GLIBS
25-10-2020
मरवाही उपचुनाव : जिला निर्वाचन अधिकारी ने ली बैठक,तैयारियों के संबंध में दिए आवश्यक निर्देश 

रायपुर/मरवाही। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डोमन सिंह ने मरवाही विधानसभा उप निवार्चन की तैयारियों के संबंध में रविवार को कलेक्टोरेट परिसर के सभा कक्ष में विभिन्न अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में उन्होंने जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक सामग्रियों के  वितरण की व्यवस्था के संबंध में निर्देश दिए। उन्होंने ग्राम पंचायत सचिवों के साथ योजनाबद्व तरीके से बैठक करते हुए मतदान केन्द्रों में निर्वाचन सामग्रियों के वितरण कि व्यवस्था तय करने के निर्देश दिए। उन्होंने मतदान केंद्रों में थर्मल स्कैनिंग के लिए आवश्यक सभी व्यवस्था तय करने के निर्देश दिए। उन्होंने थर्मल स्केनर, ग्लब्स, सैनेटाइजर पाउच इत्यादि के लिए व्यवस्थाएं तय करते  हुए पहले से ही पर्याप्त संख्या में स्टॉक उपलब्ध रखने के निर्देश दिए। इससे  आवश्यकता होने पर तत्काल आवश्यक सामग्री उपलब्ध कराया जा सके। उन्होंने मतदान दिवस के दिन सभी आवश्यक तैयारियां तय करते हुए लोक निर्माण विभाग  के अधिकारियों से मतदान केन्द्रों में टेंट, लाइट इत्यादि सभी व्यवस्थाएं तय करने के निर्देश दिए। उन्होंने माइक्रो आब्जर्वरों की संवेदनशील मतदान केंद्रों में उपस्थिति के संबंध में आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने मतदान दलों की परिवहन व्यवस्था के लिए रूट चार्ट के हिसाब से अलग-अलग प्रभारी बनाने के निर्देश दिए।  उन्होंने मतदाता पर्ची के वितरण के संबंध में आवश्यक  जानकारी ली। जिला निर्वाचन अधिकारी डोमन सिंह ने मतगणना के दिन की तैयारियों के बारे में भी चर्चा करते हुए सारी व्यवस्थाएं समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए। इस दौरान अपर कलेक्टर अजीत वसंत सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

24-10-2020
मरवाही उपचुनाव: मतदान में न हो कोई गड़बड़ी, कलेक्टर ने कहा अधिकारियों से योजनाबद्ध हो तैयारी

रायपुर। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डोमन सिंह ने शनिवार को बैठक में  अधिकारियों-कर्मचारियों को मतदान दिवस की तैयारियां योजनाबद्ध तरीके से करने के निर्देश दिए। इससे निश्चित समयांतराल में मतदान प्रक्रिया से सम्बंधित विभिन्न कार्यो को सुव्यवस्थित तरीके से पूर्ण किया जा सके।जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी विकासखंडों के सीईओ को मतदान केंद्रों में दीवार लेखन, व्हील चेयर, पेयजल, शौचालय, विद्युत उपलब्धता सुनिश्चित करने के साथ ही अन्य आवश्यक सुधार कार्य कराने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी मतदान केंद्रों में जनरेटर, टेंट, लाइट, माइक इत्यादि व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के लिए लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए।

 जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि मतदान केंद्रों के बाहर और अंदर लाइट की पर्याप्त व्यवस्थाएं होनी चाहिए। उन्होंने मतदान दिवस के दिन तीनों ब्लाकों में मास्टर ट्रेनरों को पर्याप्त संख्या में उपलब्ध रहने के निर्देश दिए।   उन्होंने सभी एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार  को निर्वाचन के सम्बंध में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा दिये गए दिशानिर्देशों का अध्ययन करते हुए सभी आवश्यक तैयारियां करने के निर्देश दिए। बैठक में अपर कलेक्टर अजीत वसंत, एसडीएम अपूर्व टोप्पो सहित अन्य अधिकारी  उपस्थित थे।

23-10-2020
भारत सरकार के नीति आयोग ने पढ़ई तुंहर द्वार के माध्यम से बच्चों की शिक्षा के प्रभावी कार्यों की प्रशंसा की

