GLIBS
07-10-2020
नवरात्र पर्व पर मंदिरों में प्रज्जवलित होगी ज्योत,जिला प्रशासन ने शर्तों के साथ दी अनुमति

रायपुर। जिला प्रशासन ने मंदिरों में नवरात्रि पर्व के दौरान ज्योत प्रज्वलन की अनुमति शर्तों के अधीन दी है। अपर कलेक्टर विनीत नंदनवार ने कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन के आदेशानुसार कहा है कि मंदिर प्रांगण के भीतर नियत स्थान पर ज्योत का प्रज्वलन अग्निशमन सुरक्षा के सभी उपाय के साथ किया जाना अनिवार्य होगा। ज्योत दर्शन के लिए दर्शनार्थियों व अन्य व्यक्तियों का प्रवेश पूर्णत: वर्जित रहेगा। ज्योत प्रज्वलन की जिम्मेदारी केवल मंदिर प्रबंधन समिति की होगी। अन्य व्यक्तियों को ज्योत प्रज्वलन की अनुमति नहीं होगी। ज्योत प्रज्वलन के संदर्भ में सुरक्षा और कोविड-19 के रोकथाम और नियंत्रण के लिए भारत सरकार और राज्य शासन की ओर से जारी समस्त दिशा-निर्देशों का पालन अनिवार्य होगा। यदि किन्हीं निर्देशों का उल्लघंन करना पाया जाता है, तो सम्पूर्ण जिम्मेदारी मंदिर प्रबंधन समिति की होगी। भारतीय दंड संहिता 1860 की धारा 188 और अन्य सुसंगत विधि अनुसार कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

 

28-09-2020
Video: कलेक्टर और एसएसपी ने की अपील : लॉक डाउन स्थायी हल नहीं,कोरोना से बचने आत्मनियंत्रण और जागरुकता जरूरी 

रायपुर। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन और और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव ने जिलेवासियों से अपील की है। उन्होंने कहा है कि, अनावश्यक घर से बाहर न निकलें। किसी काम से बाहर जाने पर मास्क पहनकर जाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। उन्होंने एक सप्ताह के लॉक डाउन का पालन करने के लिए नागरिकों का आभार माना है। कलेक्टर ने गत दिनों भी वीडियो संदेश जारी कर कहा था कि,लॉक डाउन हो या कंटेनमेंट जोन, ये स्थायी हल नहीं है। लॉकडाउन अवधि समाप्त होने के बाद भी आत्मनियंत्रण को जीवन का हिस्सा बनाना पड़ेगा। बाहर निकलने पर मास्क पहनना और बाहर से घर लौटने पर  हाथ धोना और सामाजित दूरी के नियम का पालन करना होगा। 
कलेक्टर और एसपी ने संयुक्त अपील कर कहा कि,कोरोना संक्रमण की श्रृंखला को बाधित करने के लिए एक सप्ताह का लॉक डाउन लगाया गया था। इसमें जिलेवासियों का भरपूर सहयोग रहा है और उम्मीद है कि, इसके सकारात्मक परिणाम आएंगे। उन्होंने कहा है कि, हम सभी की जिम्मेदारी और ज्यादा बढ़ गई है क्योंकि लॉक डाउन हटने के बाद प्रशासनिक नियंत्रण में ढील होने के बाद हमें आत्म नियंत्रण एवं जागरुकता के माध्यम से कोरोना के संक्रमण से बचना होगा।
उन्होंने कहा है कि,थोड़ी सी असावधानी हंसते खेलते परिवार और अतिप्रियजनों के लिए अत्यंत घातक हो सकती है। जानलेवा हो सकती है। जैसा कि सभी जानते हैं कि, यह महामारी शरीर की प्रतिरोधक क्षमता से जुड़ी हुई है। कमजोर प्रतिरोधक क्षमता और असाध्य बीमारी से पीड़ित लोगों के लिए यह महामारी जानलेवा सिद्ध हो रही है। अत: अपने परिवार और समाज की बेहतरी के लिए अभी भी उतना ही घर से बाहर निकले जितना कि अत्यंत आवश्यक हो और पूर्ण सुरक्षा के साथ ही निकले। मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग ही वर्तमान में कोरोना से बचाव के साधन है।  कलेक्टर और एसपी ने आमनागरिकों से कहा है कि,सभी के सहयोग से ही इस महामारी पर हम विजय प्राप्त करेंगे। इसलिए व्यक्तिगत और समाज हित में सभी आत्म नियंत्रण के साथ प्रशासन का सहयोग करें। शासन और प्रशासन के सभी अंग सदैव आपकी सेवा और सुरक्षा के लिए कटिबद्ध है।

