GLIBS
23-04-2020
गरज चमक के साथ बारिश, ओले गिरने के आसार, जानिए आज से 4 दिनों तक कैसा रहेगा मौसम का हाल

रायपुर। मौसम में लगातार उतार-चढ़ाव जारी है। तापमान में भी विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं दिख रही है। बात करें रायपुर की तो सुबह से धूप-छांव का खेल जारी है। ऐसे में एक बार फिर मौसम विभाग ने गुरुवार सहित अगले 4 दिनों के लिए यलो और आरेंज अलर्ट जारी कर चेताया है। मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा के मुताबिक एक चक्रीय चक्रवाती घेरा पश्चिम विदर्भ और उसके आसपास ऊपर 0.9 किलोमीटर पर स्थित है। यहां से एक द्रोणिका मराठवाड़ा, अंदरूनी कर्नाटक और तमिलनाडु होते हुए कोमोरिन क्षेत्र तक स्थित है। इस सिस्टम के कारण 24 अप्रैल को कुछ स्थानों पर हल्की वर्षा या गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। एक दो स्थानों पर गरज-चमक के साथ अकाशीय बिजली, ओला और तेज हवाएं चलने की संभावना है। अधिकतम तापमान में  छत्तीसगढ़ में विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं है।

जारी पूर्वानुमान के अनुसार रायपुर में 24 घंटे में शाम और रात को बादल छाए रहेंगे। गरज चमक के साथ वर्षा होने की संभावना है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान 39 डिग्री व 26 डिग्री के आस-पास रहने की संभावना है। अगले 48 घंटे में आकाश आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे। गरज-चमक के साथ हल्की वर्षा की अति संभावना है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान 36 डिग्री और 25 के आस-पास रहने की संभावना है। इसी तरह आगामी 72 घंटे में शाम और रात में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे। अधिकतम और न्यूनतम तापमान लगभग 38 और 26 के आस-पास होने की संभावना है।

वर्षा का पूर्वानुमान व चेतावनी देखने के लिए यहां क्लिक करें... 

जिलेवार बारिश का पूर्वानुमान देखने के लिए यहां क्लिक करें... 

19-04-2020
यूट्यूब ने अपने एंड्राइड ऐप में किया ये बदलाव...सोशल मीडिया पर किया जा रहा है ट्रोल

मुंबई। वीडियो शेयरिंग कंपनी यूट्यूब ने अपने एंड्राइड ऐप में कुछ बदलाव किए हैं। दुनियाभर में हो रहे दिन प्रतिदिन बदलाव को देखते हुए यहा परिवर्तन किया गया है। भारतीय उपभोक्ताओं को लुभाने के लिए यूट्यूब ने अपने एंड्राइड ऐप में वीडियो के देखे जाने वालों की गिनती को अब मिलियन और बिलियन से हटाकर लाख और करोड़ में दिखाना शुरू कर दिया है। हालांकि मिलियन और बिलियन के आदी हो चुके भारतीयों को यूट्यूब का यह नया बदलाव बिल्कुल भी गले नहीं उतर रहा है और वह सोशल मीडिया पर लगातार इसकी बुराई कर रहे हैं। यूट्यूब के दुनियाभर में लगभग 200 करोड़ उपभोक्ता हैं, उनमें से लगभग 26 करोड़ पचास लाख उपभोक्ता अकेले भारत में पाए जाते हैं। एक बड़ी संख्या को उनकी ही क्षेत्रीय भाषा में लुभाने के लिए यूट्यूब ने यह बड़ा कदम उठाया है। हालांकि बिलियन और मिलियन से लाख और करोड़ में हुआ यह बदलाव अभी सभी भारतीयों को दिखाई देना शुरू नहीं हुआ है।

यूट्यूब ने बहुत छोटे पैमाने पर यह प्रयोग कुछ मुट्ठी भर एंड्राइड ऐपधारियों के ऊपर करके देखा है। इस प्रयोग के अंतर्गत किसी भी वीडियो के देखने वालों की संख्या ही नहीं, बल्कि किसी यूट्यूब चैनल के सब्सक्राइबर्स की संख्या को भी लाख और करोड़ में ही दिखाया जाएगा। अगर यह प्रयोग सफल रहता है तो यूट्यूब इसे सभी प्लेटफार्म के लिए लागू कर सकता है। जैसे ही इस बदलाव की खबर फैली, वैसे ही सोशल मीडिया पर लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया देना शुरू कर दिया। जिन लोगों के एंड्राइड ऐप पर यह बदलाव हुए हैं, उन्होंने अपने फोन से स्क्रीनशॉट लेकर फेसबुक, इंस्टाग्राम और टि्वटर पर साझा करना शुरू कर दिया। ज्यादातर लोगों ने इस बदलाव को बहुत ही खराब बताया। उनका मानना है कि वे अब मिलियन और बिलियन में गिनती करने के आदी हो गए हैं इसलिए लाख और करोड़ में किसी भी संख्या को गिनना हजम नहीं होता।

