GLIBS
28-10-2020
अश्लील मैसेज भेजने वाला आरोपी गिरफ्तार

बेमेतरा। मोबाइल से अश्लील मैसेज करने वाले युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। बीते दिनों बेमेतरा सिटी कोतवाली में एक युवती ने लिखित आवेदन देकर बताया कि कुछ दिनों से कोई व्यक्ति मेरे नाम से अश्लील मैसेज मामा के मोबाइल पर भेज रहा है। युवती की शिकायत पर पुलिस अपराध पंजीबद्ध कर जांच कार्यवाही में लग गई। इसमें पुलिस टीम को पता चला कि बिलासपुर जिला अंतर्गत बिल्हा के रहने वाले आरोपी शंकर पटेल ने अश्लील मैसेज युवती के नाम से भेजा जा रहा है। उसे पकड़कर पूछताछ करने पर आरोपी ने अपराध करना कबूल किया। वही पुलिस ने आरोपी को न्यायालय पेश किया, जहाँ से आरोपी को जेल भेजा गया।

24-10-2020
डेली नीड्स की दुकान में चल रहा था आईपीएल सट्टा,2 आरोपी आए पकड़ में

धमतरी। भखारा बस स्टैंड के पास स्थित डेली नीड्स की दुकान में आईपीएल क्रिकेट मैच में हार-जीत पर रुपए का दांव लगाकर मोबाइल के माध्यम से सट्टा खिला रहे दो आरोपी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मिली जानकारी के अनुसार भखारा बस स्टैंड के पास स्थित एक डेली नीड्स की दुकान में  2 व्यक्ति पुलिस को देखकर अपना मोबाइल छिपाने का प्रयास करने लगे। इनकी गतिविधियां संदिग्ध लगने पर उन्हें पकड़ पूछताछ की गई। उनका मोबाइल चेक करने पर पाया गया कि धर्मेंद्र कुमार साहू उम्र 25 वर्ष और मुकेश निर्मलकर उम्र 23 वर्ष निवासी भखारा अपने मोबाइल के माध्यम से चेन्नई सुपर किंग्स विरुद्ध मुंबई इंडियंस के बीच चल रहे आईपीएल मैच में टीम के हार-जीत पर रुपये पैसों का दांव लगाकर व्हाट्सएप मैसेंजर के माध्यम से सट्टा खिलाते रंगे हाथ पकड़े गये। इसके कब्जे से कुल 2 मोबाइल एवं नगदी रकम 24100/- रुपए को जब्त  किए। आरोपियों को गिरफ्तार कर अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

24-10-2020
3 तस्करों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 31 किलो गांजा जब्त

रायपुर। कार में गांजा ले जा रहे तीन तस्करों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने तस्करों के पास से 31 किलो 380 ग्राम गांजा जब्त किया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मुखबिर की सूचना पर ओडीसा से आ रहे तस्करों को पुलिस ने एयरपोर्ट चौक के पास नाकाबंदी कर पकड़ा। नाकाबंदी में आने -जाने वाले वाहनों की चेकिंग के दौरान कार से पुलिस को गांजा मिला। इसके बाद कार में सवार तीन तस्कर से पूछताछ करने पर पता चला कि आरोपी मादक पदार्थ गांजा को बेचने के लिए लेकर जा रहे थे। पकड़े गए आरोपियों का नाम भोजराज देवांगन, बेदव्यास मेहर, रामसागर है। आरोपियों के कब्जे से कार जब्त कर उनके खिलाफ नार्कोटिक्स एक्ट की धारा 20 बी के तहत कानूनी कार्रवाई की गई।

