GLIBS
22-10-2020
होम आइसोलेशन में रह रहे पॉजिटिव मरीजों के घरों को चिन्हित कर लगाया जा रहा स्टीकर

भिलाई। कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के कांटेक्ट ट्रेसिंग एवं होम आइसोलेशन में रह रहे पॉजिटिव मरीजों के घर स्टीकर चस्पा करने कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे से प्राप्त निर्देश के तहत नगर पालिक निगम आयुक्त  ऋतुराज रघुवंशी ने इसके बेहतर क्रियान्वयन के लिए समस्त जोन आयुक्तों को निर्देश दिए हैं। निर्देशानुसार होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना पॉजिटिव वाले व्यक्तियों के मकानों को चिन्हित करने का कार्य किया जा रहा है। निगम एवं स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त कर्मचारी घरों के बाहर दीवारों पर लाल रंग के स्टीकर चस्पा कर होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड-19 के पॉजिटिव मरीजों की संख्या सहित अन्य जानकारी एकत्रित कर रहे हैं। जिससे स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को मानिटरिंग करने में किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो। स्टीकर लगाने संबंधी कार्य के लिए स्वास्थ्य विभाग के सुपरवाइजर, ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक एवं निगम के राजस्व विभाग की टीम प्रशिक्षित हो चुके हैं। लक्षण युक्त मरीज, गंभीर मरीज और बिना लक्षण वाले मरीजों को वर्ग वार अलग कर सूचीबद्ध करते हुए रिपोर्ट तैयार की जा रही है।

मरीज के संपर्क में आए हुए हाई रिस्क कांटेक्ट एवं लो रिस्क प्राइमरी कांटेक्ट के बारे में भी जानकारी एकत्रित की जा रही है।
 होम आइसोलेशन में रह रहे पॉजिटिव मरीज के घरों में जोन क्रमांक 1 के 928 घर, जोन क्रमांक 2 के 177 घर, जोन क्रमांक 3 के 244 घर, जोन क्रमांक 4 के 135 घर एवं जोन क्रमांक 5 के 532 घरों में स्टीकर चस्पा किया जा चुका है। जिले में लागू गाइडलाइन के अनुसार कोविड-19 के मरीजों को होम आइसोलेशन में रहने की सुविधा दी गई है। इस व्यवस्था के अंतर्गत निगम क्षेत्र में कोविड-19 के पॉजिटिव कई मरीज अपने घरों में रह कर इलाज करा रहे हैं। स्टीकर लगाने संबंधी कार्य के लिए आयुक्त रघुवंशी ने फील्ड में कार्य करने वाले राजस्व और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों की जिम्मेदारी तय किया है। इसके अतिरिक्त कर्मचारियों की ड्यूटी निगम क्षेत्र में संचालित फीवर क्लीनिक सेंटर, प्राथमिक चिकित्सालय और जिला चिकित्सालय से कोविड-19 पॉजिटिव मरीजों की प्रतिदिन की जानकारी जुटाने में लगाई गई हैं। उसी रिपोर्ट के अनुसार ही निगम के कर्मचारी होम आइसोलेशन वाले मकानों का सर्वे करने घरों में पहुंच रहे हैं और घरों में स्टीकर लगाने का कार्य कर रहे हैं।

 

 

21-10-2020
कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए नगर निगम ने बस्ती के घरों से एकत्र किया कचरा

रायपुर। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए नगर निगम बस्तियों की साफ सफाई की ओर विशेष ध्यान दे रहा है। नगर निगम की सहायक स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.तृप्ति पाणीग्रही बुधवार को जोन 4 के निरीक्षण करने पहुंचीं। यहां उन्होंने कंपनी के कर्मचारियों से बस्ती में व्हील बीन से घर-घर जाकर कचरा एकत्र करवाया। उन्होंने बस्ती के रहवासियों को कचरा सड़क पर नहीं फेंकने, मास्क लगाने एवं हाथ साबुन से धोने की समझाइश दी। सफाई के बाद बस्ती में चूना, ब्लीचिंग, एंटी लार्वा का छिड़काव किया। 