24-09-2020
Video : मंत्री रविन्द्र चौबे ने लॉक डाउन के तीसरे दिन व्यवस्थाओं का लिया जायजा, कहा- समीक्षा के बाद होगा फैसला   

रायपुर। जिले के प्रभारी व कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने गुरुवार को राजधानी में घूमकर प्रशासन की व्यवस्थाओं को देखा। लॉक डाउन के तीसरे दिन सड़कों पर उतरे मंत्री चौबे ने तमाम व्यवस्थाओं की जानकारी ली। इस दौरान संसदीय सचिव व विधायक विकास उपाध्याय,विधायक कुलदीप जुनेजा, कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव और जिला प्रशासन के अधिकारी भी साथ थे। मंत्री रविन्द्र चौबे ने रायपुर में जारी लॉक डाउन को लेकर शहर की स्थिति को देखा। उन्होंने प्रशासन की व्यवस्थाओं व पुलिस कर्मियों के कार्यों की सराहना की।

उन्होंने कहा कि, वे अपने प्रभार जिले रायपुर में लॉक डाउन के तीसरे दिन प्रशासनिक व्यवस्था और लोगों के सहयोग बारे में जानकारी लिए। इस विपदा की घड़ी में उत्कृष्ट  सेवा भाव से कार्य कर रहे सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के कार्य सराहनीय है। मंत्री चौबे ने जनता से अपील की है कि ,घर पर रहें ,सुरक्षित रहें और लॉक डाउन के नियमों का पालन करें। मंत्री चौबे ने कहा है कि,वर्तमान में सात दिन के लॉक डाउन की समीक्षा के बाद ही आगे बढ़ाने पर फैसला लेंगे।

21-09-2020
कलेक्टर की अपील : कोरोना को बचाव से ही हराया जा सकता है,आत्मनियंत्रण और जिम्मेदारी से सभी नियमों का पालन करें

रायपुर। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने  जिले के नागरिकों से अपील की है। उन्होंने कहा है कि, राजधानी में कोरोना संक्रमण से बचाव में सभी अपनी जागरुकता और आत्मनियंत्रण से अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करें। जिले में बढ़ रहे संक्रमण की श्रृंखला को बाधित करने के उद्देश्य से जिला प्रशासन ने प्रभावी रोकथाम और नियंत्रण के लिए 21 सितंबर की रात 9 बजे से 28 सितंबर के रात 12 बजे तक कुल 7 दिनों के लिए लॉक डाउन किया है। जिले में धारा 144 लागू कर  जिले के सम्पूर्ण क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। कलेक्टर ने कहा है कि, इस बीमारी को बचाव के माध्यम से ही हराया जा सकता है , इसके लिए आवश्यक है कि घर से बाहर निकलने पर मास्क पहने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, हाथ बार-बार धोएं, आयुर्वेदिक उपायों को अपनाएं, स्वच्छता का ध्यान रखें। उन्होंने कहा है कि, सही समय पर मरीज की पहचान होने पर उसे समुचित उपचार से कोरोना की गंभीरता से दूर रखा जा रहा है। देरी से पहचान होने में लोगों को जान का खतरा हो रहा है। इसलिए सभी से आग्रह है कि, किसी प्रकार का लक्षण आते ही तुरंत जांच कराएं। कलेक्टर ने कहा है कि, लॉक डाउन कभी स्थायी हल नहीं हो सकता है।

