GLIBS
20-10-2020
केन्द्रीय दल ने किया मेकाहारा का निरीक्षण,कोरोना के उपचार नियंत्रण और प्रबंधन में किए जा रहे उपायों को जाना

रायपुर। केन्द्रीय दल ने मंगलवार को मेडिकल कॉलेज अस्पताल रायपुर का निरीक्षण किया। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार की ओर से कोविड-19 के उपचार, नियंत्रण एवं प्रबंधन के प्रयासों को और अधिक मजबूती प्रदान करने दल को भेजा गया। टीम ने कंटेनमेंट, निगरानी, परीक्षण, संक्रमण की रोकथाम और कुशल नैदानिक प्रबंधन को और अधिक मजबूत बनाने की दिशा में मेकाहारा के विशेषज्ञों से चर्चा की। मेडिकल कॉलेज एवं अंबेडकर अस्पताल में लगभग एक घंटे रही सेंट्रल टीम ने कोविड-19 के प्रभावी प्रबंधन, समय पर निदान और उनके फॉलो अप के संबंध में मार्गदर्शन किया। केन्द्र से आई उच्च स्तरीय टीम में संयुक्त सचिव ऋचा शर्मा, डॉ.सुनील गिट्टे (संयुक्त संचालक, एन.आई.एम.आर. दिल्ली), डॉ. रंगनाथन टी.गंगा (एम्स रायपुर) शामिल हैं।


सेंट्रल टीम ने सबसे पहले अंबेडकर अस्पताल स्थित टेलीकंसल्टेंशन हब के जरिए अन्य विशेषीकृत कोविड अस्पताल एवं कोविड केयर सेंटर्स के आपसी जुड़ाव और इसके माध्यम से विशेषज्ञों की ओर से दी जा रही चिकित्सकीय परामर्श सेवा के बारे में जानकारी ली। इसके बाद उन्होंने अंबेडकर अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ.विनित जैन से कोविड-19 मरीजों को उपलब्ध कराए जा रहे उपचार सुविधा, अस्पताल में उपलब्ध संसाधन, हेल्थ केयर वर्कर्स के संक्रमण से संबंधित मौजूदा स्थितियों की जानकारी ली। इसके साथ ही उन्होंने जैव चिकित्सा अपषिष्ट के उचित निष्पादन एवं निपटारण के प्रभावी तरीकों की समीक्षा की। इसके बाद मेडिकल कॉलेज स्थित वायरोलॉजी लैब में सैम्पल कलेक्शन , सैम्पल एक्सट्रेक्शन, डाटा कलेक्शन औेर जांच के लिए उपलब्ध व्यवस्थाओं को देखा। विशेषज्ञों से चर्चा के दौरान टीम ने संक्रमण का समय पर पता लगाने और इसके बाद के कार्यों से संबंधित चुनौतियों से प्रभावी ढंग से निपटने के उपायों के संबंध में विस्तारपूर्वक चर्चा की। साथ ही साथ उन्होंने राज्य सरकार की ओर से उठाए जा रहे कदमों और क्लीनिकल प्रबंधन नियमों के बारे जानकारी ली। इस दौरान अंबेडकर अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ.विनित जैन, सीएमएचओ रायपुर डॉ. मीरा बघेल, क्रिटिकल केयर विशेषज्ञ मेकाहारा डॉ.ओपी सुंदरानी, मेकाहारा में कोविड-19 वायरोलॉजी लैब की नोडल आफिसर डॉ.निकिता शेरवानी, अंबेडकर अस्पताल के सह चिकित्सा अधीक्षक डॉ.अल्ताफ युसूफ मीर, एनएचएम. के प्रोग्राम मैनेजर एवं को-आर्डिनेटरआनंद साहू मौजूद थे।

19-10-2020
कलेक्टर ने कहा, कोरोना मरीजों की देखभाल में न हो कोताही, उपचार के लिए डॉक्टरों की लगाएं रिजर्व में ड्यूटी

