GLIBS
21-10-2020
जनसंपर्क के दौरान भाजपा प्रत्याशी सहित चंदेल और शर्मा ने किया विकास का वादा

रायपुर/गौरेला। मरवाही विधानसभा उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी डॉ.गंभीर सिंह ने बुधवार को धोबहर, बंधीरी, दरमोहली, पिपरिया, झिरनापोड़ी, मसूरीखार, डोगरिया, नगवाही,सिलपहरी सहित कई गांवों में जनसंपर्क किया। जनसंपर्क के दौरान डॉ.सिंह ने कहा कि आपके बीच ही डॉक्टर के तौर पर काम करते हुए आप सभी के दर्द का इलाज जानता हूं। आप सभी की पीड़ा को दूर करने के लिये लंबे समय से आप सभी की सेवा में लगा हूं। उसी काम को आगे बढ़ाने के लिए एक बहेतर अवसर है कि मरवाही के विकास के लिए भाजपा का समर्थन करें। भाजपा प्रत्याशी डॉ.सिंह ने कहा है कि आपके बीच का होने के कारण अपनों की परेशानियों के अच्छे से जानता हूं। इसलिए आप सभी की सेवा के लिये हमेशा की तरह सक्रिय हूं। डॉ.सिंह ने कहा कि मरवाही के विकास के लिये गंभीरता से सोचने का समय आ गया है।

बुनियादी विकास से कोसों दूर है मरवाही : चंदेल
भाजपा के प्रदेश महामंत्री और वरिष्ठ विधायक नारायण चंदेल ने कहा है कि मरवाही विकास से कोसों दूर है। मरवाही की तस्वीर बदलने के लिये भाजपा एक बेहतर विकल्प है। आपके सामने एक गंभीर प्रत्याशी डॉ.गंभीर सिंह है। उन्हें अपना समर्थन प्रदान करें। हम सब मिलकर इलाके विकास के लिये काम करेंगे। भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष व वरिष्ठ विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि आपके सामने विकास को समर्पित भाजपा के प्रत्याशी डॉ. गंभीर सिंह हैं जो आपके अपने हैं और उन्हें मरवाही के विकास के लिए समर्थन देकर रायपुर भेजें। मरवाही के समग्र विकास की जिम्मेदारी हम सबकी है। भाजपा नेता ज्योतिनंद दुबे सहित पार्टी के आला नेताओं ने प्रचार में हिस्सा लिया।

 

21-10-2020
विकास के लिए भाजपा हमेशा रही प्रतिबद्ध,कांग्रेस की नीति स्पष्ट नहीं रही : अमर अग्रवाल 

रायपुर/गौरेला।  पूर्व मंत्री व मरवाही उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी के प्रभारी अमर अग्रवाल ने कहा है कि मरवाही की जनता का हमें अपार स्नेह मिल रहा है। क्षेत्र के विकास के लिए हमारी प्रतिबद्धता हमेशा रही है। कांग्रेस की कभी विकास को लेकर नीति स्पष्ट नहीं रही है। इसे लेकर मरवाही की जनता में भारी आक्रोश है। पूर्व मंत्री अग्रवाल ने कहा है कि अब सही समय आ गया है और जनता पूरी तरह से कांग्रेस को करारा जवाब देना चाहती है। कांग्रेस सदा विकास विरोधी रही है। इन दो वर्षों में विकास को लेकर झूठे वादों के अलावा कुछ भी नहीं हुआ है। इसे लेकर भी मरवाही की जनता बेहद निराश है। यही एक अवसर है कि कांग्रेस को करारा जवाब दिया जाए।