रायपुर। पढ़ई तुंहर दुआर से बच्चों और पढ़ाई के बीच नाता जोड़ने का सिलसिला जारी है। इसी कड़ी में भारत शासन के नीति अयोग ने छत्तीसगढ़ के आकांक्षी जिला राजनांदगांव में पढ़ई तुंहर दुआर के तहत नवाचार के माध्यम से बच्चों की शिक्षा के लिए किए जा रहे प्रभावी कार्यों की प्रशंसा की है। नीति आयोग ने अपने ट्विटर अकाउन्ट पर इन कार्यों को रेखांकित करते हुए ट्वीट किया है कि राजनांदगांव जिले के दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में बच्चे शिक्षा के आनंद से वंचित नहीं है। बच्चों के उज्ज्वल भविष्य के लिए कोविड-19 संक्रमण के कठिन परिस्थितियों में भी दूरस्थ अंचलों तक शिक्षा की रोशनी पहुंच रही है। इससे बच्चों की पढ़ाई में कोई बाधा नहीं आई है। कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा के मार्गदर्शन में जिला स्तरीय शिक्षा विभाग की टीम बेहतरीन कार्य कर रही है। यह टीम जिले के सभी नौ विकासखंडों से बेहतर समन्वय स्थापित कर विभिन्न माध्यमों से बच्चों को सुरक्षित एवं सतत अध्यापन सुनिश्चित करवा रही है, जिसके परिणामस्वरूप जिले के सुदूर वनांचल क्षेत्रों में भी शिक्षकों एवं शिक्षा सारथियों ने लगातार प्रयास करते हुए पढ़ाई की कमान थामे रखी है। मोहल्ला क्लास, बुल्टू के बोल एवं सोशल मीडिया का प्रयोग करते हुए बच्चों की शिक्षा के लिए नवाचार कर उनकी पढ़ाई जारी रखी गई है। उल्लेखनीय है कि जिले के सुदूर वनांचल क्षेत्र मोहला विकासखंड में शिक्षकों द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में प्रेरणादायक एवं अनुकरणीय नवाचार करते हुए स्थानीय जनसमुदाय, जनप्रतिनिधियों एवं स्वयं के प्रयासों से 276 स्मार्ट टीवी के माध्यम से विभिन्न पारा मोहल्ला कक्षाओं में डिजीटल शिक्षा की शुरूवात की है, जिससे इस क्षेत्र में विद्यार्थियों व पालकों में बच्चों की शिक्षा के प्रति जागरूकता आई है और शिक्षा के प्रति बच्चों की रूचि में वृद्धि हुई है।

23-10-2020
Video: अनुसुइया उइके पहुंचीं माँ बम्लेश्वरी के दरबार, प्रदेश के विकास और खुशहाली के लिए प्रार्थना की

राजनांदगांव। राज्यपाल अनुसुइया उइके शुक्रवार को माँ बम्लेश्वरी के दरबार में दर्शन करने पहुंची।   राज्यपाल ने मां बम्लेश्वरी की पूजा—अर्चना की। उन्होंने प्रदेश के विकास और खुशहाली के लिए प्रार्थना की। उन्होंने कोरोना संकट काल और महामारी से जल्द मुक्ति के लिए भी मां बम्लश्वारी के दरबार में माथा टेककर प्रार्थना की। राज्यपाल का कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा व पुलिस अधीक्षक डी. श्रवण सहित अन्य अधिकारियों व मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने उनका स्वागत किया।

22-10-2020
दुर्गा पूजा-दशहरा मनाने शांति समिति की हुई बैठक, शाम 7 बजे होगा पुतला दहन,50 लोग हो सकेंगे शामिल

