GLIBS
22-06-2021
नर्सिंग यूनियन की मांग पूरी, स्वास्थ्य मंत्री का जताया आभार

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश स्वास्थ्य नर्सिंग संगठन 29 मई को आयुष हेल्थ यूनिवर्सिटी नर्सिंग के वार्षिक परीक्षा की लेटलतीफी जल्द परीक्षा कराने को लेकर स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा था। बता दें कि नर्सिंग यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष अजय त्रिपाठी ने मंत्री टीएस सिंहदेव से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा था। इसका परिणाम स्वास्थ्य मंत्री कमेटी ने विचार कर समय सारणी बीएससी नर्सिंग, एमएससी नर्सिंग, पोस्ट बेसिक नर्सिंग, नियमानुसार जारी किया। संगठन के अध्यक्ष अजय त्रिपाठी ने प्रदेश के समस्त छात्र-छात्राओं के उज्ज्वल भविष्य की कामनाओं के साथ बधाई दी। स्वास्थ्य मंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया।

22-06-2021
Video: छत्तीसगढ़ में अब तक 1 करोड़ से अधिक कोरोना सैंपलों की जांच, टीएस सिंहदेव ने स्टाफ का माना आभार 

रायपुर। छत्तीसगढ़ में 1 करोड़ कोविड टेस्ट हो चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने वीडियो संदेश के माध्यम से प्रबंधन से जुड़े अधिकारियों व कर्मचारियों के प्रति आभार व्यक्त किया है। राज्य में कोरोना संक्रमण की शुरुआत से लेकर अब तक प्रति दस लाख की आबादी में कुल कोरोना जांच राष्ट्रीय औसत से आगे हैं। यहां प्रति दस लाख की जनसंख्या में औसत सैंपल जांच 3 लाख 48 हजार 938 है, जबकि राष्ट्रीय स्तर पर अब तक औसत 2 लाख 94 हजार 402 सैंपलों की जांच हुई है।
स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक प्रदेश में अब तक 1 करोड़ से ज्यादा सैंपलों की जांच की गई है। आरटीपीसीआर जांच के माध्यम से 25 लाख 3 हजार 108, ट्रू-नाट विधि से 9 लाख 35 हजार 284 और रैपिड एंटीजन किट के माध्यम से 65 लाख 84 हजार 301 सैंपलों की जांच की गई है। इस तरह कुल 1 करोड़ 22 हजार 693 सैंपलों की जांच अब तक की जा चुकी है। राज्य में आरटीपीसीआर जांच के साथ ही ट्रू-नाट विधि से सैंपल जांच की क्षमता में लगातार वृद्धि हुई है। 
एम्स रायपुर और दस अन्य शासकीय मेडिकल कॉलेजों और निजी क्षेत्र के 6 लैबों में आरटीपीसीआर जांच की सुविधा है। दुर्ग,बलौदाबाजार, जांजगीर-चांपा,जशपुर और दंतेवाड़ा जिलों में भी जल्द ही आरटीपीसीआर टेस्टिंग शुरू हो जाएगी। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की शुरुआत के समय मार्च-2020 में केवल एम्स रायपुर में ही आरटीपीसीआर जांच की सुविधा थी। अब राज्य में सभी शासकीय चिकित्सा महाविद्यालयों में भी आरटीपीसीआर जांच की सुविधा उपलब्ध है। प्रदेश के 33 सरकारी और 7 निजी लैबों में ट्रू-नाट विधि से सैंपल जांच की जा रही है। सभी जिलों में अतिरिक्त मशीनें उपलब्ध कराकर ट्रू-नाट लैबों की क्षमता भी प्रदेश में बढ़ाई गई है। रैपिड एंटीजन किट से भी सभी जिलों में कोरोना सैंपलों की जांच की जारी है। जिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से लेकर उप-स्वास्थ केंद्र तक कोरोना जांच की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है

15-06-2021
मंत्री सिंहदेव ने कहा, मैं दिल्ली नहीं गया हूं, सोशल मीडिया पर झूठी खबरें हो रही वायरल

रायपुर। प्रदेश प्रवास पर आए पीएल पुनिया से आज छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने मुलाकात की। मंत्री टीएस सिंहदेव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैं दिल्ली नहीं गया हूं। सोशल मीडिया पर गलत खबरें फैलाई गई है। बता दें कि सोशल मीडिया पर कुछ मीडिया संस्थान का स्क्रीनशॉट वायरल किया जा रहा है। वायरल स्क्रीनशॉट में यह दावा किया जा रहा है कि प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव अपने समर्थकों के साथ दिल्ली रवाना हुए हैं। यहां वे आलाकमान से मुलाकात कर चर्चा करेंगे।

 