21-10-2020
धरमलाल कौशिक ने कहा-कर्ज माफी के नाम आई सरकार खुद ही कर्जे में है

रायपुर/मरवाही। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने बुधवार को मरवाही उपचुनाव के सिलसिले में जोगीसार और भदौरा में आयोजित चुनावी सभाओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा है कि जो सरकार प्रदेश में कर्जमाफी के नाम पर जनता को दगा देकर सत्ता में आई है, अब खुद ही कर्जे में डूबी हुई है। अब वक्त आ गया है और इस सरकार को जवाब देने लिए एकजुट होना होगा।नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा है कि युवा से लेकर से महिला, किसान हर वर्ग को छलने वाली प्रदेश सरकार से जनता का भरोसा पूरी तरह से उठ गया है। एक बार फिर ठगों की सरकार आपके बीच भ्रम का मायाजाल फैल रही है। मरवाही के विकास को लेकर के चुनावी वादे किए जा रहे हैं। धरातल पर इन दो साल में कुछ भी नहीं हुआ है। केवल अपने दिल्ली के 'परिवार-दरबार' को खुश करने के लिये पूरी कांग्रेस अलोकतांत्रिक प्रक्रिया अपना कर लोकतंत्र की हत्या करने में जुटी है। इसका जवाब इलाके की जनता 3 नवंबर को जरूर देगी। कौशिक ने जनता से अपील की है कि संवदेनशील प्रत्याशी डॉ. गंभीर सिंह आप सभी के सेवा लिए तत्पर हैं। उन्हें  मरवाही के विकास के लिए रायपुर जिताकर भेजें। आपके विकास की सारी चिंताएं हमारी होंगीं।

20-10-2020
चुनाव आयोग विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने से प्रदेश सरकार को रोके : भाजपा

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के चुनाव विधिक प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक नरेशचंद्र गुप्ता और जयप्रकाश चंद्रवंशी, बृजेश पांडेय व शरद मिश्रा ने प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को पत्र सौंपा है। उन्होंने प्रदेश सरकार को राज्य विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने से रोकने की मांग की है। पत्र में भाजपा नेताओं ने कहा है कि महज 58 दिनों के अंतराल में ही प्रदेश सरकार की ओर से राज्यपाल से विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की अनुमति/सहमति मांगी जा रही है। नीतिगत निर्णय लेकर मरवाही विधानसभा के उपचुनाव को प्रभावित करने के उद्देश्य से भारतीय निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के विपरीत और विधि का घोर उल्लंघन करते हुए राज्य सरकार विधानसभा का विशेष सत्र आहूत करने की कोशिश कर रही है। तथ्यों और परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए राज्य सरकार को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने से रोका जाए ताकि मरवाही में स्वतंत्र व निष्पक्ष मतदान हो सके। राज्य सरकार को आगामी 3 नवंबर के बाद ही विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की अनुमति प्रदान की जाए।

 

20-10-2020
गृहमंत्री निवास घेराव करने निकले 3500 भाजपा कार्यकर्ताओं ने दी गिरफ्तारी