14-04-2020
विशेष पार्सल ट्रेन दुर्ग-छपरा-दुर्ग की समय सारणी में परिवर्तन,परिचालन में विस्तार

रायपुर। लॉक डाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता में कमी ना हो इसके लिए रेलवे प्रशासन की ओर से चलाई जा रही पार्सल स्पेशल ट्रेन की समय सारणी में परिवर्तन कर परिचालन अवधि में विस्तार किया गया हैं। रेलवे के मुताबिक सेवा कार्य निरंतर जारी रहेगा।गाड़ी संख्या 00875 दुर्ग-छपरा पार्सल स्पेशल 15,18,20, 24 अप्रैल को दुर्ग से रात 9 बजे रवाना होकर रायपुर 10:45 बजे,उसलापुर 11:45 होते हुए छपरा अगले दिन  शाम 5 बजे पहुंचेगी। गाड़ी संख्या 00876 छपरा दुर्ग पार्सल स्पेशल 17 ,20, 22, 26 अप्रैल को छपरा से सुबह 8 बजे रवाना होकर अगले दिन उसलापुर 1:20 बजे रायपुर 3:05 बजे दुर्ग 4 बजे पहुंचेगी। 00875/00876 दुर्ग-छपरा-दुर्ग गाड़ी का ठहराव दोनों दिशाओं में रायपुर, उसलापुर, पेण्ड्रारोड, अनूपपुर, शहडोल, कटनी, सतना, मानिकपुर, प्रयागराज, मिजार्पुर, वाराणसी स्टेशनों में दिया गया है ।

रेलवे ने अपील की है कि पार्सल ट्रेन के माध्यम से वस्तुओं के परिवहन के लिए इच्छुक पार्टियां इस सुविधा का अधिक से अधिक लाभ लें। आवश्यक सामग्री की अग्रिम बुकिंग के लिए मुख्य वाणिज्य निरीक्षक पार्सल रायपुर रेल मंडल से फोन पर विस्तृत जानकारी ले सकते हैं। उनका फोन नंबर 9752 877995, इसके अतिरिक्त मुख्य पार्सल सुपरवाइजर रायपुर 9752877967 और मुख्य पार्सल सुपरवाइजर दुर्ग से 9109112682 पर बात कर सामग्री बुकिंग करा सकते हैं। आवश्यक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

27-03-2020
आवश्यक सेवाओं को खोलने और बंद करने के समय में फिर किया गया परिवर्तन

आरंग। कोरोना संक्रमण के कारण देशव्यापी लॉक डाउन है। इस स्थिति पर आज नगर में आला अधिकारियों ने लॉकडाउन की स्थिति की समीक्षा करते हुए शनिवार से दुकान और बाजार के खुलने और बंद होने के समय में परिवर्तन किया है। वर्तमान बाजार में होने वाले भीड़भाड़ को समाप्त करने सब्जी विक्रय की नई व्यवस्था की गई है। 28 मार्च से किराना और दवाई दुकानें सुबह 10 से दोपहर 3 बजे तक ही खुलेगी और सब्जी और फल दुकानों के लिए सुबह 8 से 12 बजे का समय निर्धारित किया गया है। साथ ही सब्जी बाजार के सब्जी विक्रेताओं को एक साथ न बैठाते हुए उन्हें अलग अलग स्थान पर बैठने के लिए स्थान आवंटित किया जाएगा।

दोपहर 3 बजे के बाद घर से निकलने वालो कर कड़ी कार्यवाही की जायेगी। अनुविभागीय अधिकारी विनायक शर्मा,थाना प्रभारी लेखधर दिवान,मुख्य नगरपालिका अधिकारी सौरभ शर्मा सहित नपा अध्यक्ष चंद्रशेखर चंद्रकार ने एक बार फिर लोगों से अपील की है कि कोरोना संक्रमण के गंभीरता को समझते हुए घर में ही रहे और चौक चौराहों पर अनावश्यक बैठकर भीड़ इकठ्ठा ना करे। शासन प्रशासन को सहयोग कर देश और नगर को सुरक्षित करें। बैठक के बाद अधिकारियों ने नगर भ्रमण भी किया और बाहर घूम रहे लोगों को घर में रहने की समझाइश भी दी।