24-05-2021
Video: विकास उपाध्याय ने डाॅक्टरों की ली बैठक, डॉ. नागरकर ने कहा- तीसरी लहर के लिए है पूरी तैयारी 

रायपुर। संसदीय सचिव एवं विधायक विकास उपाध्याय ने सोमवार को एम्स के डायरेक्टर डाॅ. नितिन एम नागरकर सहित तमाम बड़े डाॅक्टरों की बैठक ली। उन्होंने एम्स में बैठक लेकर कोरोना की भविष्य में किसी तीसरी फेस से जूझने तैयारियों की समीक्षा की। विकास उपाध्याय ने एम्स के डाॅक्टरों से  कहा कि कोरोना काल में जिस मुस्तैदी के साथ एम्स परिवार ने काम किया है, उसे नहीं भुलाया जा सकता। पीड़ितों को राहत पहुंचाने में एम्स के डाॅक्टरों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। अब हम इस संक्रमण के तीसरे फेस से जूझने तैयार रहने की जरूरत है। एम्स के डाॅक्टरों ने कहा कि इस तरह की किसी परिस्थिति से सामना करने उनकी पूरी तैयारी है।

विकास उपाध्याय इस संबंध में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से भी सोमवार शाम मुलाकात कर विस्तृत चर्चा करेंगे। विकास उपाध्याय ने कोरोना की संभावित तीसरी फेस लोगों को निजात दिलाने की तैयारी शुरू कर दी है। आज वे इस संबंध में एम्स पहुंचे। उन्होंने आज इस संबंध में एम्स के डायरेक्टर डाॅ. नागरकर सहित विभिन्न विभाग के विशेषज्ञ चिकित्सकों से चर्चा के। उन्होंने डाॅक्टरों से पूछा, आज हम छत्तीसगढ़ में संक्रमण के दूसरे फेस को पार कर चूके हैं, परन्तु किसी तीसरे फेस की संभावना से इंकार नहीं कर सकते। इस बीच ब्लैक और व्हाइट फंगस के मरीजों की संख्या जिस तरह से बढ़ते जा रही है, इसकी एम्स की क्या तैयारी है? दवाइयों की क्या व्यवस्था है, भविष्य में बच्चों पर यह संक्रमण होता है तो कितने बच्चों को उपचार दे सकते हैं, इन तमाम बातों पर उन्होंने डाॅक्टरों से चर्चा की।

एम्स के डाॅक्टरों ने विकास उपाध्याय को सिलसिलेवार जानकारी दी। उन्होंने बताया कि एम्स संक्रमण के तीसरे लहर को लेकर पूरी तरह मुस्तैदी से तैयार है। खासकर बच्चों को यह संक्रमण प्रभावित करता है तो एम्स की पूरी तैयारी है कि आवश्यकतानुसार इन्हें आईसीयू, एनआईसीयू, पीएनआईसीयू का इंतजाम अभी से कर लिया गया है। डाॅक्टरों ने यह भी बताया, एम्स जरुरत के अनुसार एमरजेंसी से संबंधित मेडिकल व्यवस्था बढ़ा सकती है, जिसकी भी तैयारी कर ली गई है। उन्होंने कहा, ब्लैक एवं वाइट फंगस को लेकर एम्स में पर्याप्त मेडिसिन और आवश्यक इंजेक्शन की व्यवस्था मौजूद है। विकास उपाध्याय को डाॅक्टरों ने जानकारी दी कि दूसरे लहर के संक्रमित मरीजों की संख्या काफी हद तक कम हो गई है।अधिकांश आईसीयू एवं वेंटीलेटर खाली हैं, बावजूद किसी तरह की नए संक्रमितों के लिए हमारी तैयारी हमेशा है। विकास उपाध्याय ने एम्स के डाॅक्टरों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए महामारी के इस संक्रमण काल में उनके योगदान की प्रशंसा की।

14-05-2021
Breaking : ग्लोबल टेंडर पर सीएम बघेल ने स्वास्थ्य मंत्री से की चर्चा, विदेशों से वैक्सीन खरीद सकती है राज्य सरकार

रायपुर। राज्य सरकार विदेशों से वैक्सीन खरीदने की तैयारी में हैं। बता दें कि वैक्सीन की ग्लोबल टेंडर के लिए सीएम भूपेश बघेल ने स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से चर्चा की है। टीएस सिंहदेव ने कहा कि वैक्सीन की ग्लोबल टेंडर पर सीएम भूपेश बघेल ने चर्चा की है। इसमें विदेशों से वैक्सीन खरीदने को लेकर बात हुई। फिलहाल ग्लोबल टेंडर करने वाले राज्यों की रिपोर्ट देखेंगे। इसके बाद खरीदी की प्रोसेस आगे बढ़ाई जाएगी। उन्होंने कहा कि केंद्र को एक एजेंसी से ग्लोबल टेंडर करना चाहिए। इससे राज्यों में दाम को लेकर प्रतिस्पर्धा नहीं होगी। केंद्र टेंडर करें फिर सभी राज्यों से पेमेंट मांग लें।