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी रायपुर जिला ने मंगलवार को कांग्रेस सरकार के नाकारापन के कारण शहर में बढ़ रहे हत्या, लूट, अवैध शराब बिक्री, बढ़ते नशीले पदार्थ के विरोध में पूर्व मंत्री द्वय बृजमोहन अग्रवाल, राजेश मूणत व भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी के नेतृत्व में गृहमंत्री के निवास का घेराव किया। रैली के पहले धरना स्थल बूढ़ा तालाब में एकत्रित लोगों को  संबोधित करते हुए बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि यह भीड़ बता रही है कि 22 महीने में ही कांग्रेस की चुनी हुई सरकार ने अलोकप्रिय होने का रिकार्ड बनाया है। कांग्रेस जिन वादों को करके  सत्ता में आई आज उनसे पीछे हट रही है लेकिन भारतीय जनता पार्टी के प्रत्येक कार्यकर्ता यह होने नहीं देंगे। पूर्व मंत्री राजेश मूणत ने पुलिस प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि हमारी लड़ाई आपसे नहीं है। हम प्रशासन को  उनके कर्तव्य याद दिलाने के लिए और जनता को उसका अधिकार दिलाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। लेकिन अगर प्रशासन ने पुलिस को एजेंट के रूप में सामने रखकर कार्यकर्ताओं को प्रताड़ित किया तो शहर के प्रत्येक चौक चौराहे और थाने के सामने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का पुतला दहन किया जाएगा। भाजपा जिला अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी ने कार्यकर्ताओं के विशाल भीड़ को संबोधित करते हुए कहा आज की रैली तो शासन के नकारेपन के विरुद्ध जंग का आगाज है। आज पूरा शहर युवा नशे की गिरफ्त में आ गए हैं। इस कांग्रेसी सरकार ने महिलाओं से शराबबंदी के नाम पर वोट लिए लेकिन आज गली-गली में लाइसेंसी कोचिये पैदा कर दिए हैं। इसके कारण शहर में अपराध बहुत बढ़ गया है। जगह-जगह हत्या और लूट और महिलाओं खिलाफ अत्याचार तो आम बात हो गई है। भारतीय जनता पार्टी लगातार इसके खिलाफ संघर्ष करते हुए जनता के हक के लिए सड़क पर रहेगी। आज गृह मंत्री निवास घेराव कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए रायपुर शहर के प्रत्येक मंडलों से भारी संख्या में कार्यकर्ताओं ने शिरकत की। गृहमंत्री निवास घेरने निकले कार्यकर्ताओं को बूढ़ापारा चौक पर पुलिस ने रोका। इसके विरोध स्वरूप 3500 कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी।
सभा स्थल बूढ़ापारा चौक में भाजपा कार्यकर्ताओं की उत्साहित भीड़ को दुर्ग सांसद विजय बघेल, मोती साहू, सच्चिदानंद उपासने, पूर्व विधायक नंदलाल साहू,पूर्व जिलाध्यक्ष राजीव अग्रवाल, भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष अमित साहू,जिलाध्यक्ष राजेश पांडेय,महिला मोर्चा प्रदेश महामंत्री मीनल चौबे, शैलेन्द्री परगनिया,प्रफुल्ल विश्वकर्मा,सुभाष तिवारी,संजू नारायण सिंह,अमित मैसेरी, सुनील चौधरी, दिनेश शर्मा,योगी अग्रवाल, बजरंग खंडेलवाल, अशोक पांडेय, सूर्यकांत राठौर,राजीव मिश्रा, अकबर अली, तुषार चोपड़ा, होरीलाल देवांगन, जीतेन्द्र धुरंदर, ओमप्रकाश साहू, रविन्द्र सिंह ठाकुर, सालिक सिंह ठाकुर, महेश शर्मा, प्रवीण कुमार देवड़ा, मुकेश पंजवानी, अर्चना शुक्ला, गोरेलाल नायक, अनूप खेलकर,हंसराज विश्वकर्मा,अनिल सोनकर, भूपेंद्र ठाकुर, प्रीतम ठाकुर, बी.श्रीनिवास राव एवं भारतीय जनता पार्टी के समस्त कार्यकर्ता शामिल हुए।

20-10-2020
Video:  संजय श्रीवास्तव ने कहा-कांग्रेस पार्टी में मरवाही उपचुनाव को लेकर घबराहट

रायपुर। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा है कि मरवाही उपचुनाव के लिए कांग्रेस का यह कहना कि जेसीसीजे और अमित जोगी भारतीय जनता पार्टी का समर्थन कर रहे हैं। यह इस बात को सिद्ध करता है कि कांग्रेस पार्टी मरवाही उपचुनाव को लेकर घबराई हुई है। पहले से ही एक स्क्रीप्ट लिखने की कोशिश हो रही है। यदि कांग्रेस इस मरवाही चुनाव में हारेगी तो क्या कहना है। जबकि अमित जोगी स्पष्ट रूप से कह रहे हैं कि वो किसी पार्टी का समर्थन नहीं कर रहे हैं,वो केवल न्याय की मांग कर रहे हैं।

 

20-10-2020
39 गांवों को लेमरू हाथी कारिडोर परियोजना से पृथक करने की मांग के संबंध में कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

अम्बिकापुर। भारतीय जनता पार्टी का प्रतिनिधिमंडल जिलाध्यक्ष ललन प्रताप सिंह के नेतृत्व में कलेक्टर सरगुजा से मिला। प्रतिनिधिमंडल ने लेमरू हाथी कारीडोर परियोजना में उदयपुर व लखनपुर विकासखंड के सम्मलित 39 गांवों को परियोजना से पृथक करने की मांग रखी। प्रतिनिधिमंडल के वरिष्ठ सदस्यों ने लेमरू परियोजना से वनवासियों के भीतर पैदा हुई व्याप्त चितांओं से अवगत कराया। प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि प्रभावित क्षेत्र की जनता भ्रम की स्थिति में काफी परेशान है। शासन द्वारा सरंपच,सचिव व पंचायत प्रतिनिधियों पर परियोजना के समर्थन में प्रस्ताव देने के लिये डरा धमका कर दबाव बनाया जा रहा है।