24-10-2020
करोड़ों की ठगी के मामले में एक एएसआई निलंबित

रायपुर/जगदलपुर। जिले में निर्माणाधीन एनएमडीसी नगरनार स्टील प्लांट में नौकरी दिलाने के नाम पर प्रदेश के विभिन्न जिलों से सैकड़ों लोगों से करोड़ों रुपए की ठगी करने के मामले में कोतवाली पुलिस ने बचेली निवासी दो आरोपियों को गिरफ्तार किया था। वहीं इस मामले में बस्तर जिले के एसपी दीपक झा ने एक एएसआई यतेंद्र देवांगन को निलंबित कर दिया है।
उल्लेखनिय है कि वर्ष 2017 में स्थानीय बेरोजगारों को एनएमडीसी में नौकरी दिलाने के नाम पर बचेली निवासी नवीन चौधरी, संजय डोनाल्ड दयाल, नरेंद्र चौधरी और चन्द्रकिरण ओगर द्वारा प्रदेश के विभिन्न जिलों के लगभग 119 लोगों से करोड़ों रुपए की ठगी करने के बाद फरार हो गए थे। इसके बाद पीड़ित यास्मीन अंसारी निवासी भानपुरी तथा सुनील देवांगन ने ठगी के मामले को लेकर कोतवाली थाने में आरोपियों के विरूद्ध मामला दर्ज कराया था। पुलिस को बीते 19 अक्टूबर को बचेली निवासी दो आरोपी नरेंद्र चौधरी और संजय डोनाल्ड दयाल को पड़ने में सफलता मिली थी। पूछताछ में आरोपियों ने पुलिस के सामने कई खुलासे किए हैं। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 420, 120 (बी), 467, 468, 471 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध कर जेल भेज दिया है। इसके साथ ही पुलिस अन्य फरार आरोपियों की तलाश कर रही है।

23-10-2020
कारोबारी के बेटे का अपहरण, चौबीस घंटों के भीतर पुलिस ने सभी आरोपियों को धर दबोचा

रायपुर। देर रात कारोबारी के बेटे का कुछ बदमाशों ने अपहरण कर लिया था। बता दें कि अपहरण के बाद बदमाशों ने 40 लाख रुपए की फिरौती मांगी थी। लेकिन पुलिस ने एक्शन लेते हुए 24 घंटे के भीतर ही 3 अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से धारदार चाकू जब्त की है। सिविल लाइन थाना क्षेत्र के शंकर नगर इलाके में बीती रात कारोबारी के बेटे सोहेल खान का अपहरण करने के बाद बदमाशों ने परिजनों को फोन किया और फिरौती के रूप में 40 लाख रुपए की मांग की थी। इसकी सूचना परिजनों ने सिविल लाइन थाने में दी। अपहरण की सूचना के बाद पुलिस तत्काल हरकत में आई और एक टीम गठित की, फिर साइबर पुलिस की मदद से देर रात ही अपराधियों के फोन नंबर ट्रेस कर लोकेशन के आधार पर कार्रवाई करते हुए सभी आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली है।

21-10-2020
दो लाख के सोने-चांदी को घर से किया पार,3 चोरों को पुलिस ने महज कुछ घंटों में दबोचा

कोरबा।  सोने चांदी के जेवरात की चोरी करने वालों को पुलिस ने 5 घंटे में धरदबोचा है। चोरी करने वाले तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। मामला दर्री थाना क्षेत्र अंतर्गत अयोध्यापुरी का है। दर्री थाना प्रभारी ने बताया कि रविंद्र नाथ सिंह निवासी अयोध्यापुरी ने शिकायत दर्ज कराई थी कि अज्ञात चोर ने अलमारी में रखे चांदी की पायल ,चांदी की मूर्ति, बिछिया, सोने का हार, सोने का झुमका,मंगलसूत्र कुल कीमत दो लाख का सामान चोरी कर लिया।प्रार्थी की रिपोर्ट पर दर्री पुलिस ने धारा 457, 380 भादवि कायम कर विवेचना में लिया। विवेचना में पुलिस ने अभय गोस्वामी उर्फ ताता उम्र 23 वर्ष , अमित मरकाम उम्र 23 वर्ष निवासी अयोध्यापुरी व एक नाबालिग बालक को तलब कर पूछताछ की। इस दौरान आरोपियों ने मंगलवार के मध्य रात्रि प्रार्थी के घर घुसकर चोरी करना स्वीकार किया। आरोपियों के कब्जे से सोने एवं चांदी के जेवरात कीमती दो लाख रुपए जब्त किया। आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है।

