GLIBS

28-02-2021
1 करोड़ लोगों को फ्री में गैस कनेक्शन देगी केंद्र सरकार

नई दिल्ली। पेट्रोलियम सेक्रेटरी तरुण कपूर ने रविवार को कहा कि केंद्र सरकार अगले 2 वर्षों में 1 करोड़ से ज्यादा जरूरतमंद लोगों को मुफ्त में एलपीजी गैस कनेक्शन उपलब्ध कराएगी। रसोई गैस के बढ़़ते इस्तेमाल को देखते हुए सरकार ने यह योजना बनाई है। मुफ्त गैस कनेक्शन उज्ज्वला योजना के तहत दिए जाएंगे। बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस साल का बजट पेश करते हुए उज्ज्वला योजना के तहत 1 करोड़ लोगों को मुफ्त एलपीजी गैस कनेक्शन देने की घोषणा की थी। गरीबी रेखा से नीचे जीवन गुजारने वाले लोगों को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत घरेलू रसोई गैस का कनेक्शन दिया जाता है। अब तक बड़ी संख्या में महिलाओं ने इस योजना का फायदा उठाया है। सरकार उज्ज्वला योजना के तहत हर बीपीएल परिवार को 1600 रुपए की आर्थिक सहायता भी देती है।

पेट्रोलियम सेक्रेटरी तरुण कपूर ने कहा कि सिर्फ 4 साल में गरीब महिलाओं के घरों में रिकॉर्ड 8 करोड़ फ्री एलपीजी कनेक्शन दिए गए। इससे देश में एलपीजी उपभोक्ताओं की संख्या बढ़कर करीब 29 करोड़ हो गई। उन्होंने कहा कि ग्रामीण इलाकों में प्रदूषण की समस्या से छुटकारा पाने और महिलाओं के स्वास्थ्य में सुधार के लिए सरकार लगातार काम कर रही है। इसी को ध्यान में रखते हुए फ्री एलपीजी कनेक्शन की सुविधा बढ़ाई जा रही है। उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन लेने के लिए बीपीएल परिवार की कोई भी महिला अप्लाई कर सकती है। इसके लिए केवाईसी फॉर्म भरकर नजदीकी एलपीजी सेंटर में जमा करना होगा। अप्लाई करते समय ही यह बताना होगा कि 14.2 किलोग्राम का सिलेंडर चाहिए या 5 किलोग्राम का। उज्ज्वला योजना का फॉर्म प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की वेबसाइट से भी डाउनलोड किया जा सकता है। इस योजना का फायदा लेने के लिए बीपीएल कार्ड, राशन कार्ड, आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट साइज फोटो, राशन कार्ड, बैंक स्टेटमेंट जैसे दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है।

 

28-02-2021
जज्बे को सलाम: 80 वर्ष की आयु में संस्कृत में हासिल की पीएचडी की उपाधि, राज्यपाल ने की हौसले की तारीफ

उज्जैन। उज्जैन की शशिकला रावल ने 80 वर्ष की आयु में संस्कृत में पीएचडी की उपाधि हासिल की है। शशिकला ने यह उपाधि सेवा शिक्षा विभाग से व्याख्याता पद से सेवानिवृत्त होने के बाद हासिल की। उज्जैन निवासी शशिकला रावल राज्य सरकार के शिक्षा विभाग से व्याख्याता के रूप में सेवानिवृत्त हुई। इसके बाद उन्होंने वर्ष 2009 से 2011 के बीच ज्योतिष विज्ञान से एमए किया। उन्होंने अध्ययन कर संस्कृत विषय में वराहमिहिर के ज्योतिष ग्रंथ 'वृहत संहिता' पर पीएचडी करने का विचार किया। उन्होंने सफलतापूर्वक इस कार्य को करते हुए 2019 में पीएचडी की डिग्री हासिल की। शशिकला ने महर्षि पाणिनी विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति डॉ. मिथिला प्रसाद त्रिपाठी के मार्गदर्शन में 'वृहत संहिता के दर्पण में सामाजिक जीवन के बिंब' विषय पर डॉक्टर ऑफ फिलासॉफी की डिग्री हासिल की।