जबकि 39 गांवों की शतप्रतिशत जनता लेमरू परियोजना के पूर्णतः विरोध में है। प्रतिनिधिमंडल ने वनवासियों पर भविष्य में आने वाले संकट को देखते हुए तत्काल परियोजना में प्रस्तावित 39 गावों को परियोजना से मुक्त करने की बात रखते हुए ज्ञापन सौंपा। मांग पूर्ण न होने पर क्षेत्रवासियों के हित में जन आदोलंन की बात कही।इस अवसर परपूर्व सांसद कमलभान सिंह,पूर्व महापौर प्रबोध मिंज,भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य फूलेश्वरी सिंह, अबिकेश केशरी, अभिमन्यु गुप्ता, विद्यानंद मिश्रा, राजकुमार अग्रवाल, विनोद हर्ष, संतोष दास,राजकुमार बंसल,प्रभात खलखो, तजिंदर बग्गा, शैलेष सिंह, राधेश्याम सिंह, रामप्रवेश पाडेंय, संजय सोनी सहित अन्य लोग उपस्थित रहेे।

 

20-10-2020
भाजपा ओबीसी मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष बने अखिलेश सोनी, पार्टी नेताओं ने दी शुभकामनाएं

अम्बिकापुर। भारतीय जनता पार्टी के ओबीसी मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष अखिल सोनी को बनाया गया है। कुशाभाऊ ठाकरे परिसर रायपुर में भाजपा ओबीसी मोर्चा के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश सोनी ने भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ.रमन सिंह की विशेष उपस्थिति व भाजपा छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय, विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम, भाजपा प्रदेश महामंत्री नारायण चंदेल, पूर्व संगठन महामंत्री रामप्रताप सिंह, पूर्व कैबिनेट मंत्री बृजमोहन अग्रवाल छत्तीसगढ़ विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल, पूर्व सांसद कमलभान सिंह प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव सहित छत्तीसगढ़ भाजपा के वारिष्ठ नेताओं की उपस्थिति में प्रदेश अध्यक्ष का कार्यभार ग्रहण किया।

उपस्थित नेताओं ने उन्हें शुभकामनाएं देते हुए विश्वास प्रकट किया कि उनके नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी अधिक सशक्त और मजबूत होगी। कार्यभार ग्रहण करने के अवसर पर नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश सोनी ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य पिछड़ा वर्ग समाज का समर्थन हमेशा से भारतीय जनता पार्टी को रहा है। हम सब मिलकर पार्टी के विचारधारा को पिछडा वर्ग समाज के जन जन तक पहुंचा कर इस समर्थन को और मजबूत बनाने का काम करेगें।इस अवसर पर सरगुजा भाजपा जिला अध्यक्ष ललन प्रताप सिंह ने उन्हें शुभकामना देते हुए कहा छत्तीसगढ़ भाजपा द्वारा मोर्चे के प्रदेश अध्यक्ष का नेतृत्व सरगुजा जिले को देने से क्षेत्र में भाजपा और मजबूत होगी। अखिलेश सोनी के नेतृत्व में गठित होने वाली टीम ओबीसी वर्ग को संगठित कर भारतीय जनता पार्टी को मजबूत करने की दिशा में काम करेगी।

 

19-10-2020
मरवाही उप चुनाव: 5 अभ्यर्थियों ने नाम लिया वापस, अब 8 उम्मीदवार मैदान में,प्रत्याशियों को मिले चुनाव चिन्ह

रायपुर। मरवाही विधानसभा उपनिर्वाचन के लिए नाम वापसी के बाद अब 8 अभ्यर्थी चुनाव मैदान में हैं। सोमवार को नाम वापसी के दिन 5 अभ्यर्थियों ने अपने नाम वापस लिए। नाम वापसी के बाद अभ्यर्थियों को रिटर्निंग आफिसर की ओर से निर्वाचन प्रतीक चिन्ह भी आवंटित किए गए। पेण्ड्रा-गौरेला-मरवाही जिला निर्वाचन कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार मान्यता प्राप्त दलों के साथ ही निर्दलीय प्रत्याशी हिस्सा ले रहे हैं। निर्वाचन में भारतीय जनता पार्टी से डॉ.गंभीर सिंह प्रतीक चिन्ह कमल, इंडियन नेशनल कांग्रेस से डॉ.केके ध्रुव प्रतीक चिन्ह हाथ, राष्ट्रीय गोंडवाना पार्टी से डॉ.उर्मिला सिंह मार्को प्रतीक चिन्ह ट्रेक्टर चलाता किसान, आम्बेडकराइट पार्टी ऑफ इंडिया से पुष्पा खेलन कोर्चे प्रतीक चिन्ह कोट, भारतीय ट्राइबल पार्टी से बीरसिंह नागेश प्रतीक चिन्ह ऑटो रिक्शा, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी से रितु पन्द्राम प्रतीक चिन्ह आरी, भारतीय सर्वजन हिताय समाज पार्टी से लक्ष्मण पोर्ते (अमित) प्रतीक चिन्ह एअरकंडीशनर और निर्दलीय सोनमती सलाम को बाल्टी प्रतीक चिन्ह आवंटित किया गया है।