 

20-10-2020
छेड़छाड़ का आरोपी पहुंचा जेल

रायपुर/गरियाबंद। घर में घुसकर महिला के साथ अव्यवहारिक कृत्य करने के आरोप में एक व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार किया ​है। मिली जानकारी के अनुसार ग्राम पीपरछेड़ी निवासी कमलेश वस्त्रकार ने 13 अक्टूबर की रात 10 से 11 बजे के बीच ग्राम के ही प्रार्थी महिला के घर में घुसकर पीड़िता के साथ छेड़छाड़ करने लगा। इसकी शिकायत पर थाना पीपरछेड़ी ने महिला का काउंसलिंग सखी सेंटर गरियाबंद में कराया। इसके बाद पुलिस अधीक्षक भोजराज पटेल ने त्वरित एफ़आईआर दर्ज करने के निर्देश दिए। पुलिस अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी की तलाश में जुट गए। विशेष प्रयास से आरोपी को घेराबंदी कर पूछताछ करने और उसके द्वारा अपराध स्वीकार करने पर गिरफ्तार कर धारा 354 ,457 आईपीसी के तहत न्यायिक रिमांड में भेजा गया।

19-10-2020
घर से मिली बारहसिंघा की खाल, आरोपी गिरफ्तार

कांकेर। घर में छुपा कर रखे बारहसिंघा की खाल के साथ एक आरोपी को पुलिस ने धर दबोचा है। मिली जानकारी के अनुसार पुलिस को मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई कि नरहरपुर क्षेत्र के ग्राम मुरुमतरा में भानुप्रकाश सिन्हा के घर में एक बारहसिंघा का खाल है, जिसके बाद
पुलिस टीम ने सूचना तस्दीक एवं कार्यवाही के लिए ग्राम मुरूमतरा आरोपी के मकान में पहुंची।धारा 91 जाफी का नोटिस जारी किया गया एवं आरोपी से खाल रखने के संबंध में वैधानिक दस्तावेज पेश करने को कहा गया। आरोपी के द्वारा दस्तावेज नहीं किया गया। खाल की जब्ती की गई और आरोपी को गिरफ्तार किया गया। 

 

19-10-2020
प्रदीप साहू ने कहा- वोट नहीं,न्याय मांगने मरवाही के घर-घर और बाजारों में जाएंगे जोगी कांग्रेसी

रायपुर। युवा जेसीसीजे नेता प्रदीप साहू ने कहा है कि मरवाही की जनता से वोट मांगने नहीं, न्याय मांगने जाएंगे। जिस तरह से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने षडयंत्र करते हुए जोगी परिवार को चुनाव से बाहर किया। उनके नामांकन रद्द कर दिए। जाति पर प्रश्न चिन्ह लगा दिया गया। कहीं न कहीं ये जोगी परिवार के साथ अन्याय हुआ है। 17 अक्टूबर को काला दिवस के रूप में मनाया जाएगा। मरवाही की जनता को छला गया है, मरवाही की जनता के साथ अन्याय हुआ है। इस अन्याय के लिए न्याय मांगने हम मरवाही के घर-घर, हाट बाजारों तक जाएंगे। मरवाही की जनता को बताएंगे कि किस तरह से कांग्रेस की सरकार ने हमारे साथ अन्याय किया है। प्रदीप ने कहा है कि अजीत जोगी किसी दल के नेता नहीं थे, वो दिल के नेता थे। वो कहते भी थे कि मरवाही में उनकी आत्मा बसती है। गौरेला पेंड्रा मरवाही में उनका रक्त प्रवाह होता है। प्रदीप ने विश्वास जताया है कि मरवाही की अदालत में जनता सच और झूठ का फैसला करेगी। पूरा विश्वास है फैसला होगा और हमें न्याय मिलेगा।

 

 

19-10-2020
हाथियों के दल ने फिर मचाया उत्पात,किसान का घर तोड़ा,फसलों को रौंदा,रतजगा कर रहे ग्रामीण