 

17-01-2020
स्मार्ट कार्ड की अनिवार्यता समाप्त, अब ऐसे मिलेगा 5 लाख तक के उपचार का लाभ

रायपुर। राज्य के सभी राशन कार्डधारी परिवारों को डाॅ. खूबचन्द बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना का लाभ लेने के लिए अब राशन कार्ड के साथ कोई भी शासकीय पहचान पत्र अनिवार्य हो गया है। शुक्रवार 17 जनवरी से अनुबंधित अस्पतालों में उपचार के लिए राशन कार्ड के साथ कोई भी शासकीय पहचान पत्र लेकर जाना अनिवार्य हो चुका है। अब योजनाओं का लाभ लेने के लिए स्मार्ट कार्ड की अनिवार्यता समाप्त हो चुकी है। राज्य सरकार की महत्वकांक्षी डाॅ. खूबचन्द बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना को लेकर शुक्रवार से बड़ा परिवर्तन हो गया है। अब पहचान पत्र के लिए योजना में शामिल राज्य के सभी परिवारों को स्मार्ट कार्ड पर निर्भर नहीं रहना होगा। साफ्टवेयर के डेटाबेस से स्मार्ट कार्ड के आंकड़े हटा दिये गए हैं। इस तरह अब मरीज व उनके परिजनों को पहचान पत्र के रूप में प्राथमिकता, अंत्योदय, राशन कार्ड के साथ आधार कार्ड अथवा कोई भी शासकीय पहचान पत्र साथ लेकर अनुबंधित अस्पतालों में जाना होगा। साफ्टवेयर इन मरीजों की पहचान अब नये फार्मूले से करेगा। यह नया फार्मूला साफ्टवेयर में अपलोड किया जा चुका है। जो कि शुक्रवार 17 जनवरी से काम करना शुरू कर दिया है।

अस्पताल में ही बनेगा ई-कार्ड

राज्य सरकार ने राशन कार्ड को डाॅ. खूबचन्द बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना के लिए अनिवार्य करते हुए मरीजों की राह आसान कर दी है। अब राशनकार्डधारी परिवारों को किसी सदस्य के बीमार पड़ने पर राशन कार्ड के साथ आधार कार्ड या अन्य शासकीय पहचान पत्र लेकर अनुबंधित अस्पताल जाना होगा। अनुबंधित अस्पतालों में ही तत्काल बीआईएस कर ई-कार्ड बना दिए जाएंगे। परिवार पचास हजार या 5 लाख रुपए जिसके भी योग्य होगा। वह लाभ उसे उपचार के दौरान दिया जाएगा।

एस.एन.ए. का पूरा समन्वय

इस नई व्यवस्था के लागू होने के पूर्व ही राज्य नोडल एजेंसी ने पूरा समन्वय बना रखा है। साफ्टवेयर में हुए बड़े बदलाव के लिए सभी साफ्टवेयर इन्जीनियरों के मोबाईल नंबर अस्तपालों को पूर्व से ही मुहैय्या कराके रखे गए हैं। अस्पतालों व मरीजों को किसी भी तरह की दिक्कत होने पर तत्काल मदद उपलब्ध कराई जा रहीं है।

इन हितग्राहियों को मिलता रहेगा लाभ

राशनकार्ड के साथ कोई एक शासकीय पहचान पत्र लाना अनिवार्य किया गया है। साथ ही राशनकार्ड के अलावा समाजिक आर्थिक सर्वेक्षण 2011 के हितग्राहियों को योजना का लाभ पूर्ववत् मिलता रहेगा।

पूर्व में बने ई-कार्ड काम करते रहेंगे

डाॅ. खूबचन्द बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना लागू होने से पूर्व ही आस्पतालों व कियोस्क केन्द्रों में ई-कार्ड बनाने का काम चल रहा था, जो कि अब भी यथावत् जारी है। पूर्व में बने हुए ई-कार्ड में किसी तरह की दिक्कत आने पर अस्पतालों व कियोस्क केन्द्रों में ई-कार्ड में बदलाव करते हुए नए कार्ड जारी कर दिए जाएंगे।