अत: इस दौरान आदेशों और प्रतिबंधों के कारण जो नियंत्रण स्थापित किया जाएगी, उसकों दैनिक जीवन का हिस्सा सभी को आत्मनियंत्रण से बनाना होगा। तभी हम इस महामारी पर विजय प्राप्त कर सकेंगें। इसके लिए अनावश्यक घरों से न निकलें,क्योंकि यदि आप कहीं बाहर संक्रमित होकर आते हैं तो संभव हैं कि आपकी प्रतिरोधक क्षमता अच्छी होने के कारण यह आपको उतना नुकसान नहीं करेगा, जितना आपके घर के बुजुर्गों, बच्चों और असाध्य रोगों से पीड़ित परिवारजनों को कर सकता है। कलेक्टर ने कहा है कि,आपकी एक असावधानी आपके हंसते खेलते परिवार के लिए जानलेवा हो सकती है। इसलिए अपने परिवार,समाज और सम्पूर्ण मानवता के हित में वह सभी कोरोना बचाव के उपायों को अपनी जीवनशैली का हिस्सा बनाएं, जो आवश्यक है। उन्होंने कहा है कि शासन, प्रशासन और समस्त प्रशासनिक अमला आप सभी की सेवा और सुरक्षा के लिए कटिबद्ध है। हर स्तर पर आपके साथ है। सभी प्रशासनिक कर्मियों, स्वास्थ्य कर्मियों और स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ सद्भावनापूर्ण व्यवहार करते हुए सहयोग करें।

 

19-09-2020
Video : ग्लिब्स की खरी-खरी पर संज्ञान लिया प्रशासन ने, कलेक्टर ने रायपुर में लॉक डाउन का लिया निर्णय

रायपुर।  ग्लिब्स की खरी-खरी पर रायपुर जिला प्रशासन ने संज्ञान लिया है। ग्लिब्स ने अपने शुक्रवार के खरी-खरी के अंक में रायपुर जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामले पर चिंता जताई थी। इस मामले को प्रमुखता से उठाते हुए प्रदेश के अन्य जिलों के कलेक्टरों की ओर लिए जा रहे लॉक डाउन के निर्णय पर रायपुर जिला प्रशासन और विशेषकर कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन का ध्यानाकर्षित किया था। आखिरकार कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने रायपुर में कोरोना वायरस की चैन को तोड़ने 1 सप्ताह के लिए रायपुर में तालाबंदी की घोषणा कर दी है। बता दें कि 1 सप्ताह तक पूरा जिला कंटेनमेंट जोन माना जाएगा। इसकी पुष्टि करते हुए संयुक्त कलेक्टर राजीव पाण्डेय ने कहा है कि, 1 सप्ताह के लिए पूरे जिले को कंटेनमेंट जोन मानकर कड़ाई से नियमों को पालन करवाया जाएगा। उन्होंने कहा है कि, लॉकडाउन शब्द का उपयोग तो नहीं लेकिन लॉकडाउन जैसी ही कड़ाई होगी। केवल मेडिकल और दूध की सुुविधा रहेगी। बाकी सभी सुविधा बंद रहेगी। सब्जियों-फल की दुकानें नहीं खुलेंगी। 