10-05-2021
टीएस सिंहदेव ने ली बैठक, कोरोना जांच और टीकाकरण प्रगति की समीक्षा कर दिए आवश्यक निर्देश 

रायपुर। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने सोमवार को स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ प्रदेश में कोरोना जांच एवं टीकाकरण की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने सिविल लाइन स्थित नवीन विश्राम भवन में आयोजित समीक्षा बैठक में सभी वर्गों के टीकाकरण में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने नागरिकों के लिए सुविधाजनक जगहों और भवनों में टीकाकरण केंद्र स्थापित करने कहा। उन्होंने टीकाकरण केन्द्रों में सभी जरूरी सुविधाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए ताकि टीकाकरण के लिए पहुंचने वाले लोगों को किसी तरह की परेशानी न हो। 

स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेस कापोर्रेशन को टीका बनाने वाली दोनों कंपनियों के साथ समन्वय कर 18 वर्ष से 44 वर्ष आयु वर्ग के लिए ज्यादा से ज्यादा संख्या में टीकों की व्यवस्था करने कहा। उन्होंने टीकाकरण के लिए आवश्यक कन्ज्युमेबल्स (उङ्मल्ल२४ेुं’ी२) भी पर्याप्त संख्या में भंडारित करने कहा।

स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने बैठक में बताया कि 18 वर्ष से 44 वर्ष के लोगों के टीकाकरण के लिए भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट आॅफ इंडिया को 75-75 लाख टीकों की आपूर्ति के लिए कहा गया है। उन्होंने 9 लाख टीके इसी महीने मिलने की उम्मीद जताई। कोरोना टीकाकरण की राज्य नोडल अधिकारी डॉ. प्रियंका शुक्ला ने जानकारी दी कि प्रदेश में 9 मई तक 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के 1 लाख 9 हजार 869 व्यक्तियों को टीका लगाया जा चुका है। स्वास्थ्य् ाकर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स, 45 वर्ष से अधिक के नागरिकों और 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग को मिलाकर प्रदेश में अब तक कोरोना से बचाव के कुल 59 लाख 36 हजार टीके लगाए गए हैं। 
समीक्षा बैठक में स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला, सचिव शहला निगार, स्वास्थ्य सेवाओं के संचालक नीरज बंसोड़, छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेस कॉपोर्रेशन के प्रबंध संचालक कार्तिकेय गोयल और खाद्य एवं औषधि प्रशासन के नियंत्रक केड कुंजाम भी शामिल हुए।

10-05-2021
टीएस सिंहदेव ने वैक्सीनेशन केंद्रों का किया औचक निरीक्षण, व्यवस्थाओं को और बेहतर करने दिए निर्देश

रायपुर। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने सोमवार दोपहर राजधानी के दो वैक्सीनेशन सेंटर्स का औचक निरक्षण किया। वे दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम पहुंचे। यहां संचालित टीकाकरण केंद्र पहुंचकर उन्होंने उपस्थित स्वास्थ्यकर्मियों से चर्चा की। इस दौरान कोविड उपयुक्त व्यवहार के साथ की गई व्यवस्थाओं की समीक्षा की। उन्होंने क्रमबद्ध तरीके से व्यवस्थाओं का अवलोकन किया।

स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने टीका लगवाने आए 18-44 आयुवर्ग के प्रदेशवासियों से चर्चा कर उनकी प्रतिक्रिया ली। इसके बाद वे शंकरनगर स्थित बीटीआई ग्राउंड में निर्मित वैक्सीनेशन केंद्र पहुंचे। यहां उपस्थित स्वास्थ्यकर्मियों से चर्चा के दौरान उन्होंने टीका लगवाने पहुंच रहे लोगों की संख्या व विभाग की ओर से की गई व्यवस्थाओं की भी समीक्षा की। इसके साथ ही उन्होंने टीकाकरण में जुड़े स्वास्थ्यकर्मियों के लिए भोजन आदि की व्यवस्था की जानकारी भी प्राप्त की। टीएस सिंहदेव ने इस केंद्र में पहुंचे अंत्योदय वर्ग व अन्य लोगों से संवाद करते हुए उनके विचार जाने और व्यवस्थाओं को और बेहतर करने की दिशा में आवश्यक दिशानिर्देश दिए।

