GLIBS
26-02-2021
सदन में अजय चंद्राकर ने शराब पर लिए जाने वाले सेस की राशि का दूसरे मद में खर्च करने का लगाया आरोप
रा
01:40pm

रायपुर। शराब पर लिए जाने वाले सेस की राशि का दूसरे मद में खर्च करने का आरोप लगाते हुए बीजेपी विधायक अजय चंद्राकर ने जेपीसी जांच की मांग की है। इसे गंभीर अनियमतता बताते हुए करीबन साढ़े पांच सौ करोड़ रुपए की हेराफेरी की बात कही। मंत्री रविन्द्र चौबे के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष ने बहिर्गमन किया। अजय चंद्राकर ने प्रश्नकाल में कहा कि यह गंभीर अनियमितता है। गौठान विकास के लिए शराब पर सेस लगाया गया, लेकिन गोधन न्याय योजना में भी राशि खर्च की गई। अधिसूचना में स्पष्ट है कि जिस मद के लिए सेस लिया जा रहा है, उस पर ही खर्च करना है। करीब साढ़े पांच सौ करोड़ की हेराफेरी हुई है। कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने अपने जवाब में कहा कि गोधन या गौठान योजना को अलग अलग देखना उचित नहीं है। इस उद्देश्य से शराब पर सेस लगाया गया है, उसी उद्देश्य के तहत खर्च किया जा रहा है। गोबर खरीदी योजना से आप लोगों को दिक्कत क्यों हैं। गरीबों के जेब में पैसा जा रहा है। चौबे ने चुटकी लेते हुए कहा कि गडकरी जी सुनेंगे तो आप लोगों की क्लास लगा देंगे।

26-02-2021
विधानसभा बजट सत्र : छत्तीसगढ़ राज्य का आर्थिक सर्वेक्षण वर्ष 2020-21 सदन में पेश 
रा
01:37pm

रायपुर। विधानसभा बजट सत्र के पांचवे दिन शुक्रवार को छत्तीसगढ़ राज्य का आर्थिक सर्वेक्षण वर्ष 2020-21 पटल पर प्रस्तुत किया गया। मंत्री अमरजीत भगत ने सदन में रिपोर्ट पेश की। 

1. सकल राज्य घरेलू उत्पाद वर्ष 2020-21 में प्रगति की संभावनाएं : 

(स्थिर भावों पर वर्ष 2011-12)- अग्रिम अनुमान वर्ष 2020-21 में सकल राज्य घरेलू उत्पाद बाजार मूल्य पर गत वर्ष 2019-20 की तुलना में -1.77 प्रतिशत कमी अनुमानित है। इसमें कृषि एवं संबद्ध क्षेत्र (कृषि, पशुपालन, मत्स्य एवं वन) में 4.61 प्रतिशत वृद्धि, उद्योग क्षेत्र (निर्माण, विनिर्माण, खनन एवं उत्खनन, विद्युत, गैस तथा जल आपूर्ति सम्मिलित) -5.28 प्रतिशत कमी व सेवा क्षेत्र  में 0.75 प्रतिशत वृद्धि अनुमानित है। 

2. सकल राज्य घरेलू उत्पाद वर्ष 2020-21 में प्रगति की संभावनाएं प्रचलित भावों पर :

अग्रिम अनुमान वर्ष 2020-21 में सकल राज्य घरेलू उत्पाद (बाजार मूल्य)पर गत वर्ष 2019-20 के तीन लाख चवालिस हजार नौ सौ पचपन करोड़ से बढ़कर तीन लाख पचास हजार दो सौ सत्तर करोड़ होना संभावित है। जो कि  1.54 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है। इसमें वर्ष 2019-20 में कृषि एवं संबद्ध क्षेत्र (कृषि, पशुपालन, मत्स्य एवं वन) में सड़सठ हजार पच्चीस करोड़ रुपए से बढ़कर वर्ष 2020-21 में तिहत्तर हजार नौ सौ चौरानबे करोड़ रुपए, इसी प्रकार उद्योग क्षेत्र (निर्माण, विनिर्माण, खनन एवं उत्खनन, विद्युत, गैस तथा जल आपूर्ति सम्मिलित) में एक लाख तैतीस हजार छ: सौ अस्सी करोड़ रुपए से घटकर एक लाख उनतीस हजार दो सौ ग्यारह करोड़ रुपए व सेवा क्षेत्र में एक लाख अठारह हजार नौ सौ सत्रह करोड़ रुपए से बढ़कर एक लाख बाइस हजार आठ सौ तिरानबे करोड़ रुपए होना संभावित है। जो कि गत वर्ष की तुलना में प्रतिशत वृद्धि/कमी क्रमश: 10.40, -3.34 व 3.34 आंकलित है।

