं। आज उन्होंने जिला अस्पताल पहुंचकर व्यवस्था का जायजा लिया।

उन्होंने यहां भर्ती मरीजों के उपचार के साथ-साथ यहां उपलब्ध इंफ्रास्ट्रक्चर एवं व्यवस्था की भी समीक्षा की। लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीजों की संख्या को ध्यान में रखते हुए आज ही 10 आक्सीजन बेड बढ़ाने के निर्देश भी दिए। साथ ही 10 आक्सीजन कंसेंट्रेटर की व्यवस्था भी करने कहा है। उन्होंने जिला अस्पताल के सिविल सर्जन एवं निगरानी के लिए नियुक्त प्रभारी अधिकारी से कहा है कि लगातार मरीजों के स्वास्थ्य पर नजर रखकर फीडबैक लेते रहे,जिससे अन्य सुविधा और संसाधनों की व्यवस्था समय पर किया जाकर हालात को नियंत्रित किया जा सके। कलेक्टर ने यहां साफ सफाई की स्थिति की निरंतर मॉनिटरिंग करने के निर्देश भी दिए।

 

10-04-2021
पाटन में ट्राइबल होस्टल में शुरू होगा 25 बेड का कोविड केयर सेंटर

दुर्ग। कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने पाटन ब्लाक में कोविड नियंत्रण के चल रहे कार्यों की समीक्षा की। कलेक्टर ने कहा कि जिन मरीजों को होम आइसोलेशन में रहने में असुविधा है, उनके लिए 25 बेड का कोविड केयर सेंटर पाटन के ट्राइबल होस्टल में आरम्भ करें। उन्होंने कहा कि जिन गांव में कोविड के अधिक मरीज आ रहे हैं वहां कंटेंटमेंट बनाकर व्यापक सर्वे का कार्य कर लक्षण वाले मरीजों का चिन्हांकन करें। कलेक्टर ने वैक्सीनेशन कार्य की भी समीक्षा की। बैठक में जिला पंचायत सीईओ सच्चिदानंद आलोक, एसडीएम विपुल गुप्ता, बीएमओ डॉ. आशीष शर्मा सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

02-04-2021
राजधानी के अस्पतालों में बेड फुल, इन 5 कॉलेज व हॉस्टलों को बनाया जाएगा कोविड सेंटर

रायपुर। राज्य में कोरोना संक्रमण में फिर तेजी आ गई है। कोरोना 2.0 में मृत्यु दर पहले के मुकाबले ज्यादा है। रायपुर और दुर्ग का हालत दिन-प्रतिदिन बदतर होती जा रही है। रायपुर के अस्पतालों में अब बेड खाली नहीं बचे हैं। एम्स और मेकाहारा के साथ-साथ माना के कोविड अस्पताल भर चुके हैं। वहीं वेटिंलेंटर और आक्सीजन बेड में जगह नहीं बची है, आईसीयू में भी जगह नहीं बची है। कोरोना की खतरनाक रफ्तार के बीच जिला प्रशासन ने रायपुर के 5 कॉलेज और हास्टलों को आइसोलेशन और कोविड सेंटर बनाने के लिए अधिगृहित किया है। जिन हास्टल और कॉलेज को अधिगृहित किया गया है, उनमें आयुष विश्वविद्यालय नया रायपुर, नया रायपुर के सेक्टर 40 स्थित होटल मैनेजमेंट, वीआईपी रोड स्थित वूमेन हॉस्टल, प्रयास महिला छात्रावास गुढ़ियारी, प्रयास बालक छात्रावास सड्डू शामिल हैं। रायपुर नगर निगम को कोविड केयर सेंटर व आईसोलेशन वार्ड तैयार करने के लिए नोडल एजेंसी बनाया गया है। नगर निगम रायपुर,  स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ मिलकर सेंटर तैयार करेगा।

30-03-2021
दुर्ग में 23 सेंटरों पर होगा वैक्सीनेशन, अरुण वोरा के आग्रह पर सिंहदेव ने दिए बेड बढ़ाने के निर्देश