जांजगीर-चांपा। कलेक्टर यशवंत कुमार ने सोमवार को जिला कार्यालय में कोविड-19 कोर कमेटी की बैठक में कहा कि कोविड अस्पताल सहित कोविड केयर सेंटर्स में डॉक्टरों की रिजर्व में ड्यूटी लगाएं। किसी डॉक्टर के आपातकालीन अवकाश में जाने की स्थिति में  रिजर्व स्टाफ की ड्यूटी लगाई जा सके। कलेक्टर ने कहा कि सैंपल कलेक्शन का कार्य लक्ष्य के अनुसार प्रतिदिन पूरा करें। किसी भी स्थिति में कोविड जांच की संख्या मे कमी नहीं आनी चाहिए। उन्होंने कहा कि होम आइसोलेशन के मरीजों के स्वास्थ्य की जानकारी टेलीफोन के माध्यम से नियमित लेते रहे। लक्षण पाए जाने पर उसे तत्काल जिला अस्पताल अथवा कोविड केयर सेंटर में शिफ्ट करने की कार्रवाई करें। होम आइसोलेशन के मरीजों को डॉक्टरों की निगरानी में अनुमति दी गई है। संबंधित डॉक्टर से स्वास्थ्य संबंधी जानकारी संधारित करवाएं। कलेक्टर ने बैठक मे ऑक्सीजन पाइप लाइन, आक्सीजन बेड,  दवाइयों की उपलब्धता, स्वच्छता, कोविड केयर सेंटर की व्यवस्था के संबंध में जानकारी ली। जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ पुष्पेंद्र लहरे ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार स्वस्थ राज्य योजना के तहत अब प्रत्येक बुधवार और गुरुवार को संबंधित गांव के मितानिनों द्वारा घर-घर जाकर स्वास्थ्य सर्वे किया जाएगा। लक्षण वाले व्यक्तियों की जांच के लिए सैंपल कलेक्शन के लिए भी व्यवस्था की जाएगी। बैठक में जिला पंचायत सीईओ तीर्थराज अग्रवाल, अपर कलेक्टर लीना कोसम सहित कोर कमेटी के सदस्य उपस्थित थे।

 

17-10-2020
Breaking:  प्रदेश में मिले 2515 कोरोना मरीज, 2732 हुए स्वस्थ, 14 मौतें

रायपुर। प्रदेश में शनिवार को भी नए मरीजों की संख्या से अधिक स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या है। 2515 मरीजों की पहचान हुई है तो 2732 मरीज स्वस्थ हुए हैं। इनमें 509 अस्पताल से और 2223 मरीज होम आइसोलेशन से डिस्चार्ज किए गए हैं। आज 7 मरीजों की मौत हुई है। पूर्व की 7 मौत की जानकारी विभाग को विलंब से आज मिली है। प्रदेश में दुर्ग जिले से 164, राजनांदगांव से 167, बालोद से 68, बेमेतरा से 38, कबीरधाम से 40, रायपुर से 182, धमतरी से 83,बलौदाबाजार से 43, महासमुंद से 91, गरियाबंद से 39, बिलासपुर से 151, रायगढ़ से 224, कोरबा से 163, जांजगीर-चांपा से 236, मुंगेली से 38, गौरेला पेंड्रा मरवाही से 5, सरगुजा से 88 ,कोरिया से 40, सूरजपुर से 51, बलरामपुर से 49, जशपुर से 41, बस्तर से 126, कोंडागांव से 114, दंतेवाड़ा से 84, सुकमा से 27, कांकेर से 79, नारायणपुर से 32, बीजापुर से 49 मरीजों की पहचान हुई है।  प्रदेश में 27180 एक्टिव केस हैं। अब तक 1439 मरीजों की मौत हो चुकी है। आज 21664 लोगों की जांच की गई है। मेडिकल बुलेटिन देखने क्लिक करें     

 

13-10-2020
कलेक्टर ने कहा,जनसंख्या के 35 प्रतिशत से अधिक कोरोना संक्रमित क्षेत्र कंटेनेमेंट जोन घोषित किए जाएंगे