3. वर्ष 2019-20 में सकल राज्य घरेलू उत्पाद के त्वरित अनुमान स्थिर भावों (आधार वर्ष 2011-12) पर :

राज्य के सकल घरेलू उत्पाद बाजार मूल्य त्वरित अनुमान के अनुसार गत वर्ष 2018-19 की तुलना में वर्ष 2019-20 में  5.12 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इसमें कृषि एवं संबद्ध क्षेत्र (कृषि, पशुपालन, मत्स्य एवं वन) में 3.67 प्रतिशत, उद्योग क्षेत्र (निर्माण, विनिर्माण, खनन एवं उत्खनन, विद्युत, गैस तथा जल आपूर्ति सम्मिलित) में 3.43 प्रतिशत एवं सेवा क्षेत्र में 7.71 प्रतिशत वृद्धि हुई है।

4.  प्रति व्यक्ति आय (निवल राज्य घरेलू उत्पाद प्रचलित भावों पर)

प्रति व्यक्ति आय वर्ष 2019-20 के त्वरित अनुमान के अनुसार एक लाख पांच हजार नवासी रुपए से घटकर वर्ष 2020-21 में एक लाख चार हजार नौ सौ तिरालिस रुपए होना अनुमानित है, जो पिछले वर्ष की तुलना में -0.14 प्रतिशत कमी दर्शाता है।

26-02-2021
सदन में गूंजा किसानों की आत्महत्या का मामला,कृषि मंत्री के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष ने किया वॉकआउट 
रा
12:54pm

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र का पांचवा दिन हंगामेदार रहा। किसानों की आत्महत्या का मामला सदन में गूंजा। भाजपा के सदस्यों ने कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे के जवाब से असंतुष्ट होकर सदन से बहिर्गमन किया। दरअसल नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने प्रश्नकाल के दौरान कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे से पूछा कि अप्रैल 2020 से  1 फरवरी तक तक प्रदेश में कितने किसानों की आत्महत्या की है? कौन दोषी पाया गया व क्या कार्रवाई की गई? कृषि मंत्री ने नेता प्रतिपक्ष के सवाल के जवाब में बताया कि 141 किसानों ने आत्महत्या की है। धनीराम मरकाम केशकाल जिला कोंडागांव के प्रकरण में अभिलेख दुरुस्ती व फसल गिरदावरी में त्रुटी मिलने पर पटवारी डोंगर नाग को सस्पेंड किया गया। इस पर नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि कार्रवाई के नाम पर सिर्फ एक पटवारी को सस्पेंड किया जाता है, ये कहां तक उचित है।

26-02-2021
विधानसभा के बजट सत्र का पांचवा दिन आज, सदन में कई मुद्दों पर पक्ष-विपक्ष में होगी नोकझोंक
रा
10:18am

रायपुर। विधानसभा के बजट सत्र का शुक्रवार को पांचवा दिन है। आज सदन में कृषि, जल संसाधन, महिला एवं बाल विकास विभाग से संबंधित प्रश्न रखे जाएंगे। विधानसभा में रेन वाटर हार्वेस्टिंग क्षेत्र में पौधारोपण न होने का मामला भी गूंजेगा। भाजपा विधायक सौरभ सिंह ध्यानाकर्षण के माध्यम से नगरी के आदिवासी क्षेत्र में ऑनलाइन शिक्षा में असुविधा का मुद्दा उठाएंगे। कांग्रेस विधायक लक्ष्मी ध्रुव सदन में मोबाइल कनेक्टिविटी का मुद्दा उठाएंगी। सदन में आज भी राज्यपाल के अभिभाषण पर कृतज्ञता ज्ञापन पर चर्चा जारी रहेगा। सदन में 3 अशासकीय संकल्प भी प्रस्तुत किए जाएंगे। सदन में एलआईसी के विनिवेशीकरण ना करने का प्रस्ताव विधायक सत्यनारायण शर्मा लाएंगे।

25-02-2021
हंगामेदार रहा प्रश्नकाल, मंत्री शिव डहरिया के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष ने किया वॉकआउट
रा
01:03pm