बता दें कि, शनिवार को कलेक्टर ने उच्च स्तरीय बैठक लेकर सभी अधिकारियों की सहमति से यह घोषणा की है। 21 सितंबर की रात 9 बजे से 28 सितंबर तक राजधानी में तालाबंदी रहेगी। इस संबंध में जल्द ही आदेश जारी होगा। बता दें कि, शुक्रवार को बालोद जिले में 22 से 30 सितंबर तक लॉकडाउन की घोषणा हुई। इससे पहले मुंगेली, राजनांदगांव, दुर्ग में भी लॉकडाउन करने का निर्णय लिया गया। इसके बाद से रायपुर जिला प्रशासन के निर्णय का इंतजार था। रायपुर में प्रदेश के सभी जिलों की तुलना में रोजाना बड़ी संख्या में केस आ रहे हैं। इसकों देखते हुए कोरोना की रफ्तार को ब्रेक करने लॉक डाउन का निर्णय जरुरी था।

16-09-2020
कलेक्टर ने कहा-कोरोना मरीज के घर में स्टीकर चिपकाना अनिवार्य, निकालने और छेड़छाड़ करने पर होगी कार्रवाई

रायपुर। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने कोरोना संक्रमण के रोकथाम और नियंत्रण के लिए शहर में किए जा रहे जोनवार कार्यों की मंगवार को समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा है कि, जिस घर में कोरोना मरीज हैं, वहां पर अनिवार्य रूप से स्टीकर चिपकाना है। स्टीकर को निकालने या छेड़छाड़ करने पर एपेडिमिक एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा है कि, ऐसे क्षेत्र जहां पर ज्यादा कोरोना मरीज की पहचान होती है,वहां पर टेस्टिंग, काढ़ा, कांटेक्ट ट्रेसिंग आदि कार्य तत्काल प्रारंभ किया जाएगा। कलेक्टर ने जोन में परीक्षण अधिक से अधिक करने और जोनवार सैंपलिंग के लिए लक्ष्य बनाकर कार्य करने के निर्देश दिए हैं।

मरीजों के परिवहन के लिए तत्काल वाहन उपलब्ध कराने और सक्रिय मरीजों की संख्या को ध्यान में रखते हुए आवश्यक समस्त व्यवस्था रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने घर में बुजुर्ग,गर्भवती महिला और गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्तियों के संदर्भ में सम्पूर्ण जानकारी रखने कहा है। गंभीर कोरोना मरीज को यथाशीघ्र चिकित्सा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सर्विलांस दल को व्यक्तियों के ऑक्सीजन लेवल और पल्स रेट का परीक्षण करने में लापरवाही ना करने के सख्त निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने जनता से अपील की है कि, कोरोना से बचने के लिए आवश्यक सावधानी बरतें।

12-09-2020
कलेक्टर ने कहा : होम आइसोलेशन कार्य में लापरवाही और दायित्वों से मुंह मोड़ने पर होगी सख्त कार्रवाई

रायपुर। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने कोरोना संक्रमण के रोकथाम और नियंत्रण के लिए शहर में किए जा रहे जोनवार कार्यों के साथ जिले के सभी स्वास्थ्य केंद्रों में दवाई और आवश्यक उपकरण उपलब्धता की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि, जोनवार सैंपलिंग के लिए लक्ष्य बनाकर कार्य करें। घर में बुजुर्ग और गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्तियों के संदर्भ में सम्पूर्ण जानकारी रखी जाए।डॉ. भारतीदासन ने सभी जोन आयुक्तों को निर्देश दिए हैं कि, सक्रिय मरीजों की संख्या को ध्यान में रखते हुए आवश्यक समस्त व्यवस्था रखें। उन्होंने कहा है कि, कोरोना मरीज एप के माध्यम से होम आइसोलेशन के लिए आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं। सबंधित अधिकारी ध्यान रखें कि, होम आइसोलेशन की अनुमति देने के पूर्व मरीज के बारे में आवश्यक सभी जानकारी लें,इसमे किसी की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