कोरबा। जिले के ग्रामीण-शहरी इलाकों में जहां-जहां जनसंख्या से 35 प्रतिशत तक या उससे अधिक कोरोना संक्रमितों की पहचान हुई है, उन सभी इलाकों को कंटेनमेंट जोन घोषित कर संक्रमण को बढ़ने से रोकने की कवायत जिला प्रशासन से शुरू कर दी है। कलेक्टर किरण कौशल ने ग्रामीण इलाकों में ऐसे सभी गांवो और शहरी क्षेत्रो में वार्डो की रिपोर्ट दो दिनो में मांगी है जहां 30 से 35 प्रतिशत तक रहवासी कोरोना संक्रमित हो गये हैं। कलेक्टर की जिले में कोरोना को बढ़ने से रोकने की रणनीति के तहत ऐसे इलाकों को कंटेनमेंट जोन घोषित कर कोविड प्रोटोकाॅल के अनुसार उपाय किये जायेंगे। ऐसे सभी इलाकों में सभी घरों के हर एक व्यक्ति का स्वास्थ्य सर्वे होगा। सर्दी, खांसी, बुखार से पीड़ित लोगों की पहचान होगी। हर एक व्यक्ति का कोविड टेस्ट कराया जायेगा। ऐसे कंटेनमेंट जोन घोषित इलाको में कोविड प्रोटोकाॅल की पाबंदियां भी जिला प्रशासन लागू कर सकता है। कलेक्टर किरण कौशल ने आज समय सीमा की साप्ताहिक बैठक में इस संबंध में स्वास्थ्य, राजस्व एवं अन्य अधिकारियों के साथ गहन विचार-विमर्श कर जिले में कोरोना के प्रसार को रोकने की रणनीति तय की। सभी विकासखण्ड मुख्यालयों से अधिकारी और मैदानी अमला वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से इस बैठक में शामिल हुआ। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुंदन कुमार, नगर निगम आयुक्त एस. जयवर्धन, सीएमएचओ डाॅ.बीबी बोडे, संयुक्त कलेक्टर सूर्यकिरण तिवारी सहित सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी भी शामिल हुए।

कोविड अस्पतालों के निरीक्षण में देरी, कलेक्टर ने व्यक्त की नाराजगी

जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुये मरीजों के इलाज की अतिरिक्त सुविधा विकसित करने के उद्देश्य से स्थापित कोविड अस्पतालों के निरीक्षण में देरी पर आज समय सीमा की साप्ताहिक बैठक में कलेक्टर किरण कौशल ने गहरी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से निरीक्षण दल के प्रभारी सिविल सर्जन डाॅ. अरूण तिवारी के प्रति नाराजगी व्यक्त करते हुये अगले तीन दिनों के भीतर कोविड का इलाज कर रहे सभी संचालित अस्पतालों का निरीक्षण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के कड़े निर्देश दिये। कलेक्टर ने ग्रामीण इलाको में भी कोविड केयर सेंटर बनाने के लिये चिन्हांकित भवनों और उनमें उपलब्ध सुविधाओं का निरीक्षण कर रिपोर्ट दो दिनों मे प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उल्लेखनीय है कि जिले में ईएसआईसी अस्पताल भवन में विशेष कोविड अस्पताल का संचालन किया जा रहा है। इसके साथ ही स्याहीमुड़ी स्थित एजुकेशन हब में कोविड केयर सेंटर संचालित है। निजी क्षेत्रों में न्यू कोरबा अस्पताल और होटल महाराजा के कोविड अस्पताल में मरीजों का इलाज किया जा रहा है। इसके साथ ही सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों बालको, एनटीपीसी, एसईसीएल गेवरा को भी कोविड केयर सेंटरों की स्थापना के निर्देश कलेक्टर द्वारा दिये गये हैं। इसी प्रकार भैसमा, चैतमा और पोड़ी में भी नये कोविड केयर सेंटर बनाने की योजना है। इन सभी जगहों पर उपलब्ध सुविधाओं और कोविड इलाज के लिये शासकीय निर्देशों तथा प्रोटोकाॅल अनुसार नयी सुविधायें विकसित करने कलेक्टर ने निरीक्षण दल बनाये हैं। सभी निरीक्षण कर अगले तीन दिनों में कलेक्टर ने रिपोर्ट मांगी है।

 

13-10-2020
कोरोना के संक्रमण रोकने 8 दिनों में 83319 घरों का किया सर्वे, सर्दी, खांसी, बुखार वाले 605 मरीज किए चिन्हित

