GLIBS

'ब्लैक डे' नहीं प्रधानमंत्री के खिलाफ 'ब्लैक वीक' मनाएं युवा कांग्रेस देगी साथ : कोको पाढ़ी

रविशंकर शर्मा  | 07 May , 2021 04:24 PM
'ब्लैक डे' नहीं प्रधानमंत्री के खिलाफ 'ब्लैक वीक' मनाएं युवा कांग्रेस देगी साथ : कोको पाढ़ी

रायपुर। छत्तीसगढ़ युवा कांग्रेस ने भारतीय जनता युवा मोर्चा की ओर से मनाए जा रहे ब्लैक डे को युवाओं को ठगने वाला एक और ड्रामा करार दिया है। छत्तीसगढ़ युवा कांग्रेस के अध्यक्ष पूर्णचंद(कोको) पाढ़ी ने कहा है कि मोदी सरकार की नाकामियों की वजह से आज देश भर में वैक्सीनों की कमी है और देश मे वैक्सीनेशन की रफ्तार बहुत धीमी है।भाजयुमो के नेता शायद इस बात को भूल रहे हैं कि कांग्रेस पार्टी की ओर से राहुल गांधी के नेतृत्व में युवाओं के वैक्सीनेशन के लिए लगातार मांग उठाई गई। तब दबाव में आई मोदी सरकार को अंतत: 18 से 45 वर्ष के आयुवर्ग के युवाओं के वैक्सीनेशन की मंजूरी देनी पड़ी। यह मोदी सरकार की अपरिपक्वता और अदूरदर्शिता थी कि मोदी सरकार ने अपनी वैश्विक छवि गढ़ने के लिए देश की जनता को गौण समझते हुए 6करोड़ से अधिक डोज विदेशों को निर्यात कर दिए। बिना कोई योजना बनाए, बिना वैक्सिनों की उपलब्धता सुनिश्चित किए 1 मई से युवा वर्ग के वैक्सीनेशन की घोषणा की गई। आज स्थिति यह है कि मोदी सरकार ने युवाओं के वैक्सीनेशन के लिए हाथ खड़े कर दिए हैं।

छत्तीसगढ़ सरकार ने अपने युवाओं की चिंता करते हुए 50 लाख से अधिक वैक्सीन डोज के ऑर्डर दिए हैं। इनमे से केवल 1.5 लाख डोज ही सरकार को मिल सकी है। इसमें छत्तीसगढ़ के सम्पूर्ण युवाओं का वैक्सीनेशन संभव नहीं है। ऐसे में छत्तीसगढ़ सरकार ने अंत्योदयकार्डधारियों को प्राथमिकता देते हुए उनके वैक्सीनेशन की पहल की थी। तब भाजपा नेताओं के पेट में मरोड़ उठने लगी। कोई भी भाजपा शासित राज्यों में अब तक 18 से 45 वर्ष आयुवर्ग के युवाओं के वैक्सीनेशन की शुरुआत नहीं कर पाया है। यदि भाजयुमो युवाओं की इतनी ही हितैषी है तो क्यों वह यह ब्लैक डे मोदी सरकार के खिलाफ नहीं मनाती? क्यों मोदी सरकार के खिलाफ धरना देकर युवाओं के लिए वैक्सीन उपलब्ध कराने की मांग नहीं करती ? यदि भाजयुमो को युवाओं से इतना स्नेह है तो वह मोदी सरकार के खिलाफ ब्लैक डे नहीं ब्लैक वीक मनाएं छत्तीसगढ़ युवा कांग्रेस कंधे से कंधा मिला कर मोदी सरकार से युवाओं के हक की यह लड़ाई लड़ेगी।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.