GLIBS
14-10-2020
केन्द्र सरकार के फैसले से भूमि विस्थापितों और बस्तर की जनता के तमाम सपने चकनाचूर : शैलेश 

रायपुर। नगरनार स्टील प्लांट को एनएमडीसी से अलग करने और बेचने की तैयारी करने के फैसले को कांग्रेस ने बस्तर और छत्तीसगढ़ की जनता के साथ छल करार दिया है। प्रदेश कांग्रेस के संचार प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने इस फैसले पर कड़ी आपत्ति व्यक्त की है। उन्होंने  कहा है कि यह छत्तीसगढ़ में सार्वजनिक क्षेत्र की संपत्तियों पर बालको के बाद एक और खुली डकैती की घटना है,इसका जवाब जनता देगी। उन्होंने कहा है कि नगरनार स्टील प्लांट के लिए जमीन देने वाले भूमि विस्थापितों के अलावा बस्तर की जनता के तमाम सपने केंद्र सरकार के इस फैसले से चकनाचूर हो गए। नगरनार प्लांट के निजीकरण से छत्तीसगढ़ के और खासकर बस्तर के अनुसूचित जाति, जनजाति और पिछड़े वर्ग और गरीब लोगों की नौकरी पाने की उम्मीदों को धक्का लगा है। अभी छत्तीसगढ़ के लोग बालको को बेचने को भूले नहीं है। जब बालको को एनडीए की सरकार ने 500 करोड़ रुपए में निजी हाथों में सौंप दिया गया था। जबकि बालको के अंदर उपलब्ध स्क्रैप का मूल्य ही इससे कहीं ज्यादा था। नगरनार के निजीकरण से बस्तर और छत्तीसगढ़ के विकास का केंद्र सरकार का वादा खत्म हो जाएगा। नगरनार स्टील प्लांट अब निजी हाथों में जाकर किसी उद्योगपति के लिए लाभ कमाने की संस्था बनेगा। अब छत्तीसगढ़ से संसद में चुनकर गए सांसदों और पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह को बताना चाहिए कि वे केंद्र में बैठी भाजपा सरकार के इस फैसले पर क्या सोचते हैं? क्या वे बस्तर की जनता के साथ खड़े होकर नगरनार स्टील प्लांट के निजीकरण का विरोध करेंगे? या फिर नरेंद्र मोदी के डर से चुप्पी साधे बैठे रह जाएंगे? छत्तीसगढ़ की जनता प्रदेश के भाजपा नेताओं की चुप्पी को देख रही है और इसका मतलब भी समझ रही है।

07-10-2020
गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिला कांग्रेस कमेटी मीडिया विभाग में हुई नियुक्तियां

रायपुर। मरवाही विधानसभा उपचुनाव को देखते हुए कांग्रेस ने जिला कांग्रेस के मीडिया विभाग का गठन किया है। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने जानकारी दी है कि गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिला कांग्रेस अध्यक्ष मनोज गुप्ता के प्रस्ताव और जिला गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही के प्रभारी अटल श्रीवास्तव की अनुशंसा पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम की स्वीकृति के अनुसार जिला कांग्रेस कमेटी जिला गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में मीडिया विभाग में नियुक्तियां की गई है। विरेन्द्र बघेल मरवाही, साहिद राइन पेण्ड्रा, अमीर अली गौरेला, जयदत्त तिवारी को जिला प्रवक्ता बनाया गया है। राकेश शर्मा पेण्ड्रा प्रेस, प्रिंट, इलेक्ट्रानिक मीडिया समन्वय का कार्य करेंगे। प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग की ओर से प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अभय नारायण राय और संचार विभाग के सदस्य विभोर सिंह को समुचित मार्गदर्शन एवं सहयोग प्रदान करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

26-09-2020
कांकेर की घटना पर कांग्रेस का बयान,शैलेश ने कहा-आरोपियों का पार्टी से कोई संबंध नहीं 