भिलाई। महापौर व भिलाई नगर विधायक देवेन्द्र यादव, कलेक्टर डॉ.सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे और निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी के निर्देशानुसार नगर निगम और महिला एवं बाल विकास विभाग की सयुंक्त टीम कोरोना के रोकथाम को लेकर डोर टू डोर सर्वे कर रही हैं। कोरोना से बचाव को लेकर लोगों को मास्क पहनने, भीड़-भाड़ वाले जगहों पर नहीं जाने और एक दूसरे के बीच निर्धारित दूरी बनाए रखने की अपील किया जा रहा है। सर्वे के दौरान परिवार के किसी सदस्य को सर्दी, खांसी, बुखार, सांस लेने में तकलीफ की शिकायत पर कोरोना की जांच के लिए प्रेरित किया जा रहा है। आठ दिनों में सयुंक्त टीम ने 83319 घरों का सर्वे कर चुकी है। सर्वे के दौरान 605 लोगों में कोरोना से संबंधित लक्षण पाए जाने पर स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से 572 लोगों का आरएजी टेस्ट किया गया। जांच में 72 लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव आई। जिनकी रिपोर्ट निगेटिव आई। उनमें से 235 लोगों का जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम ने आरटीपीसीआर जांच के लिए सैंपल लिया है।

आठ दिन में उच्च जोखिम वाले 66 व्यक्ति किए गए चिन्हित

5 से 12 अक्टूबर के बीच जोन-1, 2, 3, 4 और 5 के कर्मचारियों द्वारा किए गए सर्वे में 66 लोगों को उच्च जोखिम वाले व्यक्ति के रूप में चिन्हित किया गया। चिन्हित सभी व्यक्तियों की सूची जिला स्वास्थ्य विभाग को सौंपी गई है। तुषार वर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि इनमें से ऐसे व्यक्ति जो घर से बाहर नहीं निकल सकते उन्हें उनके घर पर ही कोरोना टेस्ट की सुविधा मुहैया कराई जा रही है! जोन-1 नेहरू नगर की टीम ने 16808 घरों का सर्वे किया। सर्वे में 196 कोविड-19 के लक्षण वाले व्यक्ति मिले। वहीं 19 लोगों को उच्च जोखिम वाले पाए गए। कर्मचारियों की सलाह के अनुसार 192 लोगों ने आरएजी टेस्ट कराया। इसमें से 22 लोगों का रिपोर्ट पाजिटिव आया। निगेटिव पाए गए 104 लोगों का आरटीपीसीआर टेस्ट लिया गया। जोन-2 वैशाली नगर की टीम ने 23129 घरों का सर्वे किया। सर्वे में 144 कोविड-19 के लक्ष्ण वाले व्यक्ति मिले। वहीं 23 लोगों को उच्च जोखिम वाले पाए गए। कर्मचारियों की सलाह के अनुसार 105 लोगों ने आरएजी टेस्ट कराया। इसमें से 23 लोगों का रिपोर्ट पाजिटिव आया। निगेटिव पाए गए 63 लोगों का आरटीपीसीआर टेस्ट लिया गया।

जोन-3 मदर टेरेसा नगर टीम ने अब तक 14566 घरों का सर्वे किया। सर्वे में 138 कोविड-19 के लक्ष्ण वाले व्यक्ति के रूप में चिन्हित किया। 9 लोगों को उच्च जोखिम वाले पाए गए। कर्मचारियों की सलाह के अनुसार 135 लोगों ने आरएजी टेस्ट कराया। इसमें से 14 लोगों का रिपोर्ट पाजिटिव आया। निगेटिव पाए गए 27 लोगों का आरटीपीसीआर टेस्ट लिया गया। जोन-4 वीर शिवाजी नगर की टीम ने अब तक 13709 घरों का सर्वे किया। सर्वे में 59 कोविड-19 के लक्ष्ण वाले व्यक्ति के रूप में चिन्हित किया। 9 लोगों को उच्च जोखिम वाले पाए गए। कर्मचारियों की सलाह के अनुसार 54 लोगों ने आरएजी टेस्ट कराया। इसमें से 1 लोगों का रिपोर्ट पाजिटिव आया। जोन-5 सेक्टर-6 की टीम ने अब तक 15107 घरों का सर्वे किया। जिसमें 68 कोविड-19 के लक्ष्ण वाले व्यक्ति के रूप में चिन्हित किया। 6 लोगों उच्च जोखिम वाले पाए गए। कर्मचारियों की सलाह के अनुसार 86 लोगों ने आरएजी टेस्ट कराया। इसमें से 12 लोगों का रिपोर्ट पाजिटिव आया। निगेटिव पाए गए 41 लोगों का आरटीपीसीआर टेस्ट लिया गया।