80 वर्षीय महिला को डिग्री प्रदान करते वक्त राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल को सुखद आश्चर्य हुआ और उन्होंने महिला के हौसले की प्रशंसा की। शशिकला से जब सवाल किया गया कि आमतौर पर लोग इस उम्र में आराम करते हैं मगर आपने पढ़ाई का रास्ता क्यों चुना, तो उन्होंने कहा उनकी सदैव ज्योतिष विज्ञान में रूचि रही है और इस कारण विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा प्रारम्भ किये गये ज्योतिर्विज्ञान विषय में एमए में प्रवेश लिया। इसके बाद और पढ़ने की इच्छा हुई तो वराहमिहिर की वृहत संहिता पढ़ी और इसी पर पीएचडी करने का विचार किया।


उन्होंने कहा कि ज्योतिष पढ़ने से उनके चिन्तन को अलग दिशा मिली है। ज्योतिष का जीवन में कुछ इस तरह का महत्व है कि जैसे नक्शे की सहायता से हम कहीं मंजिल पर पहुंचते हैं। ज्योतिष के माध्यम से जीवन के आने वाले संकेतों को पढ़कर हम चुनौतियों का सामना कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि जीवन में किस-किस तरह के संकट आ सकते हैं और कहां तूफानों से गुजरना होगा, इसका पहले से आकलन कर लिया जाये तो जीवन बिताने में आसानी होती है। उनका मानना है कि अंधविश्वास करने की बजाय ज्योतिषीय गणना के माध्यम से मिलने वाले संकेतों को समझना चाहिये। डॉ.शशिकला रावल कहती हैं कि वे फलादेश और लोकप्रिय कार्यों के स्थान पर जीवन में मूलभूत बदलावों की तरफ अधिक ध्यान देती हैं और अपने ज्ञान का उपयोग आलेख या संभाषण के माध्यम से जनहित में करना चाहेंगी।

 

28-02-2021
मनवा कुर्मी क्षत्रिय समाज के कार्यक्रम में शामिल हुए गुरु रुद्रकुमार, सभागार का किया लोकार्पण

रायपुर। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं ग्रामोद्योग मंत्री गुरु रूद्रकुमार  रविवार को  दुर्ग जिले के भिलाई-3 में छत्तीसगढ़ मनवा कुर्मी क्षत्रिय समाज के कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने इस मौके पर मनवा कुर्मी क्षत्रिय समाज के नवनिर्मित डॉ. खूबचंद बघेल साभागार का लोकार्पण किया। उन्होंने समाज के लोगों को बधाई और शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम में दुर्ग के सांसद विजय बघेल विशेष रूप से उपस्थित थे।  मंत्री गुरु रुद्रकुमार ने कहा कि राज्य में कुर्मी समाज किसी पहचान का मोहताज नहीं हैं। प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल कुर्मी समाज का प्रतिनिधित्व करते हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सत्ता की बागडोर सम्हालने के बाद छत्तीसगढ़ की अस्मिता और छत्तीसगढ़ियों का मान बढ़ाया है। छत्तीसगढ़ के तीज-त्यौहार, कला-संस्कृति एवं परम्परा को उन्होंने संरक्षित एवं संवर्धित किया हैं। मनवा कुर्मी समाज के अनेक विभूतियों ने छत्तीसगढ़ महतारी की सेवा में अपने आप को समर्पित किया। डॉ. खूबचंद बघेल छत्तीसगढ़ महतारी के ऐसे सपूत है, जिन्होंने छत्तीसगढ़ और छत्तीसगढ़ियों की अस्मिता के लिए छत्तीसगढ़ राज्य के निर्माण का सपना देखा था। डॉ. खूबचंद बघेल के सपनों को पूरा करने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ में जुटे हैं। कार्यक्रम में भिलाई चरौदा नगर निगम सभापति विजय जैन, एल्डरमैन रानी वर्मा, दुर्ग जिला कुर्मी क्षत्रिय समाज अध्यक्ष अरुण वर्मा,रमाशंकर वर्मा सहित कुर्मी समाज के लोग बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

28-02-2021
धमतरी जिले में आज मिला 1 संक्रमित, 4 हुए स्वस्थ

धमतरी । जिले में आज 1 कोरोना संक्रमित मरीज की पहचान हुई है। आज मिले संक्रमितों में से धमतरी ग्रामीण से 0, कुरूद ब्लाक से 1 , नगरी से 0 , धमतरी शहर से 0 और मगरलोड से 0 संक्रमित मरीज मिले है। जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. डीके तुर्रे ने बताया कि रविवार को धमतरी जिले से 1 कोरोना पॉजिटिव मरीज की पहचान हुई है। जिले में अब तक कोरोना मृतकों की संख्या 132 हो चुकी है। जिले के कुरुद ब्लॉक से 1 संक्रमित मरीज की पहचान हुई है।जिले में अब तक मिले कुल संक्रमितों की संख्या 8291 हो चुकी है,जिसमें से एक्टिव केस की संख्या 62 है।धमतरी कोविड-19 अस्पताल में 1, कोविड-19 केयर सेंटर कुरूद में 0 और कोविड-19 केयर सेंटर नगरी में 0 मरीजों का उपचार किया जा रहा है। वही 4 लोगों को डिस्चार्ज किया गया है,कुल 8097 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है।