 

21-10-2020
बाइक शोरूम दिलाने के नाम पर ठगी, बिहार से 7 लोगों को किया गिरफ्तार

अम्बिकापुर। बाइक शोरूम दिलाने के नाम पर 33 लाख की ठगी के मामले में बड़ी सफलता हासिल की है। पुलिस नें इस मामले में बिहार से 7 लोगों को गिरफ्तार किया है,जिनमें से 3 नाबालिग हैं। ठगों के इस गिरोह नें रामानुजगंज में भी बुलेट शुरूम दिलाने के नाम पर 15 हज़ार की ठगी को अंजाम दिया था।मामले के बारे में जानकारी देते हुए एसपी टीआर कोशिमा नें बताया कि 2 अक्टूबर को बौरीपर निवासी अजय सिंह के द्वारा कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज कराया था कि जावा बाइक की डीलरशिप दिलाने के नाम पर उनसे अज्ञात लोगों ने 33 लाख रुपये की ठगी की है।उसने बताया कि उन्हें पुणे से जावा बाइक का शोरूम अम्बिकापुर में खोलने के लिए उसने जावा के अधिकृत वेबसाइट से आवेदन किया था। इसके बाद उसे कुछ लोगों नें कॉल कर कई नम्बर दिए और कहा कि उन नम्बरों से कॉल आने पर उनके द्वारा बताए गए दस्तावेज और पैसे भेजने पर उसे अम्बिकापुर में जावा शोरूम खोलने की अनुमति दी जाएगी।
अजय सिंह नें उक्त नम्बरों से फोन आने पर मांगे गए दस्तावेज और एडवांस के नाम पर बताए गए बैंक अकाउंट में पहली बार रुपये ट्रांसफर किये। फिर दोबारा किसी वजह से पैसे की मांग करने पर 10 लाख रुपये फिर से भेज दिए। इस तरह उससे रजिस्ट्रेशन एवं अन्य शुल्क आदि के नाम पर कुल 33 लाख रुपये 2 अलग-अलग बैंक खाते में भेजे गए। उसे बताया गया कि उसका पंजीयन हो चुका है और जल्द ही शोरूम खोल सकते हैं और जल्द ही डिमांड के अनुसार गाड़ी मुहैया कराने का वादा किया गया।


साइबर ठगी करने वालों का यह ग्रुप पटना और आसपास के कम पढ़े लिखे लेकिन साइबर क्राइम के एक्सपर्ट हैं। दो तीन गांवों के बीच के हिस्से में जाकर फोन किया करते थे, ताकि उनका लोकेशन बार बार बदलता रहे। वह लोग बात करने के बाद मोबाइल बन्द कर देते थे। सरगुजा पुलिस नें फिलहाल पूरे मामले से जुड़े 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए सभी आरोपी कूटरचित दस्तावेज के आधार पर अलग-अलग बैंक में अकाउंट खुलवाते थे, जिसके एवज में उन्हें प्रति अकॉउंट 5 हज़ार रुपये दिए जाते थे। ट्रांजेक्शन की डिटेल जानकारी लेने के  बाद पुलिस नें इन सातों आरोपियों को बिहार से गिरफ्तार किया है। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि इन्हीं फ़र्ज़ी बैंक अकाउंट्स पर ठगी के पैसों की लेनदेन किये जाते थे। पूछताछ में यह बताया कि किसी और के कहने पर उन्होनें अकाउंट खुलवाए थे। रामानुजगंज में भी उनके द्वारा ऐसी ठगी को अंजाम दिया गया था। आरोपियों के पास से मोबाइल,एटीएम कार्ड, लैपटॉप सिम कार्ड,आधार कार्ड जब्त किए गए हैं। यह शातिर आरोपी ऑथोराइज़्ड एजेंसी को सम्पर्क करने पर जानकारी हासिल करते और एक फर्जी वेबसाइट बनाकर लोगों को ठगी के लिए चुनते हैं। 