अंबिकापुर। वन परिक्षेत्र उदयपुर में सात हाथियों का दल विगत एक माह से भी अधिक समय से उत्पात मचाए हुए हैं। हाथियों ने दावा से होते हुए करमकठरा जंगल मे प्रवेश किया था। विगत दो दिनों में जजगा में एक व्यक्ति के घर को तोड़ा है केदमा रोड में जजगी गांव के मुहाने पर शनिवार को एक स्कूटी,एक बाइक एवं एक साइकिल को क्षतिग्रस्त कर दिया है। हाथियों का दल जजगी से निकलकर रेण नदी को पार करते हुए धान के खेतों की फसल को रौंदते हुए जजगा पहुंचे। पीछे पीछे सैकड़ों ग्रामीण टार्च लेकर उनके पीछे पड़े रहे। एनएच 130 के बगल में रमपुरहिन दाई मंदिर के समीप स्थित कच्चे के मकान के एक हिस्से को गिराया तथा घर में चावल बनाकर रखे बर्तन को खेतों की ओर उठाकर ले गए। पके हुए चावल को खाने के बाद बर्तन को पैरों तले कुचल दिये। हाथी घर जब घर तोड़ने की कोशिश करने लगा तब घर में रह रहे सदस्य घर से भाग गए। हाथियों के जाने के बाद देर रात वापस घर लौटे। एन 130 पर हाथियों के चढ़ने के बाद रोड रोड क्रॉसिंग के उद्देश्य वन अमला द्वारा ट्रैफिक को कुछ देर के लिए रोका गया परंतु सैकड़ों लाइटों एवं उपस्थित लोगों के शोर से हाथी एनएच को क्रास करने की बजाय वापस जजगी रेण नदी किनारे धान के खेतों में और गन्ने की फसलों में पहुंच गए।

वन अमले के लाख समझा समझाइश के बाद भी लोग हाथी के पीछे पीछे जाना नहीं छोड़ रहे हैं, जिससे जनहानि की आशंका बनी हुई है। आसपास 4 से 5 गांव के किसानों के धान की फसल को नुकसान पहुंचाया है। हाथियों के डर से ग्रामीण रतजगा करने को मजबूर हैं। हाथियों का दल कब किस ओर जाएगा इसका पता नहीं रहता है। आसपास के 5 से 6 गांव के लोग वन अमला के साथ मिलकर रात भर हाथियों की निगरानी में लगे हुए रहते हैं। सभी हाथी दिनभर करमकठरा जंगल में  शांत रहने के बाद शाम को बाहर निकलकर पूरी रात अलकापुरी, जजगी, जजगा में घूमकर धान के फसलों को बुरी तरह से रौंदकर और खाकर धान गन्ना, अरहर एवं मक्का की फसल को नुकसान पहुंचाया है। हाथियों से लोगों को बचाने के लिए वन अमला निगरानी में लगा हुआ है । वन अमला द्वारा लोगों को जागरूक करने के लिए मुनादी करा रहा है तथा लोगों को हाथियों से दूर रहने की सलाह भी दी जा रही है। जंगल किनारे एकांत घरों में रहने वाले लोगों को बस्ती में आकर निजी व शासकीय पक्के मकान व छतों में रखने की व्यवस्था की जा रही है। हाथियों के निगरानी में गजराज वाहन सुरक्षा उपकरणों के साथ उदयपुर वन अमला जुटा हुआ है।

 

16-10-2020
सीएसईबी से सेवानिवृत्त महिला कर्मचारी की हत्या,अकेले रहती थी घर पर,जांच में जुटी पुलिस