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र के चौथे दिन की शुरुआत हंगामेदार रही। गुरुवार को प्रश्नकाल 5 प्रश्नों में ही सिमट गया। विपक्ष ने सत्ता पक्ष को घेरने की पूरी तैयारी की थी। पहले धान खरीदी और चावल के उठाव के मामले पर सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच जमकर बहस हुई। इसके बाद एक सावल के जवाब से असंतुष्ट भाजपा के विधायकों ने सदन से बहिर्गमन (वॉकआउट) किया। दरअसल प्रश्नकाल के दौरान धमतरी विधायक रंजना साहू ने नगर निगम धमतरी के संबंध में सवाल उठाया। रंजना साहू ने कहा कि एक सवाल का दो-दो जवाब देकर गुमराह किया जा रहा है। इस पर मंत्री डॉ.शिव कुमार डहरिया ने सदन में जवाब दिया। विपक्ष ने जवाब से असंतुष्ट होकर नारेबाजी की और बहिर्गमन किया।

25-02-2021
सदन में कस्टम मिलिंग पर तीखी बहस, विपक्ष ने खाद्य मंत्री को घेरा, मुख्यमंत्री ने किया बचाव 
रा
12:25pm

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र के चौथे दिन की शुरुआत हंगामेदार रही। प्रश्नकाल में विपक्ष ने धान खरीदी और कस्टम मिलिंग के मुद्दे पर सरकार को घेरा। भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने खाद्य मंत्री अमरजीत भगत से कस्टम मिलिंग के संबंध में सवाल किया। जवाब खाद्य मंत्री ने दिया, लेकिन जवाब से असंतुष्ट विपक्ष के सदस्यों ने हंगामा शुरू किया। इस बीच मंत्री मो. अकबर ने खाद्य मंत्री का साथ दिया और इस बीच मंत्री मो. अकबर और विपक्ष के सदस्यों में भी तीखी बहस हुई। इसके बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विपक्ष को जवाब दिया। उन्होंने कहा कि यह राजनीति का विषय नहीं। सरकार लगातार प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि केन्द्र से ही अनुमति मिलने में देरी हुई। कोरोना संकट का समय भी बड़ा कारण रहा, महामारी के संकट के समय परिस्थितियां बदली। हमने लगातार चावल उठाने का कोटा बढ़ाने की मांग की। मुख्यमंत्री ने बताया कि वे शुक्रवार को इस संबंध में चर्चा करने दिल्ली जा रहे हैं। केन्द्रीय खाद्य मंत्री से मुलाकात कर चर्चा की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि विपक्ष को आपत्ति है तो सदन में इसकी भी व्यवस्था है, इस विषय में चर्चा की जा सकती है।

25-02-2021
विधानसभा बजट सत्र : सदन में विधायक दलेश्वर साहू ने उठाया स्वच्छता निरीक्षकों की भर्ती का मामला
रा
11:54am

रायपुर। विधानसभा के चौथे दिन गुरुवार को सदन में नगरीय निकायों में स्वच्छता निरीक्षकों की भर्ती का मामला गूंजा। कांग्रेस विधायक दलेश्वर साहू ने सदन में यह मुद्दा उठाया। जवाब में नगरीय प्रशासन मंत्री शिव कुमार डहरिया ने बताया कि पिछली सरकार ने भर्ती का विज्ञापन जारी किया था। 57 लोगों की सूची में सिर्फ 2 लोग ही पात्र पाए गए। विधायक दलेश्वर साहू ने कहा कि विभाग ने गलत जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि कहीं संकाय को तो विषय को मानकर नियुक्ति दी गई। विज्ञापन के अनुसार जीव विज्ञान विषय आधार मानकर नियुक्ति दी जानी थी। लेकिन ऐसा नहीं किया गया। भविष्य के साथ खिलवाड़ किया गया। इस पर नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया ने कहा कि परीक्षण करा लेंगे।

25-02-2021
विधानसभा बजट सत्र : 505 करोड़ का तृतीय अनुपूरक ध्वनि मत से पारित होगा
रा
10:12am

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा में वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए 505 करोड़ 700 रुपए का तृतीय अनुपूरक बजट ध्वनि मत से पारित किया गया। मुख्य बजट 95 हजार 650 करोड़ रुपए का था। इसमें प्रथम, द्वितीय और तृतीय अनुपूरक बजट को मिलाकर आकार अब 1 लाख 2 हजार 349 करोड़ रुपए का हो गया है। छत्तीसगढ़ में तृतीय अनुपूरक अनुदान मांग चर्चा में विधायक अजय चंद्राकर, मोहन मरकाम, डॉ रमन सिंह, लक्ष्मी ध्रुव, सौरभ सिंह, केशव चंद्रा, अरुण वोरा, शैलेश पांडे, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने भाग लिया। आखिरी में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जवाब दिया और ध्वनिमत से तृतीय अनुपूरक बजट पारित किया गया।

Please Wait... News Loading