 

13-10-2020
Video: कोरोना के इलाज में निर्धारित दरों से अधिक बिल लिए जाने पर की जाएगी कार्यवाही: कलेक्टर

दुर्ग। कोरोना के मरीजों के इलाज को लेकर सरकारी निर्धारित दरों के ऊपर मनमाने ढंग से निजी अस्पतालों द्वारा बिल लिए जाने के मामले में कलेक्टर डॉ.सर्वेश्वर भूरे ने कार्यवाही किए जाने की बात कही है। उन्होेंने कहा कि कोरोना के इलाज के लिए सरकार ने समय-समय पर कई गाइडलाइन जारी की है। इसके लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। किंतु अस्पतालों द्वारा शिकायत प्राप्त हो रही है। जिन पर जुर्माना व अन्य कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने यह भी कहा कि जिला प्रशासन द्वारा अस्पतालों का निरीक्षण की जुर्माना राशि के द्वारा अंकुश लगाने की कोशिश की जा रही है और भविष्य में ऐसी गलतियां ना हो उसके लिए नोडल अधिकारी भी नियुक्त है। पूरे मामले में कलेक्टर जिला कलेक्टर से जब भी यह जानने की कोशिश की गई कि प्राइवेट अस्पतालों द्वारा मनमाने ढंग से 5 से लेकर के 12 लाख तक का बिल दिया जा रहा है। वह किन बातों का दिया जा रहा है। उस मामले में कलेक्टर ने कहा कि इन सब बातों के लिए अगर शिकायत प्राप्त होती है तो उस पर उचित कार्यवाही की जाएगी। वहीं कोरोना से हुई मौत में मामलों की शिकायत पर उन्होंने कहा कि कार्यालय में शिकायत आने के बाद उस पर उचित कार्रवाई की जाएगी और मामले का निपटारा भी किया जा सकेगा।  

 

 

12-10-2020
प्रचार रथ के माध्यम से कोरोना को हराने फैला रहे जन जागरूकता संदेश,गलियों में पहुंच रहा रथ

भिलाई। प्रचार रथ शहर की हर गलियों में पहुंचकर कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक कर रही है। कोरोना को हराने के लिए जन जागरूकता के तहत निगम प्रशासन द्वारा प्रचार रथ तैयार किया गया है। महापौर एवं भिलाई नगर विधायक देवेंद्र यादव ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में स्वयं को सुरक्षित रखने के साथ ही दूसरों को भी सुरक्षित रखना आवश्यक है, इसके लिए विशेषज्ञों द्वारा कई उपाय सुझाए गए हैं। इसका पालन करते हुए हम कोरोनावायरस को हराने में अपनी अहम किरदार निभा सकते हैं। कोरोना के प्रति लोगों में जागरूकता आने से कोरोना को फैलने से रोकने में सफलता मिलेगी! निगमायुक्त ऋतुराज रघुवंशी ने जन जागरूकता लाने के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए हैं। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के तहत नागरिकों में जागरूकता लाने के लिए शहर के विभिन्न वार्ड क्षेत्र में रथ शांति, नगर महादेव कॉलोनी, पटवारी बाड़ी, दशहरा मैदान, प्रजापति भवन के पास, चंद्र नगर , अंबेडकर बस्ती, गांधी कॉलोनी, शकुंतला रोड, गुरुनानक मार्केट, पंचमुखी हनुमान मंदिर, डबरा पारा, जवाहर नगर, बाबा दीप सिंह नगर, रामनगर, चंदन पारा, गोल मार्केट, ईडब्ल्यूएस क्षेत्र, कालीबाड़ी क्षेत्र, कैलाश नगर, ढांचा भवन क्षेत्र, संग्राम चौक, जागृति पारा, सोनिया गांधी नगर, शंकर नगर, जागृति पारा, शिव पारा, सूर्य कुंड क्षेत्र, फौजी नगर, हनुमान मंदिर, दुर्गा मंच, घासीदास नगर, शास्त्री नगर, वृंदा नगर, प्रेम नगर, कुरूद, वैशाली नगर, राजीव नगर, नेहरू नगर, स्मृति नगर, राधिका नगर, खुर्सीपार, जुनवानी, खमरिया, कैंप क्षेत्र सहित संपूर्ण निगम क्षेत्र में प्रचार कर रही है। प्रचार रथ में कोविड-19 से संबंधित जानकारी प्रदाय की जा रही है, कोरोना लक्षण आने पर कौन से नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जांच की सुविधा उपलब्ध होगी, वायरस की चपेट में आने पर किस तरह बचाव करना है, घरों व सार्वजनिक स्थानों पर किस तरह एहतियात बरतना है, शरीर में लक्षण दिखाई देने पर किस प्रकार से सतर्क रहना है, कोरोना के सामान्य लक्षण किस प्रकार के होते हैं, वायरस को फैलने से कैसे रोका जा सकता है, रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर करने के सामान्य उपाय क्या होंगे, कोविड-19 से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए हेल्पलाइन नंबर, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय, मास्क की अनिवार्यता एवं सोशल डिस्टेंस जैसी जानकारी साउंड सिस्टम एवं प्रदर्शित फ्लेक्स के माध्यम से दी जा रही है।

