GLIBS

राज्यपाल ने तीन विधेयक पर किए हस्ताक्षर,छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जाति व अल्पसंख्यक आयोग (संसोधन) भी शामिल

रविशंकर शर्मा  | 01 Oct , 2020 09:25 PM
राज्यपाल ने तीन विधेयक पर किए हस्ताक्षर,छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जाति व अल्पसंख्यक आयोग (संसोधन) भी शामिल

रायपुर। राज्यपाल अनुसुईया उइके ने छत्तीसगढ़ सहकारी सोसायटी (संशोधन) विधेयक-2020 पर हस्ताक्षर किए। इसके अनुसार छत्तीसगढ़ सहकारी सोसायटी अधिनियम, 1960 (क्रमांक 17 सन 1961) की धारा-2, 6, 9, 10, 11, 12, 19, 19-क, 45, 48, 48-ग, 49, 54, 58, 58-ख, 77, 77-कक, 78 एवं 87 में संशोधन किया गया है। इसी तरह राज्यपाल अनुसुईया उइके ने छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जाति आयोग (संशोधन) विधेयक-2020 पर हस्ताक्षर किए। इसके अनुसार छ: अशासकीय सदस्य, जो अनुसूचित जातियों से संबंधित मामलों में विशेष ज्ञान रखते हों, जिनमें से एक अध्यक्ष (चेयरपर्सन) होगा और एक उपाध्यक्ष (वाइस चेयरपर्सन) होगा, जिन्हें राज्य सरकार की ओर से नियुक्त किया जाएगी, परंतु अध्यक्ष (चेयरपर्सन), उपाध्यक्ष (वाइस चेयरपर्सन) सहित कम से कम चार सदस्य अनुसूचित जातियों में से होंगे। यह मूल अधिनियम की धारा 3 का संशोधन है।
अध्यक्ष, उपाध्यक्ष प्रत्येक सदस्य, उस तारीख से, जिस पर वह अपना पद ग्रहण करता है, राज्य सरकार के प्रसाद पर्यंत पद धारण करेगा।

यह मूल अधिनियम की धारा 4 का संशोधन है। राज्यपाल अनुसईया उइके ने छत्तीसगढ़ राज्य अल्पसंख्यक आयोग (संशोधन) विधेयक-2020 पर हस्ताक्षर किए। इसके अनुसार आयोग एक अध्यक्ष (चेयरपर्सन), एक उपाध्यक्ष (वाइस चेयरपर्सन) और चार सदस्यों से मिलकर बनेगा, जिन्हें राज्य सरकार की ओर से विख्यात, योग्य और सत्यनिष्ठ व्यक्तियों में से नामनिर्दिष्ट किया जाएगा, परंतु अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और चार सदस्य, अल्संख्यक समुदायों में से होंगे। यह अधिनियम की धारा 3 का संशोधन है। अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और प्रत्येक सदस्य, उस तारीख से, जिस पर वह अपना पद ग्रहण करता है, राज्य सरकार के प्रसाद पर्यन्त पद धारण करेगा।

 

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.