कोरबा। कलेक्टर किरण कौशल के निर्देश पर गुरुवार को दुर्गा उत्सव के अंतिम दिनों और दशहरा पर्व के दौरान कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए शांति और सौहार्द्र बनाये रखने शांति समिति की बैठक हुई। बैठक प्रभारी एडीएम सूर्यकिरण तिवारी की अध्यक्षता में कलेक्टोरेट सभाकक्ष में हुई। बैठक में शामिल दुर्गा समितियों के सदस्यों, नागरिकों और दुर्गा पंडालों के प्रतिनिधियों को एसडीएम सुनील नायक और नगर निगम के अपर आयुक्त अशोक शर्मा ने कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिये दशहरा पर्व एवं पुतला दहन के संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश की जानकारी दी। बैठक में नगर निगम, स्वास्थ्य, पुलिस तथा राजस्व अधिकारियों सहित मानवाधिकार बोर्ड, अल्पसंख्यक विभाग, कोरबा चर्चेस एसोसिएशन, छत्तीसगढ़ सिंधी एकादमी, मेमन समाज आदि के प्र्रमुख पदाधिकारी एवं अन्य नागरिक मौजूद रहे। इस बार दशहरा पर्व पर पुतला दहन का कार्यक्रम शासकीय अनुमति से ही किया जायेगा। बैठक में सर्वसम्मति से पुतला दहन शाम 7 बजे तक करने का निर्णय लिया गया है। दशहरा पर्व पर दहन के लिए बनाए गए पुतलो की ऊंचाई 10 फीट से अधिक नहीं होगी। पुतला दहन का आयोजन किसी बस्ती या रहवासी इलाके में नहीं किया जाएगा। पुतला दहन खुले स्थान पर करने के निर्देश दिए गये हैं। पुतला दहन स्थल पर लोगों के आने और जाने के लिए अलग-अलग गेट बनाना अनिवार्य होगा।

पुतला दहन कार्यक्रम में आयोजन समिति के मुख्य पदाधिकारी सहित 50 व्यक्ति से अधिक लोग कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सकेंगें। आयोजन के दौरान केवल पूजा करने वाले व्यक्ति ही शामिल होंगे। कार्यक्रम के दौरान अनावश्यक भीड़ एकत्रित ना हो इसकी जिम्मेदारी आयोजन समिति की होगी। बैठक में कार्यक्रम का यथासंभव ऑनलाइन माध्यमों से आयोजन का प्रसारण करने के निर्देश दिये गये। आयोजन समिति को आयोजन की वीडियोग्राफी कराने तथा एक रजिस्टर संधारित करने के निर्देश दिये गये। इसमें दशहरा पर्व, पुतला दहन कार्यक्रम में आने वाले सभी व्यक्तियों का नाम पता मोबाइल नंबर दर्ज किया जाएगा। आयोजन स्थल पर सीसीटीवी कैमरा लगाये जायेंगे ताकि उनमें से कोई भी व्यक्ति के कोरोना संक्रमित होने पर कांटेक्ट ट्रेसिंग किया जा सके। समिति द्वारा समय पूर्व सोशल मीडिया में यह जानकारी दी जाएगी कि कोविड-19 संक्रमण को देखते हुए कार्यक्रम सीमित रूप से आयोजित किया जाएगा। पुतला दहन में कहीं भी सांस्कृतिक कार्यक्रम, बाजार, मेला, स्वागत, भंडारा, प्रसाद वितरण, पंडाल लगाने की अनुमति नहीं होगी।

कोविड-19 महामारी को देखते हुये पुतला दहन आयोजन में उपस्थित प्रत्येक व्यक्ति को सोशल, फिजिकल डिस्टेंसिंग, मास्क लगाना एवं समय-समय पर सैनिटाइजर का उपयोग करना अनिवार्य होगा। पुतला दहन से 100 मीटर के दायरे में आवश्यकतानुसार अनिवार्यतः बैरिकेटिंग कराने के निर्देश दिए हैं। आयोजन के दौरान किसी भी प्रकार के वाद्य यंत्र, ध्वनि विस्तारक, डीजे, धुमाल, बैंड पार्टी की अनुमति नहीं होगी। दशहरा पर्व रावण पुतला दहन में किसी भी प्रकार की अतिरिक्त सजावट, झांकी की अनुमति नहीं होगी। अनुमति के पश्चात समिति द्वारा सैनिटाइजर, थर्मल स्क्रीनिंग, आक्सी मीटर एंड हेण्डवास एवं क्यू मैनेजमेंट सिस्टम की व्यवस्था की जाएगी। थर्मल स्क्रीनिंग में बुखार पाए जाने अथवा कोरोना वायरस से संबंधित कोई सामान्य या विशेष लक्षण पाए जाने पर कार्यक्रम में प्रवेश नहीं देने की जिम्मेदारी समिति की होगी। आयोजन के दौरान अग्निशमन की पर्याप्त व्यवस्था करने के निर्देश दिये गये है। आयोजन के दौरान यातायात नियमों का पालन करने एवं यातायात को किसी प्रकार से बाधित ना हो या भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।

 