कलेक्टर डॉ. भारतीदासन ने कहा है कि, आपदा प्रबंधन कार्य में बाधा पहुंचाने, वांछित या गलत जानकारी देने वालों पर कार्यवाही होगी। आपदा प्रबंधन कार्य  में संलग्न अधिकारी-कर्मचारी से आमजन सहयोग करें। उन्होंने कहा है कि, शासन की ओर से आदेशों के माध्यम से कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी से बचाव और रोकथाम के संबंध में विस्तृत दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। जिला प्रशासन की ओर से समय-समय पर कांटेक्ट ट्रेसिंग, एक्टिव सर्विलांस, कोरोना पॉजिटिव मरीजों को अस्पताल ले जाने, कंटेनमेंट जोन बनाने और अन्य दायित्व सौपते हुए कई अधिकारियों और कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। कुछ अधिकारी- कर्मचारी उन्हें सौंपे गए दायित्वों के निर्वहन में रूचि नहीं ले रहे हैं। उक्त लापरवाही के साथ-साथ इंसिडेंट कमांडर के निर्देशों की अवहेलना करते हुए अनुशासनहीनता और आपदा प्रबंधन कार्य में बाधा पहुंचा रहे हैं।

ऐसे अधिकारी कर्मचारी के विरुद्ध लघु दीर्घ शास्ति अधिरोपित करते हुए वेतन में कटौती,रोकने और वेतन वृद्धि रोकने जैसे कार्रवाई की जाएगी।इसी तरह यदि किसी अधिकारी-कर्मचारी की ओर से गंभीर लापरवाही और अनुशासनहीनता के कारण आपदा प्रबंधन कार्य में गंभीर बाधा उत्पन्न हुई हो तो, ऐसे प्रकरणों में संबंधित अधिकारी कर्मचारी के विरुद्ध संबंधित पुलिस थाना में भारतीय दंड संहिता, 1860 की धारा 188, आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51-60, एपिडेमिक डिसीजेज एक्ट 1897 यथासंशोधित 2020 की सुसंगत धाराओं और राज्य शासन की ओर से जारी रेगुलेशन 2020 के अधीन एफ आईआर दर्ज कराई जाए। इसी प्रकार आपदा प्रबंधन कार्य में बाधा पहुंचाने, वांछित जानकारी देने से इंकार करने, गलत जानकारी देने या आपदा प्रबंधन कार्य में संलग्न अधिकारी-कर्मचारी से दुर्व्यवहार करने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध भी उपरोक्तानुसार कार्यवाही की जाए।

 

 

12-09-2020
नीट के परीक्षार्थियों को कलेक्टोरेट परिसर तक लाने 8 स्थानों से मिलेंगे वाहन, लिस्ट जारी

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मंशानुरूप कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने राष्ट्रीय स्तर की नीट परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं के लिए परीक्षा केंद्रों तक पहुंचाने वाहन की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर परिसर से विभिन्न परीक्षा केंद्रों के लिए सुबह 11 बजे से वाहन रवाना होंगे। इससे पहले परीक्षार्थियों को कलेक्टोरेट परिसर तक लाने भी निशुल्क वाहनों की व्यवस्था रहेगी। इसके लिए 8 स्थान तय किए गए हैं। जिला प्रशासन की ओर से सभी 8 स्थानों के नाम, वाहन चालकों के नंबर जारी किए गए हैं।

खबर में संलग्न लिस्ट में विस्तृत जानकारी देखी जा सकती है। बताया गया है कि, एक वाहन को कलेक्टोरेट परिसर घड़ी चौक में रिजर्व रखा जाएगा। इमरजेंसी के वक्त तत्काल मदद मिल सकेगी। इससे पहले जिला प्रशासन की ओर से जारी लिस्ट में कलेक्टोरेट परिसर से परीक्षार्थियों को उनके परीक्षा केन्द्रों तक ले जाने निशुल्क परिवहन सुविधा की जानकारी दी गई थी

12-09-2020
नीट के परीक्षार्थियों के लिए भी निशुल्क परिवहन की सुविधा, कलेक्टोरेट परिसर से मिलेंगे वाहन