 

28-02-2021
सतनामी समाज के परिचय सम्मेलन में शामिल हुए मंत्री डॉ. डहरिया,सामूहिक विवाह को बढ़ावा देने की अपील

रायपुर। मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया गुरू घासीदास साहित्य एवं संस्कृति अकादमी की ओर से शहीद स्मारक भवन में आयोजित राष्ट्र स्तरीय सतनामी युवक-युवती परिचय सम्मेलन में शामिल हुए। मंत्री डॉ. डहरिया ने इस तरह के आयोजन की सराहना की। उन्होंने कहा कि समाज की ओर से युवक-युवती परिचय सम्मेलन का आयोजन कर सामाजिक एकता की न सिर्फ मिसाल दी जा रही है अपितु अनावश्यक आडंबर और घर जाकर वधु पसंद करने की प्रथा को भी दूर करने का सराहनीय प्रयास किया जा रहा है। इससे सामाजिक स्तर पर एकजुटता और पहचान बनने के साथ सामाजिक स्तर पर मजबूत रिश्तें भी बनते हैं। मंत्री डॉ.डहरिया ने  सामूहिक विवाह को बढ़ावा देने के साथ समाज को एकजुट हाकर रहने की अपील की। सम्मेलन में मंत्री अमरजीत भगत, विधायक सत्यनारायण शर्मा, महापौर एजाज ढ़ेबर भी शामिल हुए। सम्मेलन में 1021 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम स्थल पर राजश्री सद्भावना समिति की ओर से निशुल्क स्वास्थ्य शिविर लगाया गया। मंत्री डॉ डहरिया सहित 4000 से भी अधिक लोगों ने लाभ उठाया। सामाजिक पुस्तक का भी विमोचन किया गया। इस दौरान समिति के अध्यक्ष केपी खण्डे, संरक्षक शकुन डहरिया, डॉ. जेआर सोनी, डीएस पात्रे, सुंदरलाल जोगी, चेतन चंदेल आदि उपस्थित थे।

28-02-2021
युवाओं में वैज्ञानिक सोच का विकास देश को नई दिशा प्रदान करता है : उमेश पटेल

रायपुर। छत्तीसगढ़ रीजनल सांइस सेंटर एवं छत्तीसगढ़ विज्ञान व प्रौद्योगिकी परिषद की ओर से 28 फरवरी को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया। ऑनलाइन प्लेटफार्म पर राष्ट्रीय वेबीनार में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री उमेश पटेल शामिल हुए। वेबिनार में मंत्री पटेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरवा और बाड़ी को पूरे देश में मॉडल परियोजना के रूप में स्वीकार किया गया है। उन्होंने इस योजना में विज्ञान एवं तकनीक का उपयोग के लिए राज्य के वैज्ञानिकों विशेषकर युवा वैज्ञानिकों व विद्यार्थियों का ध्यान आकर्षित किया। उन्होंने कहा कि इन योजनाओं से रोजगार के नए अवसर उपलब्ध होंगे। आय का जरिया मिलेगा। मंत्री पटेल ने उपलब्ध तकनीकों का उपयोग मानव कल्याण के लिए करने प्रेरित किया। महानिदेशक मुदित कुमार सिंह ने राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के महत्व के बारे में बताया। अतिथि वक्ता डॉ. इरफाना बेगम ने कहा कि नवाचार पर जोर देते हुए मानव कल्याण के लिए किए जाने वाले शोध की प्रौद्योगिकी सस्ती होनी चाहिए। ताकि वो जन-जन तक पहुंच सके, जैसे कि, हमारे प्राचीन वैज्ञानिक थॉमस एल्वा एडिसन एवं डॉ. सी.वी रमन आदि करते रहे हैं। वर्तमान समय में भी हमें हमारे आस-पास उपलब्ध प्राकृतिक संसाधनों का उपयोग हो, ऐसी प्रौद्योगिकी पर शोध करना होगा।

28-02-2021
सीएसआईआर के महानिदेशक ने कहा, खत्म नहीं हुआ कोरोना संकट, खतरनाक हो सकती है तीसरी लहर