22-10-2020
पट्टाधारकों की धान खरीदी के लिए पंजीयन शुरू, कलेक्टर ने 31 अक्टूबर तक पूरा करने दिए निर्देश

कोरबा। राज्य शासन ने वन अधिकार पट्टे की जमीन पर उगाये धान को भी समर्थन मूल्य पर खरीदने का निर्णय लिया है। अब वन अधिकार पट्टे पर धान की फसल ले रहे किसान अपनी फसल को समर्थन मूल्य पर बेच सकेंगे। कलेक्टर किरण कौशल ने वन अधिकार पट्टे प्राप्त सभी किसानों जो धान की फसल ले रहे हैं उनका पंजीयन 31 अक्टूबर तक करवाने के निर्देश राजस्व अधिकारियों को दिए हैं। खाद्य विभाग द्वारा वन अधिकार पट्टा वाले किसानों के पंजीयन के लिए साफ्टवेयर में आवश्यक प्रावधान किया गया है। जिले में कृषि कार्य के लिए 709 ग्रामों के कुल 45 हजार 218 किसानों को वन अधिकार पट्टा वितरित किया गया है। इसके अन्तर्गत 33 हजार 270 हेक्टेयर से अधिक का रकबा शामिल है। वन अधिकार पट्टे की जमीन में जो किसान धान की फसल ले रहे हैं वह अब अपना फसल समर्थन मूल्य पर बेच सकेंगे। विकासखंड कोरबा के 11 हजार 327 किसानों को कृषि कार्य के लिए पांच हजार 493 हेक्टेयर जमीन का मालिकाना हक वन अधिकार पट्टे के रूप में दिया गया है। इसी प्रकार करतला के दो हजार 845 किसानों को छह हजार 214 हेक्टेयर, पाली के नोै हजार 650 किसानों को एक हजार 578 हेक्टेयर, कटघोरा के दो हजार 736 किसानों को 615 हेक्टेयर और विकासखंड पोंड़ी उपरोड़ा के 18 हजार 660 किसानों को 19 हजार 367 हेक्टेयर रकबे से अधिक जमीन का वन अधिकार पट्टा प्रदान किया गया है।

 

21-10-2020
नगरी क्षेत्र के एसडीएम पहुंचे दुगली के कमार परिवारों के बीच, कमार वनवासी हुए गदगद

धमतरी। जिले के नगरी तहसील के आयुर्वेद ग्राम दुगली में कमार परिवारों की दिनचर्या देखने एसडीएम सुनील शर्मा बुधवार को पहुंचे। उन्हें अपने बीच पाकर कमार वनवासी गदगद हो गए।कलेक्टर के निर्देश पर कमार परिवारों के बीच पहुंचे एसडीएम ने उनका हालचाल जाना और सरकार की ओर से उनके हित में चलाई जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की जमीनी हकीकत देखी। मार्केटिंग से संबंधित जानकारी कमारों देते हुए उन्होंने बताया कि बांस से कैसे सूपा, टोकरी और झाडू का निर्माण कर उनका विक्रय किया जा सकता है। उन्होंने बताया किजिस चीज का बाजार में अच्छा दाम मिलता है, उसका निर्माण करने से आमदनी भी अच्छी हो जाती है।

पीडीएस से मिलने वाले राशन, मध्यान्ह भोजन और आंगनबाड़ी से मिलने वाले लाभ के बारे में भी एसडीएम ने जानकारी ली। एसडीएम को अपने बीच पाकर कमार आदिवासी काफी उत्साहित नजर आए। उन्होंने एसडीएम से कहा कि आपने अच्छी जानकारियां हमें दी हैं। आपको यहां देखकर काफी दिनों बाद लगा कि हमारी सुध लेने वाला भी कोई है।

21-10-2020
मरवाही उपचुनाव: कोविड मरीज,दिव्यांग और बुजुर्ग इस बार करेंगे डाक मतपत्र से मतदान