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मंशानुरूप कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने राष्ट्रीय स्तर की नीट परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं के लिए परीक्षा केंद्रों तक पहुंचाने वाहन की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर परिसर से विभिन्न परीक्षा केंद्रों के लिए सुबह 11 बजे धमतरी रोड रूट के बीएसएस प्रणवानंद व्हीआई.पी रोड देवपुरी, कमल विहार डूण्डा, देवपुरी, शंकराचार्य कॉलेज, मुजगहन, दुर्ग रोड  रिंग रोड नं. 1रूट के केव्ही. 2 डीडी नगर, केपीएस सरोना महर्षि विद्या मंदिर टाटीबंध, जीई रोड रूट के महाराजा अग्रसेन कालेज, समता कालोनी, एनआईटी., कांगेर बेली. आरएसयू कैम्पस, छत्तीसगढ़ पब्लिक स्कूल, हीरापुर, रूंगटा स्कूल. वीर सावरकर नगर (नंदनवन के पास) ,बलौदाबाजार रोड रूट.-1 के होली क्रास, स्कूल कापा,  Vicon स्कूल विधान सभा चौक, टेकारी,भवन'स विद्या मंदिर बरौदा सड्डू रोड, बलौदाबाजार रोड रुट- 02 के डी.पी.एस. स्कूल सेमरिया, ज्ञान गंगा स्कूल नरदहा, एन.एच. गोयल स्कूल नरदहा परीक्षा केंद्र के लिए वाहन रवाना होगी।

इसी तरह आरंग रोड रूट-1 के केपीएस स्कूल सेक्टर-27 नया रायपुर,ग्रेट इंडियन स्कूल,सैनाथपुरम, मंदिर हसौद, RIT कालेज मंदिर हसौद, मोनेट स्कूल मंदिर हसौद,आरंग रोड रूट-2,के सेंट जोसेफ स्कूल, अमलीडीह, रविग्राम, Ryan स्कूल अवंति विहार, MM स्कूल, नकटी धरमपुरा एयरपोर्ट के पास,बिलासपुर रोड ,केंद्रीय विद्यालय WRS कॉलोनी और रायपुर शहर के होली हर्ट्स,सिविल लाइन, होली क्रॉस स्कूल, पेंशनबड़ा, द्रोणाचार्य स्कूल,राजेन्द्र नगर, एम.जी.एम. गायत्री नगर,शंकर नगर, गुजराती स्कूल, देवेंद्र नगर, आदर्श विद्यालय, सेक्टर 01, देवेंद्र नगर परीक्षा केंद्रों के लिए रवाना होगी। इसी तरह जिले के जनपद पंचायत धरसींवा,आरंग ,तिल्दा खरोरा और अभनपुर तहसील कार्यालय से सुबह 9:30 बजे कलेक्टोरेट, घड़ी चौक रायपुर के लिए वाहन रवाना होगी। इसके साथ ही बस स्टैंड पंडरी और रेलवे स्टेशन रायपुर से कलेक्टोरेट, घड़ी चौक रायपुर के लिए सुबह 9:30 बजे वाहन रवाना होगी। प्रयास गुढ़ियारी से संबंधित केंद्र, प्रयास गुढ़ियारी तथा छात्रावास डीडी. नगर से संबंधित केंद्र के लिए कलेक्टोरेट परिसर रायपुर से सुबह 10:30 बजे वाहन रवाना होगी।

09-09-2020
कलेक्टर ने जिला योजना समिति का निर्वाचन किया स्थगित

रायपुर। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने जिला योजना समिति का निर्वाचन आगामी आदेश तक के लिए स्थगित कर दिया है। उल्लेखनीय है कि, छत्तीसगढ़ जिला योजना समिति का निर्वाचन 10 सितंबर को सुबह 10:30 बजे से  शहीद स्मारक भवन पुराना बस स्टैंड, मौहदापारा  में होना था। जिला रायपुर के नगरीय निकायों में कोरोना संक्रमण और छत्तीसगढ़ शासन के सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से जारी पत्र के निर्देशानुसार इस निर्वाचन की कार्यवाही को आगामी आदेश तक के लिए स्थगित किया गया है।