दुर्ग। कांग्रेस विधायक अरुण वोरा तीन दिनों में दूसरी बार सीएमएचओ कार्यालय समीक्षा करने पहुंचे। शहर में तेजी से फैल रहे संक्रमण को काबू करने की रणनीति बनाने बैठक हुई। बैठक में महापौर धीरज बाकलीवाल, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ गंभीर सिंह ठाकुर, निगम आयुक्त हरेश मंडावी  शामिल हुए। विधायक वोरा ने मौके पर से ही स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से बात करते हुए शहर में विस्फोटक रूप ले रहे कोरोना की वस्तुस्थिति की जानकारी देते हुए अस्पतालों में ऑक्सीजन एवं आईसीयू बेड बढ़ाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि पॉजिटिव मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है। स्थिति भयावह ना हो उसके लिए हर परिस्थिति के लिए तैयार रहने की आवश्यकता है। कोरोना से संक्रमण की टेस्टिंग, इलाज और वैक्सीनेशन तीनों मोर्चों पर सुदृढ व्यवस्था करना जरूरी है। इसके लिए बिस्तरों के अलावा टेस्टिंग एवं वैक्सीनेशन सेंटरों को भी बढ़ाया जाए। वोरा के आग्रह पर सिंहदेव ने सीएमएचओ डॉ ठाकुर को प्रतिदिन आ रहे केसेस से तीन गुना अधिक बिस्तरों की व्यवस्था करने के निर्देश देते हुए कहा कि प्रति 1000 पॉजिटिव केस पर 3000 बिस्तरों की व्यवस्था होनी चाहिए।

साथ ही वैक्सीनेशन सेंटर बढ़ाने के भी निर्देश दिए। स्वास्थ्य मंत्री के हस्तक्षेप के बाद शहर में 4 की जगह अब 23 स्थानों में टीकाकरण की सुविधा मिलेगी। इनमें शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र धमधा नाका, बघेरा एवं पोटियकला के अलावा शहरी स्वास्थ्य केंद्र गया नगर, शिक्षक नगर, तकियापरा, शंकर नगर, कसार समाज भवन के पीछे वार्ड 9, 10, शक्तिनगर, सिंधिया नगर कुशाभाऊ ठाकरे भवन के पास, वार्ड 24 आंगनबाड़ी के पास, सुभाष स्कूल के पास, पोलसाय पारा, शनिचरी बाजार, गंजमंडी के पीछे, वार्ड 42,43,44 अम्बेडकर भवन, विवेकानंद भवन, बोरसी जोन कार्यालय, पुलगांव, उरला वार्ड कार्यालय, कातुलबोड, आयुष बिल्डिंग जिला अस्पताल, व जेआरडी भवन जिला अस्पताल सहित कुल 23 सेंटर शामिल हैं। बैठक में निगम के कार्यपालन अभियंता मोहनपुरी गोस्वामी, एमआईसी मनदीप भाटिया, पूर्व पार्षद राजेश शर्मा एवं एल्डरमैन अंशुल पांडेय मौजूद थे।

27-10-2020
18 कोविड पॉजिटिव डिस्चार्ज,24 नए मरीज भर्ती, 213 का उपचार जारी,793 बेड रिक्त

जांजगीर चांपा। कोविड अस्पतालों से मंगलवार को 18 कोरोना पॉजिटिव मरीजों के सफल इलाज के बाद स्वस्थ होने पर उन्हें डिस्चार्ज किया गया वहीं 24 कोविड-19 पॉजिटिव मरीज इलाज के लिए भर्ती किए गए। कलेक्टर यशवंत कुमार के मार्गदर्शन में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए कोविड अस्पताल और 9 कोविड केयर सेंटर में उपचार की व्यवस्था की गई है। इनमें से 213  बेड पर मरीजों का उपचार किया जा रहा है और- 793 बेड रिक्त है।
कोविड केयर सेंटर्स के नोडल अधिकारी ने बताया कि 27 अक्टूबर को शाम 5 बजे की स्थिति में जिला अस्पताल परिसर के कोविड अस्पताल में 24 मरीज भर्ती है। इसी प्रकार आईटीआई कुलीपोटा में  13, आकांक्षा परिसर जर्वे में 9, शासकीय क्रांति कुमार भारती महाविद्यालय जेठा सक्ती में 23,शासकीय अनुसूचित जाति बालक आश्रम धौराभाठा डभरा में 32, आईटीआई अकलतरा में 40,दिव्यांग स्कूल पेण्ड्रीभाठा में  45 और आईटीआई भवन महुदा-बलौदा मे 14 मरीजों का उपचार किया जा रहा है। कृषि महाविद्यालय बालक छात्रावास भवन जर्वे और शासकीय एमएमआर महाविद्यालय चांपा के सभी बेड रिक्त है। कोविड अस्पताल और कोविड केयर सेंटर्स में उपलब्ध बेड की संख्या प्रतिदिन जिले की वेबसाइट में उपलब्ध कराई जा रही है।

 

17-09-2020
कोविड अस्पताल और 9 कोविड केयर सेंटर्स में कुल 1058 बेड,635 मरीजों का उपचार जारी, 423 बेड रिक्त