18-10-2020
राज्यपाल को बताने से पहले मुख्यमंत्री स्वयं अपनी संवैधानिक सीमाएं तय करें : धरमलाल कौशिक

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता धरमलाल कौशिक ने कहा है कि सत्ता में आने के बाद से लगातार संवैधानिक मर्यादा व गरिमा का उल्लंघन करने वाले प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राजभवन से टकराव के रास्ते पर चल रहे हैं। राज्यपाल को संवैधानिक मर्यादा और सीमाएं बताने की हास्यास्पद नौटंकी कर रहे हैं। कौशिक ने गैरभाजपा शासित राज्यों में राज्यपाल के हस्तक्षेप को लेकर मुख्यमंत्री बघेल के बयान पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि पहले मुख्यमंत्री स्वयं अपनी संवैधानिक सीमाएं तय करें। नेता प्रतिपक्ष ने सवाल किया है कि कुलपति चयन का अधिकार राज्यपाल से छीनकर प्रदेश सरकार ने कौन-सी संवैधानिक मर्यादा का पालन किया? सत्ता में आने के बाद से ही प्रदेश सरकार हर कदम पर बदलापुर की राजनीति पर आमादा है। संवैधानिक संस्थाओं और मर्यादाओं की अवहेलना करके अपने सत्तावादी अहंकार का शर्मनाक प्रदर्शन कर रही है। मुख्यमंत्री बघेल संवैधानिक संकट खड़ा करने और फिर उसे लेकर प्रलाप की राजनीति करने की मानसिकता से ग्रस्त हैं। मुख्यमंत्री बघेल राज्यपाल को सीमा न बताए क्योंकि इस प्रदेश सरकार ने राज्यपाल के अधिकारों को कम करने की कोशिश की है। संवैधानिक संस्थाओं की परंपरा को तोड़ने पर वह उतारू है।

नेता प्रतिपक्ष ने जोगी परिवार से जुड़े जाति-विवाद के मामले में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बयान को उनके राजनीतिक अपराध-बोध का परिचायक बताया है। उन्होंने कहा है कि जाति-विवाद को लेकर भाजपा व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह पर टिप्पणी करके मुख्यमंत्री बघेल कांग्रेस के अलोकतांत्रिक आचरण व राजनीतिक दुराग्रह पर पर्दा नहीं डाल सकेंगे। मुख्यमंत्री बघेल जोगी परिवार के जाति-विवाद के मामले में पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी से प्रदेश की जनता से माफी मंगवाएं, जिन्होंने प्रदेश की जनता से झूठ बोलकर जोगी परिवार को आदिवासी बताया और स्व.अजीत जोगी को मुख्यमंत्री बनाया था। आदिवासी के नाते जोगी पिता-पुत्र विधानसभा में कांग्रेस विधायक के तौर पर पहुंचते रहे। जोगी परिवार की जाति के मामले में कांग्रेस दोहरे मापदंड का प्रदर्शन कर रही है।

 

18-10-2020
डॉ.रमन सिंह पहुंचे पाटन,कहा-अंतिम सांस तक लड़ेंगे कार्यकर्ताओं के लिए,विजय बघेल का अनशन तुड़वाया