 

08-09-2020
कलेक्टर ने होम आइसोलेशन के संबंध में अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी को सौंपा दायित्व,संशोधित आदेश जारी 

रायपुर। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी विनीत नंदनवार( 75877-24910)होम आइसोलेशन विषयक संपूर्ण दायित्व सौंपा है। नोडल अधिकारी विनीत नंदनवार का सहयोग करने रायपुर नगर निगम क्षेत्र में जोनवार अधिकारियों को जिम्मेदारी दी गई है।  जोन क्रमांक-1 के लिए इंसीडेंट कमांडर पूनम शर्मा, डिप्टी कलेक्टर एवं अनुविभागीय दण्डाधिकारी (नगर), रायपुर 94242-34014, जोन कमिश्नर  नेतराम चंद्राकर, 98282-32214, जोन क्रमांक-2 के लिए इंसीडेंट कमांडर मुकेश कुमार कोठारी, डिप्टी कलेक्टर एवं कार्यपालक दंडाधिकारी, रायपुर 99934-83432, जोन कमिश्नर डॉ. आरके डोंगरे 9301953221, जोन क्रमांक 3 के लिए इंसीडेंट कमांडर राकेश देवांगन, नायब तहसीलदार एवं कार्यपालिक दण्डाधिकारी, रायपुर 97707-81700, जोन कमिश्नर प्रवीण सिंह गहलोत,  99774-24466, जोन क्रमांक 4 के लिए इंसीडेंट कमांडर - राजीव कुमार पाण्डेय, संयुक्त कलेक्टर एवं अनुविभागीय दंडाधिकारी (नगर),रायपुर 94256-49105, जोन कमिश्नर विनय मिश्रा, 93019-53234, जोन कमांक-5 के लिए इंसीडेंट कमांडर संदीप कुमार अग्रवाल, संयुक्त कलेक्टर एवं अनुविभागीय दंडाधिकारी (नगर) रायपुर 94242-38392, जोन कमिश्नर चंदन शर्मा, 99266-02735 को नियुक्त किया गया है।
इसी तरह जोन कमांक-6 के लिए इंसीडेंट कमांडर - कृष्ण कुमार साह, नायब तहसीलदार एवं कार्यपालिक दंडाधिकारी, रायपुर, 79874-74811, जोन कमिश्नर - दिनेश कोसरिया  76919-03630, जोन क्रमांक-7 के लिए इंसीडेंट  कमांडर टीआर माहेश्वरी डिप्टी कलेक्टर एवं अनुविभागीय दंडाधिकारी (नगर), रायपुर 91855-00000, जोन कमिश्नर विनोद पांडेय , 94242-04100, जोन क्रमांक-8 के लिए इंसीडेंट कमांडर - यूएस अग्रवाल, संयुक्त कलेक्टर एवं अनुविभागीय दण्डाधिकारी (नगर), रायपुर, 93290-20527, जोन कमिश्नर अरुण ध्रुव, 94242-38392 और जोन क्रमांक-10 के लिए इंसीडेंट कमांडर अमीत बेक, तहसीलदार एवं कार्यपालिक दंडाधिकारी, रायपुर 77718-86627, जोन कमिश्नर अरुण साह, 70007-16750 और बिरगांव नगर निगम क्षेत्र के लिए इंसीडेंट कमांडर- प्रणव सिंह, अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) एवं अनुविभागीय दण्डाधिकारी, रायपुर,94252-02181,जोन आयुक्त श्रीकांत वर्मा 94790-59150 को नियुक्त किया गया है। आदेश की कॉपी देखने यहां क्लिक करें  

Advertise, Call Now - +91 76111 07804