जांजगीर चांपा। कलेक्टर यशवंत कुमार के मार्गदर्शन में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए कोविड अस्पताल  और 9 कोविड केयर सेंटर में कुल 1058 बेड की व्यवस्था की गई है। इनमें से 635 बेड पर मरीजों का उपचार किया जा रहा है एवं 423 बेड रिक्त है। कोविड अस्पताल और 9 कोविड केयर सेंटर्स में स्वास्थ्य विभाग के प्रोटोकाल अनुसार समुचित व्यवस्था की गई है। कोविड केयर सेंटर्स के नोडल अधिकारी डिप्टी कलेक्टर करूण डहरिया से प्राप्त जानकारी के अनुसार 17 सितंबर को शाम 4 बजे की स्थिति में जिला अस्पताल परिसर के कोविड अस्पताल में 80 बेड उपलब्ध है, इनमें 56 मरीज भर्ती है। इसी प्रकार आईटीआई कुलीपोटा में 150 बेड हैं इनमें 86 मरीजो का उपचार जारी हैं। आकांक्षा परिसर जर्वे में 100 बेड की क्षमता है, वहां पर 67 मरीजों का उपचार जारी है।

दिव्यांग स्कूल पेण्ड्रीभाठा में 128 बेड की व्यवस्था है, जिस पर 117 में मरीज भर्ती हैं। कृषि महाविद्यालय बालक छात्रावास भवन जर्वे के 35 बेड सभी रिक्त है। शासकीय एमएमआर महाविद्यालय चांपा में 130 बेड की व्यवस्था है,जिनमें 107 पर मरीज भर्ती  है। शासकीय क्रांतिकारी भारती महाविद्यालय जेठा सक्ती में 60 बेड उपलब्ध है, इनमें 46 मरीज भर्ती है। शासकीय अनुसूचित जाति बालक आश्रम धौराभाठा डभरा में 100 बेड है, जिनमें 60 में मरीजों का उपचार किया जा रहा है। आईटीआई अकलतरा में 125 बेड हैं जिनमें 74 मरीज भर्ती हैं और आईटीआई भवन महुदा-बलौदा मे 150 बेड की व्यवस्था है। इसमें 26 मरीज भर्ती है। कोविड अस्पताल और कोविड केयर सेंटर्स में उपलब्ध बेड की संख्या प्रतिदिन जिले की वेबसाईट https://janjgir-champa.gov.in/  मे उपलब्ध कराई जा रही है।

 

14-09-2020
कोविड अस्पताल और 8 कोविड केयर सेंटर्स में 377 बेड रिक्त, 501 मरीजों का उपचार जारी

जांजगीर चांपा। कलेक्टर यशवंत कुमार के मार्गनिर्देशन में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए कोविड अस्पताल  और 8 कोविड केयर सेंटर में कुल 878 बेड की व्यवस्था की गई है। जिनमें से 501 बेड पर मरीजों का उपचार किया जा रहा है एवं 377 बेड रिक्त है। कोविड अस्पताल और 8 कोविड केयर सेंटर्स में स्वास्थ्य विभाग के प्रोटोकाल अनुसार समुचित व्यवस्था की गई है। कोविड केयर सेंटर्स के नोडल अधिकारी डिप्टी कलेक्टर करूण डहरिया से प्राप्त जानकारी के अनुसार 14 सितंबर की शाम 4 बजे की स्थिति में जिला अस्पताल परिसर के कोविड अस्पताल में 80 बेड उपलब्ध है, इनमें 53 मरीज भर्ती है।

इसी प्रकार आईटीआई कुलीपोटा में 150 बेड हैं, इनमें 94 मरीजों का उपचार जारी हैं। आकांक्षा परिसर जर्वे में 100 बेड की क्षमता है, वहां पर 71 मरीजों का उपचार जारी है। दिव्यांग स्कूल पेण्ड्रीभाठा में 128 बेड की व्यवस्था है,जिस पर 112 में मरीज भर्ती हैं। कृषि महाविद्यालय बालक छात्रावास भवन जर्वे के 58 बेड सभी रिक्त है। शासकीय एमएमआर महाविद्यालय चांपा में 130 बेड की व्यवस्था है, जिनमें 91 पर मरीज भर्ती है। शासकीय क्रांतिकारी भारती महाविद्यालय जेठा सक्ती में 60 बेड उपलब्ध है, इनमें 19 मरीज भर्ती है। शासकीय अनुसूचित जाति बालक आश्रम धौराभाठा डभरा में 100 बेड है, जिनमें 28 में मरीजों का उपचार किया जा रहा है। आईटीआई अकलतरा में 95 बेड हैं जिनमें 33 मरीज भर्ती हैं। कोविड अस्पताल और कोविड केयर सेंटर्स में उपलब्ध बेड की संख्या प्रतिदिन जिले की वेबसाईट मे उपलब्ध कराई जा रही है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804