कोरबा। रामपुर चौकी क्षेत्र अंतर्गत महाराणा प्रताप नगर में बीती रात एक वृद्ध महिला की हत्या से हड़कंप मच गया है। मृतका सुमित्रा बाई सीएसईबी की सेवानिर्वित कर्मचारी थीं। महिला घर पर अकेली रहती थी। उसके दो बेटे अपने परिवार के साथ काशीनगर में रहते हैं। शुक्रवार की सुबह आस-पास के लोगों को घटना की जानकारी हुई। तत्काल इसकी सूचना रामपुर पुलिस को दी गई। इसके बाद पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। घटनास्थल का मुआयना कर मामले की पड़ताल शुरू की गई है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। पुलिस को मृतका के बड़े बेटे ने बताया कि दरवाजा अंदर से बंद था। जब वह किसी तरह दरवाजा खोलकर अंदर पहुंचा तो उसकी मां खून से लथपथ पड़ी हुई थी। उसके सिर पर किसी भारी वस्तु से वार कर घटना को अंजाम दिया गया था।  शहर कोतवाल दुर्गेश शर्मा का कहना है कि प्रथम दृष्ट्या यह मामला संपति विवाद का प्रतीत होता है। घर में रखे किसी भी समान को हाथ नहीं लगाया गया है। हालांकि पुलिस की जांच के बाद ही मामले का खुलासा हो पाएगा।

 

 

13-10-2020
कोरोना के संक्रमण रोकने 8 दिनों में 83319 घरों का किया सर्वे, सर्दी, खांसी, बुखार वाले 605 मरीज किए चिन्हित

भिलाई। महापौर व भिलाई नगर विधायक देवेन्द्र यादव, कलेक्टर डॉ.सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे और निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी के निर्देशानुसार नगर निगम और महिला एवं बाल विकास विभाग की सयुंक्त टीम कोरोना के रोकथाम को लेकर डोर टू डोर सर्वे कर रही हैं। कोरोना से बचाव को लेकर लोगों को मास्क पहनने, भीड़-भाड़ वाले जगहों पर नहीं जाने और एक दूसरे के बीच निर्धारित दूरी बनाए रखने की अपील किया जा रहा है। सर्वे के दौरान परिवार के किसी सदस्य को सर्दी, खांसी, बुखार, सांस लेने में तकलीफ की शिकायत पर कोरोना की जांच के लिए प्रेरित किया जा रहा है। आठ दिनों में सयुंक्त टीम ने 83319 घरों का सर्वे कर चुकी है। सर्वे के दौरान 605 लोगों में कोरोना से संबंधित लक्षण पाए जाने पर स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से 572 लोगों का आरएजी टेस्ट किया गया। जांच में 72 लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव आई। जिनकी रिपोर्ट निगेटिव आई। उनमें से 235 लोगों का जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम ने आरटीपीसीआर जांच के लिए सैंपल लिया है।

आठ दिन में उच्च जोखिम वाले 66 व्यक्ति किए गए चिन्हित

5 से 12 अक्टूबर के बीच जोन-1, 2, 3, 4 और 5 के कर्मचारियों द्वारा किए गए सर्वे में 66 लोगों को उच्च जोखिम वाले व्यक्ति के रूप में चिन्हित किया गया। चिन्हित सभी व्यक्तियों की सूची जिला स्वास्थ्य विभाग को सौंपी गई है। तुषार वर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि इनमें से ऐसे व्यक्ति जो घर से बाहर नहीं निकल सकते उन्हें उनके घर पर ही कोरोना टेस्ट की सुविधा मुहैया कराई जा रही है! जोन-1 नेहरू नगर की टीम ने 16808 घरों का सर्वे किया। सर्वे में 196 कोविड-19 के लक्षण वाले व्यक्ति मिले। वहीं 19 लोगों को उच्च जोखिम वाले पाए गए। कर्मचारियों की सलाह के अनुसार 192 लोगों ने आरएजी टेस्ट कराया। इसमें से 22 लोगों का रिपोर्ट पाजिटिव आया। निगेटिव पाए गए 104 लोगों का आरटीपीसीआर टेस्ट लिया गया। जोन-2 वैशाली नगर की टीम ने 23129 घरों का सर्वे किया। सर्वे में 144 कोविड-19 के लक्ष्ण वाले व्यक्ति मिले। वहीं 23 लोगों को उच्च जोखिम वाले पाए गए। कर्मचारियों की सलाह के अनुसार 105 लोगों ने आरएजी टेस्ट कराया। इसमें से 23 लोगों का रिपोर्ट पाजिटिव आया। निगेटिव पाए गए 63 लोगों का आरटीपीसीआर टेस्ट लिया गया।