 

 

10-10-2020
प्रदेश में होम आइसोलेशन पर 10 हजार से अधिक एक्टिव मरीज

रायपुर। छत्तीसगढ़ में अभी तक 58790 कोरोना के संक्रमित मरीज होम आइसोलेशन में रहे हैं। इनमें से 10467 एक्टिव मरीज हैं। 47091 मरीज रिकवर हो चुके हैं। होम आइसोलेशन वाले 564 मरीजों को उनकी स्थिति के आधार पर कोविड केयर सेंटर, 308 को जिला अस्पताल और मरीजों के आग्रह पर 243 को प्राइवेट अस्पताल भर्ती कराया गया है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से अब तक 57353 लोगों को मेडिसीन किट दिया गया।

09-10-2020
कोरोना महामारी से लड़ने खैरागढ़ पुलिस उप संभाग ने दी सहयोग राशि

राजनांदगांव/खैरागढ़। खैरागढ़ अनुविभागीय अधिकारी पुलिस जीसी पति द्वारा कोविड-19 महामारी से पीड़ित व्यक्ति जो कि खैरागढ़ कोविड सेंटर में भर्ती हैं के भोजन व अन्य व्यवस्थाओं के लिये सहयोग राशि दी है। अनुभाग अंतर्गत आने वाले थाना खैरागढ़, गातापार, कैम्प आईटीबीपी द्वारा स्वेच्छा से एकत्र की गई राशि 30930 रुपये अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को प्रदान की गई।

 

09-10-2020
देश में कोरोना के 70496 नए मामले आए, अब तक 106490 लोगों की गई जान

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 70,496 नए मामले सामने आए और 964 लोगों की मौत हुई। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से शुक्रवार को जारी किए आंकड़ों के मुताबिक देश में पिछले 24 घंटों में 78,365 कोरोना मरीज ठीक हुए, जिन्हें विभिन्न अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है। इसके बाद देश में इस प्राण घातक विषाणु से निजात पाने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 59,06,069 हो गई है। इसी अवधि में 70,496 नए लोगों के कोविड-19 से संक्रमित होने की पुष्टि होने के बाद संक्रमितों का आंकड़ा 69,06,152 हो गया है। देश में पिछले रविवार से सक्रिय मामलों में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। पिछले 24 घंटों में 964 मरीजों की मौत होने के बाद देश में इस महामारी से होने वाली मौतों का आंकड़ा 1,06,490 हो गया है। देश में इस समय कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या 8,93,592 है। देश में इस समय मामलों का प्रतिशत 12.94 और रोगमुक्त होने वालों की दर 85.52 प्रतिशत है जबकि मृत्यु दर 1.54 फीसदी रह गई है।

08-10-2020
एनएसयूआई की मुहिम :