रायपुर। मरवाही उपचुनाव में दिव्यांग, बुजुर्ग और कोविड मरीज डाक मतपत्र से मतदान कर सकेंगे। भारत निर्वाचन आयोग नई दिल्ली ने यह निर्देश दिए हैं। 80 वर्ष से अधिक आयु के मतदाता, शारीरिक निःशक्तता वाले मतदाता एवं कोविड 19 से प्रभावित मतदाताओं को डाक मतपत्र के द्वारा मतदान की सुविधा दी जाएगी।गौरेला पेंड्रा मरवाही जिले के कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डोमन सिंह ने जानकारी दी है कि दिव्यांग, कोविड-19 से प्रभावित एवं 80 वर्ष से अधिक आयु के निर्वाचक को डाक मत पत्र वितरित किया जाएगा। डाक मतदान एवं डाक मतपत्र संग्रहण का कार्य 22 अक्टूबर से 24 अक्टूबर तक रहेगा। इस कार्य के लिए विशेष रूप से दल गठित किया गया है। 

21-10-2020
Video: 'नन्हीं दुर्गा' ने ली कोरोना जागरुकता की ज़िम्मेदारी, कलेक्टर ने किया कट आउट का  विमोचन

दुर्ग। पूरे देश में शारदीय नवरात्रि का पर्व चल रहा है। इसी बीच कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए जागरूकता की जिम्मेदारी अब एक नन्ही बालिका दुर्गा ने ली है। दुर्ग जिले में अब नन्हीं दुर्गा ने कोविड-19 जागरूकता अभियान की कमान संभाली है। नन्हीं दुर्गा कोरोना जागरूकता अभियान की आधिकारिक शुभंकर होगा। कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर भूरे ने 'नन्हीं दुर्गा' के कटआउट का विमोचन किया है। जिला प्रशासन द्वारा दुर्ग जिले के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र में लगातार कोरोना से बचाव के लिए  जागरूक किया जा रहा है। कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर भूरे ने आम नागरिकों से अपील की है कि वे बचाव के सारे उपाय मानें और सुरक्षित रहें। इस अवसर पर जिला पंचायत के सीईओ सच्चिदानंद आलोक, डिप्टी कलेक्टर दिव्या वैष्णव सहित जिला पंचायत के अधिकारी कर्मचारी मौजूद थे।जिला प्रशासन की टीम ने शहरी और ग्रामीण अंचल में लोगों को जागरुक करने के लिए एक आईईसी प्लान भी तैयार किया है जिसके आधार पर जागरुकता कार्यक्रम का संचालन किया जाएगा।

 

21-10-2020
पशुपालकों के खाते में सीएम भूपेश बघेल ने जमा कराई गोधन न्याय योजना की छठवीं किश्त

रायपुर/रायगढ़। गोधन न्याय योजना की छठवीं किश्त पशुपालकों के खाते में हस्तांतरित की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने। छठवीं किश्त के रूप में 1 से 15 अक्टूबर तक जिले के 16535 पशुपालकों से खरीदे गए 40950.79 क्विंटल के लिए 81 लाख 90 हजार का भुगतान किया गया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि पशुपालकों के हित को ध्यान में रखते हुए प्रारंभ की गई योजना की छठवीं किश्त आज उन्हें देते हुए बड़ी प्रसन्नता हो रही है। इस योजना ने न केवल पशुपालकों बल्कि अन्य ग्रामवासियों को भी बड़े पैमाने पर रोजगार के सूत्र में बांधा है, जो कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था की उन्नति के लिए एक मजबूत पहल साबित हो रही है। वीडियो कान्फ्रेंसिंग से आयोजित इस कार्यक्रम में कलेक्टर भीम सिंह, एडीएम राजेन्द्र कटारा, सीईओ जिला पंचायत  ऋचा प्रकाश चौधरी, उप संचालक कृषि एल.एम.भगत भी शामिल हुए।
रायगढ़ की महिला स्व-सहायता समूह का बढ़ाया हौसला
इस दौरान मुख्यमंत्री बघेल ने रायगढ़ विकासखण्ड के ननसिया ग्राम में गौठान में वर्मी कम्पोस्ट तैयार कर रही वैभव लक्ष्मी महिला स्व-सहायता समूह की सदस्यों से बात की। उन्होंने समूह की महिलाओं से खरीदे गये गोबर की मात्रा और उससे तैयार वर्मी कम्पोस्ट के बारे में जानकारी ली। साथ ही यह भी पूछा कि गोबर विक्रय की राशि प्राप्त हुई की नहीं, समूह की ओर से कीर्ति पटेल ने बताया कि गौठान में 1732 क्विंटल गोबर की खरीदी की गई है तथा गौठान के 20 वर्मी टांके में कम्पोस्ट तैयार किया जा रहा है। वर्मी कम्पोस्ट की पहली खेप तैयार की जा चुकी है जिसकी पैकेजिंग भी हो चुकी है। इसके साथ ही समूह की महिलायें फिनाईल निर्माण और  सब्जी उत्पादन, गोबर के दिए व गमले बनाने का कार्य भी करती है, जिससे उन्हें अच्छा मुनाफा हो रहा है। उन्होंने ग्रामीणजनों को सीधे व त्वरित लाभ पहुंचाने वाले इस योजना के लिए धन्यवाद दिया। मुख्यमंत्री बघेल ने समूह की महिलाओं को आगे बढ़िया काम करने के लिए अपनी शुभकामनाएं दी।