जोन-3 मदर टेरेसा नगर टीम ने अब तक 14566 घरों का सर्वे किया। सर्वे में 138 कोविड-19 के लक्ष्ण वाले व्यक्ति के रूप में चिन्हित किया। 9 लोगों को उच्च जोखिम वाले पाए गए। कर्मचारियों की सलाह के अनुसार 135 लोगों ने आरएजी टेस्ट कराया। इसमें से 14 लोगों का रिपोर्ट पाजिटिव आया। निगेटिव पाए गए 27 लोगों का आरटीपीसीआर टेस्ट लिया गया। जोन-4 वीर शिवाजी नगर की टीम ने अब तक 13709 घरों का सर्वे किया। सर्वे में 59 कोविड-19 के लक्ष्ण वाले व्यक्ति के रूप में चिन्हित किया। 9 लोगों को उच्च जोखिम वाले पाए गए। कर्मचारियों की सलाह के अनुसार 54 लोगों ने आरएजी टेस्ट कराया। इसमें से 1 लोगों का रिपोर्ट पाजिटिव आया। जोन-5 सेक्टर-6 की टीम ने अब तक 15107 घरों का सर्वे किया। जिसमें 68 कोविड-19 के लक्ष्ण वाले व्यक्ति के रूप में चिन्हित किया। 6 लोगों उच्च जोखिम वाले पाए गए। कर्मचारियों की सलाह के अनुसार 86 लोगों ने आरएजी टेस्ट कराया। इसमें से 12 लोगों का रिपोर्ट पाजिटिव आया। निगेटिव पाए गए 41 लोगों का आरटीपीसीआर टेस्ट लिया गया।

 

13-10-2020
ग्रामीण के घर से 10 फीट का अजगर पकड़ा गया, स्नैक सेवर टीम ने अब तक विभिन्न प्रजातियों के 550 सांप को बचाया

रायपुर/दंतेवाड़ा। जिले के बचेली अंर्तगत ग्राम पालनार-फूलपाड़ से लगभग दस किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक ग्रामीण के घर में अजगर पाए जाने की सूचना ग्रामीणों ने वन विभाग को दी। बचेली रेंजर अशोक सोनवानी ने सूचना पर बचेली के सर्प मित्र स्नैंक कैचर से सम्पर्क किया। स्नैंक कैचर ने अजगर को अपने सहयोगी के साथ कड़ी मशक्कत के बाद पकड़कर बचेली वन विभाग कार्यालय लाया, जहां अजगर के जांच में पाया गया कि अजगर स्वस्थ था, जिसे घने जंगल में नाले के समीप सुरक्षित स्थान पर छोड़ दिया गया। सर्प मित्र स्नैक कैचर अमित मिश्रा ने बताया की पकड़ा गया पहाड़ी अजगर लगभग आठ वर्ष का व्यस्क नर अजगर पुर्णत: स्वस्थ है, जिसका वजन 24.500 किलोग्राम मापा गया। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों द्वारा सूचना प्राप्त होना अच्छी पहल है, ग्रामीण जागरूक हो रहे हैं। जागरुकता से हम इस शानदार प्राणी का जीवन बचा पाए। पहले जानकारी के अभाव में इन्हें मार दिया जाता था। पर्यावरण के लिए अजगर की भूमिका महत्वपूर्ण है। लगातार सिकुड़ते जंगलों की वजह से इनकी संख्या काफी कम हो गई हैं। अत: इनको बचाकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाना आवश्यक हैं। मिश्रा ने बताया कि अमुमन ठंड में सर्प विचरण नहीं करते परंतु जलवायु परिवर्तन से ठंड का मौसम घटते जा रहे हैं। सर्प विचरण करते हुए आवासीय स्थानों पर पहुंच रहे हैं। 