 

21-10-2020
सोशल मीडिया पर महिला को अश्लील सामग्री भेजने वाले शख्स को मध्यप्रदेश से किया गिरफ्तार

सूरजपुर। सोशल मीडिया में महिला से अश्लील सामग्री भेजने वाले को पुलिस ने मध्यप्रदेश से पकड़ा है। मिली जानकारी के मुताबिक झिलमिली थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम केवरा निवासी एक महिला ने थाना झिलमिली में 8 सितम्बर को रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसके फेसबुक पर कोई अज्ञात व्यक्ति गाली-गलौज व अश्लील टिप्पणी लिखकर पोस्ट कर रहा है। पीड़िता की रिपोर्ट पर अज्ञात व्यक्ति के विरूद्ध धारा 509(ख) व धारा 67 आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज करते हुए जांच शुरू की गई। जांच के दौरान फेसबुक प्रोफाइल को लेकर सबूत हाथ लगे। सुराग मिलने के बाद पुलिस अधीक्षक ने एक पुलिस टीम को शहडोल मध्यप्रदेश भेजा। टीम वहां पहुंचकर आरोपी आशुतोष साहू उम्र 21 वर्ष को हिरासत में लिया। आरोपी ने पूछताछ में अपना गुनाह कबूल किया। उसे बुधवार 20 अक्टूबर को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

 

20-10-2020
छेड़छाड़ का आरोपी पहुंचा जेल

रायपुर/गरियाबंद। घर में घुसकर महिला के साथ अव्यवहारिक कृत्य करने के आरोप में एक व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार किया ​है। मिली जानकारी के अनुसार ग्राम पीपरछेड़ी निवासी कमलेश वस्त्रकार ने 13 अक्टूबर की रात 10 से 11 बजे के बीच ग्राम के ही प्रार्थी महिला के घर में घुसकर पीड़िता के साथ छेड़छाड़ करने लगा। इसकी शिकायत पर थाना पीपरछेड़ी ने महिला का काउंसलिंग सखी सेंटर गरियाबंद में कराया। इसके बाद पुलिस अधीक्षक भोजराज पटेल ने त्वरित एफ़आईआर दर्ज करने के निर्देश दिए। पुलिस अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी की तलाश में जुट गए। विशेष प्रयास से आरोपी को घेराबंदी कर पूछताछ करने और उसके द्वारा अपराध स्वीकार करने पर गिरफ्तार कर धारा 354 ,457 आईपीसी के तहत न्यायिक रिमांड में भेजा गया।