01-05-2021
Breaking : 18 प्लस वैक्सीनेशन आज से शुरू, प्रदेश में पहले अंत्योदय कार्डधारकों को लगेगी वैक्सीन

रायपुर। देशभर में शनिवार से 18 साल से अधिक उम्र वालों को वैक्सीन की डोज दी जाएगी। इसी कड़ी में प्रदेश में आज से 18 प्लस वालों का वैक्सीनेशन किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने जानकारी देते हुए बताया कि पहले अंत्योदय कार्डधारकों का वैक्सीनेशन किया जाएगा। गौरतलब है कि वैक्सीनेशन को लेकर सीएम भूपेश बघेल ने अधिकारियों की बैठक बुलाई थी, जिसमें स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव भी मौजूद रहे।

30-04-2021
Breaking : स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव आज वायरोलाॅजी लैब का करेंगे उद्घाटन

रायपुर। राज्य में अब कांकेर, महासमुंद जिले में भी आरटी—पीसीआर जांच लैब स्थापित हो गए हैं। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव शुक्रवार को वायरोलाॅजी लैब का उद्घाटन करेंगे। गौरतलब है कि एम्स के अलावा 6 मेडिकल कॉलेजों में आरटीपीसीआर जांच सुविधा है।

27-04-2021
टीएस सिंहदेव ने जिला चिकित्सा अधिकारियों से की महत्वपूर्ण चर्चा, दिए आवश्यक निर्देश 

रायपुर। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने मंगलवार को अपने सिविल लाइंस स्थित निवास से जिलों में कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति की समीक्षा करने बैठक ली। वर्चुअल बैठक में उन्होंने जिलों में कोरोना संक्रमण की जांच, पॉजिटिविटी दर और कार्ययोजना की जानकारी प्राप्त की। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने सभी जिलों में चिकित्सा उपकरणों और 5 व 10 लीटर ऑक्सीजन कॉनसन्ट्रेटर की विषय में बात की। उपयोग में लिए जा रहे उपकरणों की जानकारी ली। इसके बाद उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में आ रहे पॉजिटिव मरीजों की जानकारी लेकर कांटेक्ट ट्रेसिंग को बढ़ावा देने की बात कही। 

उन्होंने कहा कि डेडिकेटेड कोविड अस्पताल और कोविड केयर सेंटर में व्यवस्थाओं में बेहतर प्रबंधन बनाकर मरीजों की ट्रेसिंग जल्द से जल्द करना आवश्यक है। ज्यादातर मरीज देर से अस्पताल पहुंचते हैं जिससे परिस्थिति कठिन हो जाती है। इसके साथ ही होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों पर भी विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। इसके उपरांत स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने सभी जिले के अधिकारियों को कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए आवश्यक दिशानिर्देश दिए।

23-04-2021
टीएस सिंहदेव ने कहा-अब ऐसा लगता है कि भाजपा के वरिष्ठ जनप्रतिनिधि दुष्प्रचार में संलग्न

रायपुर । स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर के प्रश्न का जवाब भी दिया। सिंहदेव ने कहा है कि पूर्व में ऐसा महसूस होता था कि सकारात्मक सुझाव मिल रहे हैं। साथ मिलकर कार्य हो रहे हैं लेकिन अब ऐसा लगता है कि भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ जनप्रतिनिधि दुष्प्रचार में संलग्न हो गए हैं। ऐसा प्रतीत होता है कि जैसे सोची-समझी किसी रणनीति के तहत गलत तथ्यों को प्रस्तुत किया जा रहा है। ऐसा कर वे छत्तीसगढ़ सरकार और छत्तीसगढ़ सरकार के स्वास्थ्य विभाग के कार्यों को कमतर बताने का प्रयास कर रहे हैं।

 सिंहदेव ने बताया कि 22 मार्च को महाराष्ट्र सरकार ने 595 रुपए  में रेमडेसिविर खरीदी तो इसकी जगह पर 16 अप्रैल को छत्तीसगढ़ सरकार ने 1400 में रेमडेसिविर इसलिए खरीदी है क्योंकि बाजार में सामान का दाम परिस्थिति के अनुसार बदलते रहता है। दवाओं पर भी यह प्रभाव पड़ता है। यही हालात रेमडेसिविर दवा के साथ भी उत्पन्न हुए हैं। छत्तीसगढ़ सरकार ने सिपला कंपनी के साथ अनुबंध किया हुआ था,जिसे पूरा करने में कम्पनी पीछे  हट गई थी। उन्होंने बताया  कि इस दौरान छत्तीसगढ़ में रेमडेसिविर की अत्यंत आवश्यकता थी।  इस जरूरत और जनभावना को देखकर हमारी सरकार ने इमरजेंसी टेंडर बुलवाया था।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804