17-08-2019
सरकार के फैसलों से लोगों के जीवन में आया परिवर्तन : सीएम बघेल  

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि विगत सात महीने के कार्यकाल में नई सरकार ने लोगों के जीवन मे परिवर्तन लाने के लिए कई अहम फैसले लिये हैं। इससे लोगों की न केवल क्रय शक्ति बढ़ी है बल्कि उनका मान सम्मान भी बढ़ा है। उन्होंने कहा कि पूरे देश के साथ-साथ प्रदेश में भी कुपोषण एक बड़ी चुनौती है। हमने इस चुनौती को स्वीकार करते हुए कल दंतेवाड़ा में सुपोषित दंतेवाड़ा अभियान और आज यहां बस्तर जिले में हरिक नानी बेरा यानी खुशहाल बचपन अभियान का शुभारंभ किया जा रहा है। महात्मा गांधी 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में आगामी 2 अक्टूबर से पूरे प्रदेश में कुपोषण मुक्ति महाअभियान प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तोकापाल में आयोजित कार्यक्रम में 68 करोड़ 57 लाख 49 हजार रुपए के विभिन्न विकास कार्यों की घोषणा की। 24 करोड़ की लागत से तोकापाल में एकलव्य आवासीय विद्यालय भवन का निर्माण, 18 करोड़ 17 लाख 27 हजार रुपए की लागत से विकासखण्ड तोकापाल के अन्तर्गत रायकोट सालेपाल मार्ग में 23 किलोमीटर सड़क का चौड़ीकरण, 3 करोड़ 96 लाख 70 हजार रुपए की लागत से बड़ेबादेनार से कावडग़ांव मार्ग का निर्माण, 21 करोड़ 63 लाख 52 हजार रुपए की लागत से डिलमिली से पखनार मार्ग का निर्माण तथा 80 लाख रुपए की लागत से कोपागुड़ा में फार्मर गेस्ट हॉउस के निर्माण की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने अपने उद्बोधन में आगे कहा कि गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ की दिशा में शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य और कुपोषण पर विशेष रणनीति बनाकर कार्य किए जा रहे हंै। इसके लिए स्वास्थ्य के क्षेत्र में आगामी 2 अक्टूबर से ही पूरे प्रदेश में मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लीनिक शुरू करेंगे। शिक्षा के क्षेत्र में बस्तर अंचल के सुकमा जिले के 85 बंद स्कूलों शुरू किए गए हंै। इसी प्रकार जगरगुंडा में विगत 13 वर्षों से बंद विद्यालय को फिर से शुरू किया गया है। उन्होंने कहा कि बस्तर के युवाओं को भटकने की जरूरत नहीं पड़ेगी। कनिष्ठ सेवा चयन बोर्ड तृृतीय एवं चतुर्थ वर्ग की भर्ती स्थानीय स्तर पर की जाएगी। इसी प्रकार एनएमडीसी की भर्ती के लिए परीक्षाएं भी बस्तर और दंतेवाड़ा में ली जाएंगी। इस अवसर पर उद्योग मंत्री कवासी लखमा, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, लोकसभा सांसद दीपक बैज, विधायक मोहन मरकाम, रेखचंद जैन, चंदन कश्यप, बस्तर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष लखेश्वर बघेल, पूर्व मंत्री अरविन्द नेताम, पूर्व विधायक  फूलोदेवी नेताम, मुख्यमंत्री के संसदीय सलाहकार राजेश तिवारी सहित बड़ी संख्या में क्षेत्र के जनप्रतिनिधि और ग्रामीण  उपस्थित थे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तोकापाल में आयोजित कार्यक्रम में 68 करोड़ 01 लाख 9 हजार रुपए के विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण किया। इसी प्रकार मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 55 करोड़  87 लाख 56 हजार रुपए के विभिन्न विकास कार्यों का शिलान्यास और भूमिपूजन किया। 

 

11-06-2019
प्रदेश में भीषण गर्मी से नहीं मिल रही राहत, शाम को हो सकता है मौसम परिवर्तन

रायपुर। प्रदेश में भीषण गर्मी का प्रकोप जारी है। बीते रोज प्रदेश के सभी जिलों में पारा 43 से 45 डिग्री के आसपास रहा। यह तापमान जून महीने में अभी तक का सर्वाधिक तापमान है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार जून माह में बीते सोमवार को तापमान सामान्य से 7 डिग्री ज्यादा रहा। इधर मौसम विभाग ने मंगलवार और बुधवार को भी भीषण गर्मी का अंदेशा जताया है। लेकिन शाम को आंधी, बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने तेज रफ्तार से हवा चलने की संभावान व्यक्त की है। 
मौसम विभाग की माने तो मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र के तरफ से गरम हवा आ रही है। दोनों प्रदेशो में तेज गर्मी के कारण छत्तीसगढ़ में भी गर्मी बढ़ गई है। मौसम वैज्ञानिक एचटी चंद्रा ने बताया कि बस्तर में मौसम ने करवट ली और यहां बारिश के कारण तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804