नई दिल्ली। वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) के महानिदेशक शेखर सी मांडे ने रविवार को आगाह किया कि कोविड-19 संकट अभी समाप्त नहीं हुआ है। अगर महामारी की तीसरी लहर आती है उसके गंभीर परिणाम होंगे। उन्होंने कहा कि मौजूदा स्थिति से बाहर निकलने के लिए संस्थानों में लगातार सहयोग के साथ ही जलवायु परिवर्तन और जीवाश्म ईंधन पर अति निर्भरता से पैदा होने वाली संकटपूर्ण स्थितियों को टालना भी आवश्यक है। ऐसी संकटपूर्ण स्थिति से पूरी मानवता के लिए खतरा पैदा हो सकता है।

मांडे यहां राजीव गांधी सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी (आरजीसीबी) द्वारा आयोजित एक डिजिटल कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस कार्यक्रम का विषय कोविड-19 और भारत की प्रतिक्रिया था। उन्होंने स्पष्ट किया कि भारत अभी सामुदायिक प्रतिरोधक क्षमता हासिल करने से दूर है और ऐसे में लोगों को वायरस के संक्रमण से बचने के लिए मास्क पहनना चाहिए। इसके अलावा लोगों को सामाजिक दूरी तथा हाथों की सफाई जैसे उपायों का भी पालन करते रहना चाहिए। उन्होंने वैज्ञानिक समुदाय को आगाह करते हुए कहा कि अगर महामारी की तीसरी लहर आती है तो वह उस चुनौती से कहीं अधिक खतरनाक स्थिति होगी,जिसका अब तक देश ने सामना किया है। आरजीसीबी के निदेशक चंद्रभास नारायण ने डिजिटल कार्यक्रम का संचालन किया। मांडे ने वैज्ञानिक समुदाय के सवालों का जवाब देते हुए उम्मीद जताई कि कोविड-19 टीके कोरोना वायरस के विभिन्न स्वरूपों के खिलाफ प्रभावी होंगे। 

 

28-02-2021
मौला अली स्ट्रीट के नाम से जाना जाएगा रायपुर का मार्ग, कार्यक्रम में शामिल हुए पूर्व क्रिकेटर सैय्यद किरमानी 

रायपुर। राजधानी के फव्वारा चौक से थॉमस चौक तक के मार्ग को मौला अली स्ट्रीट के नाम से जाना जाएगा। रविवार को मार्ग का नामकरण नगर निगम के तत्वावधान में किया गया। नामकरण कार्यक्रम में देश के पूर्व क्रिक्रेटर डॉ.सैय्यद एम.एच.किरमानी शामिल हुए। कार्यक्रम में महापौर एजाज ढेबर, सभापति प्रमोद दुबे, रायपुर शहर जिला कॉंग्रेस  अध्यक्ष गिरीश दुबे, केएसआईए जमात के अध्यक्ष जावेद अली प्रधान,रायपुर शहर जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष बाकर अब्बास, महाराष्ट्र राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष हैदर अली दोसानी, काउंसिल ऑफ आल खोजा शिया ईसना ईसरी जमात इंडिया फेडरेशन के सचिव अली अकबर श्राफ, हसन खान, नजफ अली,फराज प्रधान, फरहान अली प्रधान, जाफर अब्बास, मोहसीन अली सुहैल,सौलत हुसैन, मोहीब खान,फहिम खान,असीफ भाई,सकलेन कामदार, कियान अब्बास उपस्थित थे।

28-02-2021
1 से 31 मार्च तक बनेगा निशुल्क आयुष्मान कार्ड,पंजीकृत निजी और शास.अस्पताल में मिलेगी फ्री इलाज की सुविधा