20-10-2020
पाकिस्तान से निकला अंतर्राष्ट्रीय ठग गिरोह का कनेक्शन, 5 गिरफ्तार

रायपुर/बिलासपुर। छत्तीसगढ़ की बिलासपुर जिला पुलिस ने ऑपरेशन-65 के जरिए अंतर्राष्ट्रीय ठग गिरोह का पर्दाफाश करने में बड़ी सफलता हासिल की है। गिरोह के पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, जिनके तार पाकिस्तान से भी जुड़े हुए है। आरोपियों ने देश के कई शहरों में रहने वालों लोगों को इनाम, लॉटरी, गिफ्ट का झांसा देकर उनसे लाखों रुपयों की ठगी किया करते थे। आरोपियों से पुलिस ने 42 लाख रुपयों के अलावा 3 लेपटॉप, 13 मोबाइल, एटीएम कार्ड, पासबुक बरामद किया है। बिलासपुर आईजी दीपांशु काबरा और एसपी प्रशांत अग्रवाल के निर्देश पर इस ठग गिरोह के खिलाफ करीब 9 महीनों से तफ्तीश चल रही थी, जिसके बाद अब पुलिस ने शातिरों के इस गैंग को पकड़कर बड़ी सफलता हासिल करते हुए इसका खुलासा किया। गिरफ्तार आरोपियों में विराट सिंग 21 वर्ष निवासी सिरमोर जिला रीवा, शिवम ठाकुर 20 वर्ष इटामा जिला देवास, संजू चौहान 20 वर्ष इटावा जिला देवास, राजेश जायसवाल 55 वर्ष निवासी मुंबई, सीताराम गौड़ा 35 वर्ष निवासी गंजाम ओड़िशा शामिल है। इसके अलावा पुलिस ने इस गिरोह के कई सदस्यों की पहचान की गई जो पश्चिम बंगाल, गोपालगंज बिहार, पश्चिम गाजियाबाद, उत्तराखंड व उत्तरप्रदेश सहित अन्य राज्यों के शहरों में निवास करते हैं। पुलिस अधिकारियों ने सभी आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने की बात कहीं है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जनवरी 2020 में इसकी पहली शिकायत मिली थी। यह शिकायत बिलासपुर के जनकराम पटेल ने की थी। आरोपियों ने जनकराम को जनवरी-फरवरी के दौरान पाकिस्तानी नंबर से कॉल और व्हाट्सएप चैट के माध्यम से मुकेश अंबानी बनकर 25 लाख की लॉटरी जीतने का झांसा दिया था। वहीं केबीसी के भाग्यशाली विजेता के नाम पर 2 करोड़ रुपए जीतने की खबर दी गई। इन शातिरों ने प्रार्थी के खाते से फरवरी से लेकर अगस्त 2020 के बीच करीब 65 लाख रुपए जमा कराए। ये रकम अलग-अलग बैंकों में मंगाए जाते थे। ठगी का अहसास होने पर पार्थी ने इस मामले में बिलासपुर में शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद साइबर मितान कार्यक्रम के जरिए इसकी जांच पड़ताल शुरू की गई। जांच के दौरान ये बातें सामने आई कि ठग सिर्फ व्हाट्सएप के माध्यम से विडियो/ऑडियो काल तथा चैटिंग के माध्यम से बातचीत करते थे एवं अलग-अलग, खाता नंबर जो अलग-अलग ब्रान्चों के होते थे, में जीते हुए लॉटरी की रकम प्राप्त करने के लिए विभिन्न विभागीय प्रकिया के नाम पर अलग-अलग समय में अलग अलग खातों में रकम जमा करावाया जाता था। प्रार्थी को विभिन्न पाकिस्तानी नंबर एवं भारतीय नंबर सेकण्ड लाइन नम्बर जिनकी लोकेशन पाकिस्तान में पाई जाती थी, उसी नंबर से ऑडियो/विडियो काल आते थे, जिसमें प्रार्थी को उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्यप्रदेश, पश्चिम बंगाल, कोलकाता आदि का लगभग 12 विभिन्न खातों में रकम जमा करवाया था।