कवर्धा। भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) ने कबीरधाम के स्थानीय कवर्धा नगर में जनहित का एक मुहिम चलाया गया। युवा कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष, पार्षद वार्ड नंबर 2 मोहित माहेश्वरी, मुकेश कौशिक, दीपक ठाकुर के मार्गदर्शन में इस अभियान को चलाया गया।  एनएसयूआई विधानसभा अध्यक्ष वाल्मीकि वर्मा ने बताया कि कोरोना मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए मुहिम "अपनी सुरक्षा, परिवार की सुरक्षा" "नो मास्क नो प्रोडक्ट, नो सैनिटाइजर नो प्रोडक्ट" अभियान नगर के मेन मार्केट ऋषभदेव चौक से नवीन बाजार तक चलाया गया। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील की। सभी वर्गों का इस अभियान में सहयोग रहा। इस मुहिम का उद्देश्य एक संदेश के रूप में आम जनमानस तक पहुंचे ताकि सभी सुरक्षित रहे। इस कार्यक्रम में प्रमुख रूप से माधवेश चंद्रवंशी, परमानंद वर्मा, अयोध्या साहू, बीजू चंद्रवंशी, लीला राम साहू सहित कार्यकर्ता मौजूद रहे।

04-10-2020
85 वर्षीय बुजुर्ग ने दी कोरोना को शिकस्त, कहा- कोरोना से डरना नहीं लड़ना है

बीजापुर। जिले के कोविड-19 हास्पिटल में स्वास्थ्य विभाग कि ओर से पूरी तन्मयता एवं सेवाभाव से मरीजों का इलाज किया जा रहा है। इसके फलस्वरूप मरीज जल्द ही स्वस्थ होकर घर लौट रहे हैं। अस्पताल में मरीजों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। समय पर खाने-पीने की व्यवस्था के साथ ही नियमित रूप से स्वास्थ्य परीक्षण, दवाइयों का सेवन कराया जा रहा है। जिले के आवापल्ली निवासी सबसे वयोवृद्ध मरीज 85 वर्ष की है। सर्दी, खांसी एवं बुखार के लक्षण होेने पर कोरोना जांच कराया जिसमें उनका रिर्पोट पॉजिटिव आया था। डाक्टरों ने कोविड हास्पीटल में भर्ती होने का सलाह दिया। 26 सितम्बर से कोविड हास्पीटल बीजापुर में एडमिट थी। जिनका अब डिस्चार्ज हो गया है। बुजुर्ग बताती हैं कि सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। आक्सीजन लेवल बहुत कम हो गया था। डाॅक्टरों द्वारा आक्सीजन लगाया गया, दो दिन तक आक्सीजन की जरूरत पड़ी।

इसी दौरान बुखार एवं खांसी की समस्या हो रही थी। मैं बहुत डर गई थी। लेकिन डाॅक्टरों ने हिम्मत बढ़ाया और मेरा बेहतर इलाज किया। समय-समय पर डाॅक्टरों ने स्वास्थ्य परीक्षण कर दवाइयां खिलायी और हाल-चाल पूछते रहते थे। रोज समय पर गरम भोजन एवं चाय नास्ता दिया जाता था। कमरे की नियमित सफाई होती थी। अस्पताल का माहौल बहुत ही साफ-सुथरा था और कर्मचारियों का सेवा भाव और आत्मीयता से कब स्वस्थ हो गई मुझे पता नहीं चला। मैं अस्पताल आने से पहले बहुत डरी हुई थी लेकिन यहाॅं अपनापन का माहौल मिला एवं मेरा हौसला बढ़ाने में सभी डाॅक्टर एवं नर्स ने कोई कमी नहीं की। इन सभी के सेवा भाव से मुझे कोरोना के जंग में जीत हासिल हुई। इसके लिऐ मैं स्वास्थ्य विभाग एवं जिला प्रशासन का हृदय से आभारी हूं। उन्होंने सभी लोगों से आग्रह करते हुए कहा कि कोरोना से डरना नहीं है, बल्कि लड़ना है और जीतना है। प्रशासन द्वारा मरीजों के इलाज के लिए बेहतर व्यवस्था किया है। कोरोना पॉजिटिव आने पर घबराने की बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं है। अस्पताल का माहौल घर जैसा है। डाक्टरों द्वारा विशेष निगरानी के साथ इलाज किया जा रहा है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804