21-10-2020
नारायणपुर कलेक्टर अभिजीत सिंह ने मलेरिया उन्मूलन के लिए किए जा रहे कामों की समीक्षा के लिए बैठक ली

रायपुर/नारायणपुर। मलेरिया उन्मूलन के लिए किए जा रहे कार्यों के बारे जानकारी लेने कलेक्टर अभिजीत सिंह ने बैठक ली। कलेक्टर ने मलेरिया उन्मूलन के संबंध में चर्चा करते हुए मलेरिया प्रकरणों और इसके रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रयासों व मलेरिया मुक्ति के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित कार्यक्रमों की समीक्षा की। उन्होंने मलेरिया से सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्रों के बारे में जानकारी ली और इन क्षेत्रों में मलेरिया मुक्ति के लिए किए जा रहे कार्यों के बारे में पूछा। कलेक्टर सिंह ने मलेरिया जांच किट, मच्छरदानी वितरण और कार्य मेें लगे अमले की जानकारी ली। उन्होंने माह जनवरी-फरवरी व जून-जुलाई में चलाए गए मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान में मलेरिया पॉजिटिव पाए गए लोगों की जानकारी ली। सिंह ने मलेरिया लार्वा को नष्ट करने के लिए गम्बूसिया मछली को तालाबों में डालने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने जिले में सभी तालाबों का सर्वे कर 10 दिन के अंदर गम्बूसिया मछली डालने के निर्देश दिए। नगर पालिका क्षेत्र में मछली डालने के लिए नगर पालिका अधिकारी को सहयोग करने कहा।

बैठक में कलेक्टर अभिजीत सिंह ने कहा कि जिन जगहों पर पानी का जमाव होता है, उन जगहों पर मच्छर अपना लार्वा दे जाते हैं। ऐसी जगहों पर ध्यान रखा जाए कि पानी का जमाव न हो और पंचायतों द्वारा सोकपिट बनाया जाए। स्वास्थ्य अमले द्वारा ऐसी जगहों पर केरोसीन या अन्य दवाईयों का छिड़काव किया जाए। सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग द्वारा आश्रम-छात्रावासों में मच्छरदानी का नियमित उपयोग एवं वितरण जरूर किया जाए। वहीं नगर पालिका अधिकारी से मलेरियारोधी दवाईयों का छिड़काव एवं फागिंग किया जाना सुनिश्ति किया जाए। कलेक्टर ने कहा कि ग्राम पंचातयों में आयोजित होने वाली ग्रामसभा में उपस्थित लोगों को मलेरिया से बचाव के लिए जागरूक किया जाए और मलेरिया से बचाव के लिए एक बिंदु अवश्य रखा जाए।

मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एआरगोटा ने बताया कि मलेरिया मुक्ति के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। जिले में मलेरिया मुक्ति के लिए मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान चलाया गया है। इस अभियान के प्रथम चरण में 173000 लोगों का परीक्षण किया गया। जिसमें 11551 लोग पॉजिटिव पाये गये थे। वहीं द्वितीय चरण में 160000 लोगों का परीक्षण किया गया, जिसमें से 6465 लोग पॉजिटिव पाये गये थे। जिले में मलेरिया के दर में 57 प्रतिशत की कमी आई है। मलेरिया से बचाव के लिए लोगों को विभिन्न माध्यमों से जागरूक किया जा रहा है, जिसके लिए लोगों को निःशुल्क मच्छरदानी का वितरण, मच्छरदानी का नियमित उपयोग, घर के आसपास पानी का भराव न करने आदि के बारे में जानकारी दी जा रही है। उन्होंने बताया कि जिले में मलेरिया से बचाव के लिए मलेरिया जांच किट व दवाईयों का पर्याप्ट मात्रा में स्टॉक है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804