जांच के दौरान यह भी पता चला कि सर्वाधिक रकम लगभग 50 लाख रुपए मध्यप्रदेश के रीवा जिले के विराट सिंह के एसबीआई, पीएनबी, आईसीआई बैंक, इलाहाबाद बैंक, बैंक ऑफ इंडिया आदि के खातों में जमा कराए गए। इसे विराट सिंग द्वारा यूपीआई पेमेन्ट(फोन पे,पेटीएम) के माध्यम से वर्ली मुबंई निवासी राजेश सुखाउ जायसवाल एवं हर्ष राजेश जायसवाल के खातों ,डिजीटल पेमेंट सलूशन ओड़िशा एवं अन्य को ऑनलाइन रुपए ट्रॉन्सफर किया था। इस मामले में सबूतों के आधार पुलिस ने विराट को गिरफ्तार किया। इस दौरान गठित टीम में से एक टीम रीवा (म.प्र.)में कैंप कर आरोपी विराट सिंग को घेराबंदी कर पकड़ा आरोपी विराट ने बताया कि पाकिस्तान के छोटे मामू उर्फ असरफ, तथा बड़े मामूउर्फ असगर एवं सलीम के लिए काम करता है जो कि पाकिस्तान से है, जो विराट सिंग से व्हाट्सएप ऑडियो/विडियो कॉल एवं मैसेज के माध्यम से बातचीत होती है पाकिस्तानी ठगों द्वारा लोगों को लॉटरी की लालच देकर ठगी करने के दौरान विराट सिंग द्वारा उपलब्ध कराए गए, विभिन्न बैंकों के विभिन्न खातों में रकम जमा कराए जाता था जिसकी सूचना विराट को व्हाट्सएप चैट के माध्यम से दिया जाता था, जिसके पश्चात विराट सिंग द्वारा अपना कमीशन काट कर पाकिस्तानी ठग छोटे मामू उर्फ असरफ तथा बडे मामू उर्फ असगर एवं सलीम के द्वारा विराट सिंग को उपलब्ध कराए अन्य खातों में पेटीएम के माध्यम से रकम स्थानांतरित करने कहां जाता था, आरोपी विराट द्वारा अपने खाते के अतिरिक्त अन्य खातों की भी जानकारी एकत्रीत कर उन्हे जमा रकम की 3 प्रतिशत की लालच देकर अपने झांसे में लिया जाता था जिसमें से ज्यादातर मध्यप्रदेश के रीवा एवं देवास के खाता धारक हुआ करते थे। आरोपी विराट द्वारा उसके खाते में आए रकम को देशभर के अलग-अलग प्रांतों के तथा हैदराबाद, कर्नाटका, बेंगलोर, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, उडि़सा, उत्तर-प्रदेश, उत्तरा-खण्ड,आसाम,दिल्ली के खातो में ट्रान्सफर किया जाता था।

आरोपी विराट के खाते में प्रार्थी जनकराम पटेल द्वारा सर्वाधीक रकम लगभग 50 लाख रुपए फरवरी से सितम्बर तक जमा किया था जिसमें से अधिकांश रकम मुंबई वर्ली में ऑनलाइन ट्रान्सफर किया गया था। आरोपी विराट सिंग के निशादेही पर खाता धारक शिवम ठाकुर एवं संजू चैहान को मध्य प्रदेश के देवास से गिरफ्तार किया। इसके बाद पुलिस ने ऑपरेशन मुंबई का रूख किया। क्योंकि विराट सिंग द्वारा पाकिस्तानी छोटे मामू एवं बड़े मामू के द्वारा राजेश एवं हर्ष जायसवाल के खाते में अधिकांश रकम लगभग 45 लाख रुपए ट्रान्सफर किया था। लिहाजा एक टीम मुबंई जाकर राजेश अग्रवाल को हिरासत में लेकर पूछताछ किया। पूछताछ के दौरान राजेश जायसवाल के खातों का संचालन स्वयं करता है तथा इसके खाते में आए रकम को डिजिटल करेंशी बीट क्वाइन (बीटीएस ) तब्दील कर उपर भेजता है, जिसके संबंध में विस्तृत जानकारी हासिल की जा रही है तथा भारत के विभिन्न प्रांतों से इनके संबंधों के बारे में अनुसंधान जारी है। इसके बाद एक टीम उड़ीसा के लिए रवाना हुई। उड़ीसा से जाकर डिजिटल पेमेंट सालूशन के संचालक सीता राम गौडा को हिरासत में लिया जिसके निजी एवं डिजिटल पेमेंट सालुशन के नाम पर खोले गए खाते में जिसमें लगभग 15 लाख रुपए से उपर रकम जमा कराया था जिसे फ्रिज करा दिया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804