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने रविवार को पाटन पहुंचकर भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई का विरोध किया। पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ.रमन सिंह, सांसद रामविचार नेताम,विधायक बृजमोहन अग्रवाल,नारायण चंदेल,पूर्व मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, नवीन मार्कण्डेय,मोतीलाल साहू व वरिष्ठ भाजपा पदाधिकारी ने दुर्ग सांसद विजय बघेल के धरना स्थल पर पहुंच कर अपना समर्थन दिया। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह के हाथों जूस पीकर सांसद विजय बघेल ने अपना आमरण अनशन खत्म किया। डॉ.रमन सिंह ने धरना स्थल पर अपने उद्बोधन में कहा है कि बदलापुर सरकार के उत्पीड़न के खिलाफ हर जगह हर मोर्चे पर हमारा कार्यकर्ता दृढ़ता से डटा हुआ है। भूपेश सरकार जितनी भी दमनात्मक कार्रवाई कर ले हमारे कार्यकर्ता डरने वाले नहीं है। डॉ.सिंह ने कहा कि यह नहीं भूलना चाहिए कि हमने कांग्रेस का आपातकाल देखा है। इंदिरा गांधी की दमनात्मक कार्रवाई झेली है, इसलिए याद रहे भाजपा कार्यकर्ता भूपेश बघेल की तानाशाही से डरने वाले नहीं हैं और ना ही सहने वाले हैं।

उन्होंने कहा कि यह आंदोलन तो अंगड़ाई है। आगे हर लड़ाई लड़ने हम तैयार हैं। प्रदेश में माफिया राज चल रहा है। शराब माफिया, रेत माफिया, कोयला माफिया और प्रदेश की जनता इस सरकार से त्रस्त हो चुकी हैं। हमें इस सरकार को उखाड़ कर फेंकना है। पाटन से भाजपा कार्यकर्ताओं की आवाज पटना तक भूपेश बघेल तक पहुंचनी चाहिए। विजय बघेल को सर्वाधिक मतों से जनता ने चुन कर भेजा है, उनकी आवाज सरकार को सुननी होगी। भाजपा कार्यकर्ताओं पर दमनात्मक एकतरफा कार्रवाई हो,विजय बघेल जैसा जनप्रतिनिधि अनशन पर बैठे, कार्यकर्ता तकलीफ सहे तो डॉ.रमन को कैसे नींद आ सकती हैं। डॉ.रमन सिंह ने कहा भाजपा का प्रतिनिधिमंडल शनिवार को राज्यपाल के पास गया था। कार्रवाई के विरोध में ज्ञापन सौंपा गया है। राज्यपाल के संज्ञान में बातें लाई गई हैं। आज आमरण अनशन को खत्म कर रहे हैं,लेकिन कार्यकर्ताओं के लिए आखरी सांस तक हमारी लड़ाई जारी रहेगी। सांसद रामविचार नेताम ने भी सभा को संबोधित किया।

 

17-10-2020
मरवाही उप चुनाव: 13 अभ्यर्थियों के नामांकन पाए गए वैध, 6 नामांकन पत्र हुए निरस्त

रायपुर। मरवाही विधानसभा उप चुनाव में शनिवार को नामांकन की संवीक्षा की गई। गौरेला-पेंड्रा-मरवाही के जिला निर्वाचन कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार संवीक्षा में कुल 13 अभ्यर्थियों के नामांकन पत्र वैध पाए गए हैं। 6 अभ्यर्थियों के नामांकन पत्र में त्रुटि होने के कारण निरस्त किए गए। संवीक्षा में इंडियन नेशनल कांग्रेस से कृष्ण कुमार ध्रुव, भारतीय जनता पार्टी से  डॉ.गंभीर सिंह, राष्ट्रीय गोंडवाना पार्टी से उर्मिला मार्को, शिवसेना से जयराज सिंह ओट्टी,आम्बेडकराइट पार्टी ऑफ इंडिया से पुष्पा कोर्चे, भारतीय ट्रायबल पार्टी से वीरसिंह नागेश,गोंडवाना गणतंत्र पार्टी से रितु पंद्राम, भारतीय सर्वजन हिताय समाज पार्टी से लक्ष्मण पोर्ते, निर्दलीय अर्पण सिंह पैंकरा, निर्दलीय कल्याण सिंह करसायल, निर्दलीय प्रताप सिंह भानू, निर्दलीय शिवप्रसाद भानू, निर्दलीय सोनमती सलाम के नामांकन वैध पाए गए। संवीक्षा के बाद अमित जोगी, ऋचा जोगी, ओमकरण पोर्ते, पुष्पेश्वरी तंवर, मूलचंद सिंह, गुलाब सिंह कंवर का नामांकन निरस्त किए गए। अभ्यर्थी अपने नाम 19 अक्टूबर तक वापस ले सकेंगे। मरवाही विधानसभा उप-निर्वाचन के लिए मतदान 3 नवंबर को होगा,जबकि मतगणना 10 नवंबर  को होगी।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804