रायपुर। कांकेर जिले में पत्रकारों पर हुए हमले के मामले में लग रहे गंभीर आरोपों से कांग्रेस पार्टी का बचाव करने प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी सामने आए हैं। शैलेश ने एक वीडियो संदेश जारी कर कहा है कि, आरोपियों का कांग्रेस से कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा है कि, कांकेर की मारपीट की घटना का वीडियो सामने आया है। वीडियो में अपशब्दों का प्रयोग भी हो रहा है। मारपीट करने वालों में कांग्रेस से किसी का संबंध नहीं है। जो व्यक्ति गाली-गलौज कर रहा है, वो कांग्रेस से निष्कासित है। निर्दलीय पार्षद है, उसने कांग्रेस के खिलाफ चुनाव लड़ा है। इसे लेकर पुलिस की ओर से कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए, यह कांग्रेस का स्पष्ट मत है। जो भी दोषी है उस पर कार्रवाई होनी चाहिए।

16-09-2020
यह पहला मौका नहीं, जब मोदी सरकार ने बर्दाश्त न होने वाला झूठ बोला है : शैलेश नितिन त्रिवेदी

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने केन्द्र की मोदी सरकार को घेरा है। त्रिवेदी ने कहा है कि, केंद्र सरकार का बयान स्वीकार्य नहीं है कि, लॉक डाउन के दौरान घर लौटते गरीब मजदूरों की मौतों का कोई आंकड़ा उपलब्ध नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस गैरजिम्मेदाराना रवैये के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए। त्रिवेदी ने कहा है कि, जिस समय मजदूर पैदल घर लौटने को मजबूर हुए, उस समय देश में आपदा प्रबंधन कानून लागू था। केंद्र सरकार हर फैसले खुद ले रही थी। करोड़ों लोगों का रोजगार छिन गया और आज सरकार कह रही है कि, उसके पास कोई जानकारी नहीं है। यह पहला मौका नहीं है, जब नरेंद्र मोदी की सरकार ने ऐसा बर्दाश्त न होने वाला झूठ बोला है।

इससे पहले नोटबंदी में भी सरकार ने देश के करोड़ों लोगों को बैंकों के सामने कतार में खड़ा कर दिया और सैकड़ों लोगों की जानें गईं। प्रधानमंत्री ने कहा था कि, 50 दिन में सब कुछ ठीक न हुआ तो फांसी चढ़ा देना। न कालाधन आया, न आतंकवाद और न नक्सलवाद खत्म हुआ। लाखों व्यापारियों का कारोबार मंदी की चपेट में जरूर चला गया। त्रिवेदी ने कहा है कि, दूसरी आजादी की तरह जश्न मनाकर जीएसटी लागू किया गया, लेकिन आज पता चल रहा है कि दुनिया का सबसे जटिल और निरर्थक जीएसटी लागू करके प्रधानमंत्री ने देश के मंझोले और छोटे उद्योग और कारोबार की कमर तोड़ कर रख दी है। यही वजह है कि, कोरोना के बाद देश की अर्थव्यवस्था 40 प्रतिशत तक सिकुड़ गई है। ऐसा लगने लगा है कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अच्छे दिन का वादा करके देशवासियों को सबसे बुरे दिन दिखा रहे हैं।

06-09-2020
राज्य सरकार के कोरोना से लड़ाई में लिए फैसलों का कांग्रेस ने किया स्वागत