इससे एक दिन पूर्व बचेली निवासी महेन्द्र भारद्वाज के निवास से कामन कुकरी सर्प को बचाकर वन में सुरक्षित छोड़ा गया था। उल्लेखनिय है कि स्नैक कैचर प्रेम का सांप पकड़ने के दौरान सर्पदंश से दुखद निधन के बाद अमित मिश्रा ने सांपों को बचाने का बीड़ा उठाया है। जिले भर से सांपों को बचाकर प्राकृतिक आवास पर पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं। इनके साथ 6 सदस्यीय समूह हैं जो की स्नैक सेवर टीम के नाम से भी जाना जाता है। इस टीम में मनोज कुमार किरंदुल, मनोज कश्यप, दीपक ठाकुर, अक्षय मिश्रा एवं अमित मिश्रा बचेली नगर में कार्यरत हैं। इस समूह के द्वारा नवंबर से अब तक 550 विभिन्न प्रजातियों के सांपों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया हैं। तथा सांपों के प्रति लोगों में घर कर गए भ्रांतियों को दूर कर सही जानकारियां दी जाती है। रेंजर अशोक सोनवानी नें कहां की सांपों एवं अन्य वन्य प्रणियों के रिहरसशी इलाकों में दिखने से उन्हें नुकसान पहुंचाए बिना वन विभाग को सूचित करें ताकी हम उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाकर वनों वन्य जीवों की सुरक्षा के साथ पर्यावरण के सुरक्षा में अपना योगदान दे।

12-10-2020
महापौर ने लाॅटरी निकालकर किया आवास का आवंटन, दिव्यांगजनों को मिला ग्राउण्ड फ्लोर का घर  

दुर्ग। थगड़ाबांध के करीब 98 निवासियों को विवेकानंद सभा भवन में महापौर धीरज बाकलीवाल द्वारा लाॅटरी निकालकर प्रधानमंत्री आवास का आवंटन किया गया । महापौर की मंशा के अनुसार बोरसी के प्रधानमंत्री आवास में थगड़ा बांध के तीन दिव्यांग और चार एकल महिलाओं को  ग्राउण्ड फ्लोर का आवास आवंटित किया गया है। इस दौरान निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन, लोक कर्म प्रभारी अब्दुल गनी, वित प्रभारी दीपक साहू, शिक्षा प्रभारी मनदीप सिंह भाटिया, पार्षद विजयेन्द्र भारद्वाज, पूर्व पार्षद राजेश शर्मा, कार्यापालन अभियंता राजेश पाण्डेय, सहा. अभियंता जितेन्द्र समैया, उपअभियंता आरके जैन, प्रधानमंत्री आवास के सूडा सिविल इंजीनियर अभिषेक मिश्रा तथा सामाजिक विकास विशेषज्ञ आशुतोष ताम्रकार, विकास यादव उपस्थित थे। लाॅटरी से आवास आवंटन का संचालन आशुतोष ताम्रकार ने किया। इस दौरान सोशल डिस्टेंस का पालन किया गया साथ ही हितग्राहियों को सैनिटाइज किया गया। सभी हितग्राही मास्क लगाकर लाॅटरी कार्यक्रम में उपस्थित हुये थे । इस संबंध में महापौर श्री बाकलीवाल ने बताया कि थगड़ाबांध सौदर्यीकरण प्रस्तावित कार्य के तहत् वाटरबाडी क्षेत्र में निवास करने वाले लोगों को प्रधानमंत्री आवास का आवंटन किया जाना है। इसके अंतर्गत आज पंजीयन राशि जमा करने वाले हितग्राहियों को लाॅटरी निकालकर आवास का आवटन किया गया है । प्रधानमंत्री आवास बोरसी के गलैक्सी में यह हितग्राही सर्वसुविधा युक्त आवास में रहेगें । उन्होनें बताया इसके पूर्व 31/5/2018 को थगड़ाबांध के ही 88 निवासियों को गलैक्सी में ही आवास का आवंटन किया गया है। 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804