जांजगीर चांपा। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना/डाॅ. खूबचंद स्वास्थ्य सहायता योजनांतर्गत अधिक से अधिक हितग्राहियों को लाभ देने के उद्वेश्य से केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार के द्वारा आपके द्वार आयुष्मान योजना का क्रियान्वयन 1 से 31 मार्च तक किया जा रहा है। शासन के निर्देशानुसार जिले के  च्वाइस सेंटरो में हितग्राहियों को निशुल्क आयुष्मान कार्ड उनकी पात्रता के आधार पर बनाकर दिया जावेगा। ज्ञात हो कि आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना/डाॅ.खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजनांतर्गत बीपीएल एवं प्राथमिकता वाले राशन कार्ड में प्रतिवर्ष 5 लाख रूपये एवं सामान्य राशन कार्डधारी परिवारों को 50 हजार रूपये तक कि मुफ्त चिकित्सा सुविधा राज्य के किसी भी पंजीकृत निजी एवं शासकीय चिकित्सालयों में प्रदान की जाती है। अधिक से अधिक हितग्राहियों को लाभ दिलाने के उदे्श्य से शासन के द्वारा आपके द्वार आयुष्मान अभियान का शुभारंभ किया गया है, जिसमें जिले के समस्त च्वाइस सेंटरों के द्वारा हितग्राहियों को निशुल्क आयुष्मान भारत का कार्ड बनाकर दिया जावेगा। कार्ड बनवाने के लिए हितग्राहियों को राशन कार्ड, आधार कार्ड,मोबाइल नंबर सहित च्वाइस सेंटरो मेंं जाना होगा। च्वाइस सेंटर के द्वारा हितग्राहियों को उनकी पात्रता के आधार  आयुष्मान कार्ड निःशुल्क बनाया जाएगा।

अभियान के दौरान् च्वाॅइस सेंटरों पर सर्वप्रथम हितग्राहियों को कागज में आयुष्मान कार्ड प्रदान किया जाएगा, कुछ दिनों उपरांत च्वाइस सेंटर के केंद्रीय कार्यालय से इन हितग्राहियों के प्लास्टिक कार्ड संबंधित च्वाइस सेंटर को प्रेषित किए जाएंगे। च्वाइस सेंटर द्वारा प्लास्टिक कार्ड प्राप्त होने की सूचना हितग्राहियों को दी जाएगी। हितग्राही च्वाइस सेंटर से ही पुनः बायोमेट्रिक अथेंटीकेसन उपरांत पीव्हीसी  आयुष्मान कार्ड प्राप्त कर सकेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने अपील करते हुए कहा है कि समस्त हितग्राही अभियान के अंतर्गत कार्ड बनवा लें।

 

28-02-2021
Breaking : छत्तीसगढ़ में 141 कोरोना मरीजों की पहचान, 130 मरीज स्वस्थ,2 की मौत

रायपुर। छत्तीसगढ़ में रविवार को 141 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पहचान हुई है। 130 मरीज स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किए गए हैं। 2 मरीजों की मौत हुई है। प्रदेश में आज सबसे अधिक रायपुर जिले से 59 मरीज मिले हैं। दुर्ग जिले में 26,बिलासपुर से 19 और रायगढ़ से 13 मरीज मिले हैं। 11 जिलों से एक भी मरीज नहीं मिले हैं। शेष में संख्या 1 से 5 के बीच है। प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या अब 2774 है। मेडिकल बुलेटिन देखने क्लिक करें- 

28-02-2021
भारतीय मछुआरों को पाकिस्तान ने किया गिरफ्तार, जब्त की तीन नाव  

इस्लामाबाद  पाकिस्तान ने 17 भारतीय मछुआरों को देश के जलक्षेत्र में कथित रूप से प्रवेश करने के लिए गिरफ्तार किया है और उनकी तीन नौकाओं को जब्त कर लिया है। पाकिस्तान समुद्री सुरक्षा एजेंसी (पीएमएसए) के एक प्रवक्ता ने बताया कि शुक्रवार को गिरफ्तार किए गए मछुआरों को शनिवार को न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया और पुलिस को सौंप दिया गया है। अधिकारी ने कहा कि भारतीय मछुआरों को चेतावनी दी गई थी कि वे पाकिस्तान के जलक्षेत्र में हैं और उन्हें दूर चले जाना चाहिए लेकिन उन्होंने चेतावनी नहीं सुनी।

प्रवक्ता ने कहा कि 17 मछुआरों को गिरफ्तार करने के लिए तेज गति वाली नौकाओं का इस्तेमाल किया गया, जो पाकिस्तान और भारत के बीच तटीय सीमा सर क्रीक के पास पाकिस्तान के जलक्षेत्र में 10-15 समुद्री मील अंदर थे। पाकिस्तान और भारत अक्सर एक दूसरे के मछुआरों को गिरफ्तार करते रहते हैं क्योंकि अरब सागर में समुद्री सीमा का कोई स्पष्ट सीमांकन नहीं है और मछुआरों के पास उनके सटीक स्थान को जानने के लिए तकनीक से लैस नौकाएं नहीं हैं। सुस्त नौकरशाही और लंबी विधिक प्रक्रियाओं के कारण, मछुआरे आमतौर पर कई महीनों तक जेलों में रहते हैं और कभी-कभी सालों तक भी रहना पड़ता है।

Please Wait... News Loading