GLIBS

झारखंड के भाजपा नेताओं को मिली पश्चिम बंगाल के सीमावर्ती विधानसभा सीटों में जीत दिलाने की जिम्मेदारी

राहुल चौबे  | 23 Feb , 2021 03:18 PM
झारखंड के भाजपा नेताओं को मिली पश्चिम बंगाल के सीमावर्ती विधानसभा सीटों में जीत दिलाने की जिम्मेदारी

रांची/रायपुर। झारखंड के पड़ोसी राज्य पश्चिम बंगाल में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज कराने भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है। इस चुनाव में भाजपा ने झारखंड के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों को झारखंड के सीमावर्ती क्षेत्रों की कमान सौंपी है। वहीं इन क्षेत्रों के गांवों में 10 हजार से अधिक कार्यकर्ताओं को भेजने की योजना बनाई है। भाजपा के नेता भी कहते हैं कि जैसे-जैसे चुनाव की आहट तेज हो रही है वैसे-वैसे झारखंड के नेता पश्चिम बंगाल का दौरा बढ़ा रहे हैं। भाजपा के पूर्व मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा जहां पश्चिम बंगाल का कई बार दौरा कर चुके हैं वहीं पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी का कार्यक्रम भी तय हो चुका है। बाबूलाल मरांडी पश्चिम बंगाल का दौरा भी कर चुके हैं। झारखंड के कई हिस्से पश्चिम बंगाल की सीमा से लगते हैं। झारखंड के रांची, जमशेदपुर और संथाल परगना के क्षेत्र पश्चिम बंगाल की सीमा से सटे हुए हैं। पश्चिम बंगाल के पुरूलिया, वीरभूम, मेदनीपुर, मालदा सहित कई इलाकों के विधानसभा क्षेत्रों की जिम्मेदारी झारखंड के नेताओं को दी गई है। माना जा रहा है कि झारखंड से लगे इन ​इलाकों में रहन-सहन, बोली काफी मिलती-जुलती है, जिसका लाभ भाजपा झारखंड के कार्यकर्ताओं के जरिए उठाना चाहती है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.