रायपुर। राज्य सरकार की ओर से कोरोना से लड़ाई में रविवार को लिए फैसलों का स्वागत प्रदेश कांग्रेस ने किया। प्रदेश कांग्रेस संचार प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि विपरीत परिस्थितियों के बावजूद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल,स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव और पूरी सरकार जिस तरह से संयम और संतुलन के साथ जनहित में फैसले ले रही है उससे यह आशा छत्तीसगढ़ में बलवती हो रही है कि हम सब कोरोना के खिलाफ लड़ाई जीतने में सफल होंगे। कोरोना मरीजों को निशुल्क दवाई वितरण, बेड की संख्या बढ़ाई जाने जैसे जनहितकारी फैसलों से कोरोना से लड़ने और जीतने का छत्तीसगढ़ का संकल्प और दृढ़ हुआ है। प्रदेश के सरकारी कर्मचारी—अधिकारी, सफाईकर्मी, स्वास्थ्यकर्मी, डॉक्टर, पुलिस,ग्राम पंचायत से लेकर जिला पंचायत तक के पदाधिकारी और पंचायतकर्मी पूरी ताकत से कोरोना के खिलाफ लड़ रहे हैं। छत्तीसगढ़ में इस लड़ाई में अनेक योद्धाओं ने अपनी जान तक गंवाई है।
शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में टेस्टिंग बढ़ाए जाने और केंद्र सरकार द्वारा आवागमन में ढिलाई दिए जाने के परिणाम स्वरूप कोरोना संक्रमण के केसे की संख्या भी बढ़ी है।छत्तीसगढ़ सरकार ने इसे गंभीरता से लेते हुए कोरोना के खिलाफ लड़ाई को तेज करते हुए लगातार महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं। शुरू से छत्तीसगढ़ सरकार ने तेजी से फैसले लेते हुए परिस्थितियों के अनुरूप राज्य में जनहित में फैसले लिए और इसी का परिणाम है कि देश में करोना के मरीजों की मृत्यु दर 1.73 प्रतिशत  है लेकिन छत्तीसगढ़ में यह इसकी आधी से भी कम मात्र .84 प्रतिशत ही है। त्रिवेदी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में कोरोना की जांच के लिए लैब की सुविधा पहले सिर्फ रायपुर में थी लेकिन छत्तीसगढ़ सरकार ने टेस्टिंग की लैब जगदलपुर,अंबिकापुर,राजनांदगांव,बिलासपुर में भी स्थापित की और अब सरकार प्रतिदिन बाइस हजार सैंपल टेस्ट करने के लक्ष्य के साथ काम कर रही है। टेस्टिंग बढ़ने के साथ-साथ कोरोना संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़ी है, जो स्वाभाविक है। टेस्टिंग बढ़ने से मरीजों का आइसोलेशन और कोरोना संक्रमण पर बेहतर नियंत्रण संभव हुआ है।

02-09-2020
Video : प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग आगामी सूचना तक बंद रहेगा, सभी करेंगे वर्कफ़्राम होम

रायपुर। राजधानी में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच प्रदेश कांग्रेस ने एहतियातन बड़ा फैसला लिया है। संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि, एहतियातन आगामी सूचना तक संचार विभाग का कार्यालय नहीं खुलेगा। हम सब वर्कफ्राम होम करेंगे। टीवी लाइव डिबेट में भी कांग्रेस का पक्ष रखने वाले सभी साथियों से ऑनलाइन ही जुड़ने का आग्रह किया गया है। किसी संबंध में बाइट या प्रतिक्रिया के लिए फोन पर संपर्क करने का निवेदन किया गया है। कोई भी समस्या या आवश्यकता होने पर सीधे शैलेश नितिन त्रिवेदी से संपर्क करने का निवेदन किया गया है। यह निर्णय आगामी सूचना तक प्रभावशील रहेगा।

26-08-2020
धर्म से धर्म को लड़ाने की साजिश, घटना सामने आने पर मूर्ति चोरों पर होगी कड़ी कार्रवाई : शैलेश

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के बयान पर कांग्रेस संचार प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने जवाब दिया है। त्रिवेदी ने कहा है कि,जशपुर में और प्रदेश में किसी भी स्थान पर मूर्ति चोरी की कोई घटना प्रकाश में आती है, तो छत्तीसगढ़ सरकार उसकी जांच कराएगी। मूर्तिचोरों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। त्रिवेदी ने मूर्ति चोरी की घटना का लाभ उठाकर धर्म से धर्म के बीच वैमनस्यता फैलाने के प्रयासों की कड़ी निंदा की है।

शैलेश नितिन त्रिवेदी ने मांग की है कि, भ्रम और झूठ का सहारा लेकर धर्म से धर्म को लड़ाने की कोशिश करने के लिए भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमन सिंह पर मामला दर्ज किया जाए। छत्तीसगढ़ सरकार की ओर से जनहित में लोकहित में किसान हित में और छत्तीसगढ़ हित में लागू की जा रही लोक कल्याणकारी योजनाओं और इन योजनाओं की सफलता से भाजपा बौखला गई है। अब भाजपा ने सांप्रदायिकता फैलाने के अपने राष्ट्रीय एजेंडे पर छत्तीसगढ़ में भी अमल करना शुरू कर दिया है। भाजपा ने नफरत फैलाने की अपनी नीति पर काम करना शुरू कर दिया है। छत्तीसगढ़ शांत प्रदेश है। छत्तीसगढ़ के वातावरण को दूषित करने और वैमनस्यता फैलाने की अनुमति किसी को भी नहीं दी जानी चाहिए।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804